थमती जा रही कुम्हार के चाक की ‘रफ्तार’

Mathura Updated Sat, 27 Oct 2012 12:00 PM IST
नंदगांव। हाईटेक युग में कुम्हार को रोटी के लाले पड़ गए हैं। हालात की गंभीरता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अब कुम्हार दीपावली में भी उम्मीद के अनुरूप आमदनी नहीं कर पा रहे हैं।
बदलते परिवेश और हाईटेक होती जनरेशन की सोच ने इस व्यवसाय पर संकट खड़ा कर दिया है। चाक से मिट्टी को मूर्त रूप देकर अपने परिवार का भरण पोषण करने वाले कुम्हारों की तरक्की की आस दम तोड़ती नजर आ रही है। सरकारी उदासीनता, शहरीकरण और प्लास्टिक के चलन ने उसकी हालत बद से बदतर कर दी है। यही कारण है कि कुम्हारों की नई पीढ़ी अपने परंपरागत व्यवसाय से हटकर मजदूरी और अन्य कामों की ओर उन्मुख हुई है।
लगभग डेढ़ दशक पूर्व तक मिट्टी से कुल्लहड़, सकोरा, चिलम, दीपक, करवा, सुराही, मटका एवं अन्य जरूरत के सामान बनाने वाले गोपाल कुम्हार (65) ने बताया कि पहले यह काम बारहों महीने चला करता था लेकिन जब से प्लास्टिक से बने बर्तन बाजार में आए हैं। तब से इस व्यवसाय पर ग्रहण लग गया है। अब तो यह काम केवल त्योहारों तक सिमट गया है। इस दौरान भी हमें सामान्य मजदूरी तक नहीं मिल पाती। कुंदन (35) ने बताया कि विषैले और पर्यावरण को प्रदूषित करने वाली प्लास्टिक ने मिट्टी के बर्तनों की उपयोगिता को कम कर दिया है। दीये का स्थान मोमबत्ती ने, मटके का स्थान प्लास्टिक के बर्तन, सकोरों का दोना, कुल्लहड़ का स्थान प्लास्टिक के गिलासों ने लिया है। अब मिट्टी के स्रोतों का भी अभाव है।

Spotlight

Most Read

Rohtak

जीएसटी विभाग ने ई-वे बिल को लेकर जांच किया अवेयरनेस कैंपेन

जीएसटी विभाग ने ई-वे बिल को लेकर जांच किया अवेयरनेस कैंपेन

19 जनवरी 2018

Related Videos

इस वजह से यूपी पुलिस के एक और दरोगा ने दिया इस्तीफा

यूपी पुलिस की कार्यशौली पर लगातार सवाल उठ रहे हैं। मथुरा के मांट में ट्रेनिंग कर रहे दरोगा ने एसएसपी को इस्तीफा दे दिया है। ट्रेनी दरोगा ने यूपी पुलिस में अमूल-चूल बदलाव का सुझाव भी दिया है।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper