लाड़ली मंदिर में हुए पालना झूलन के दर्शन

Mathura Updated Tue, 25 Sep 2012 12:00 PM IST
राधा जी झूल्हें पलना, नैंक हौलें झोटा दीयो...
मथुरा। कीरत ने लाली जाई, बरसाने बजत बधाई। श्रीकृष्ण राधा जू की जन्म की खुशी में बरसाना वासी दिनभर फूले नहीं समाए। समूचे नगर में एक ही चर्चा बनी रही कि कीरत जी ने लाली कूं जन्मयौ है। एक दूसरे का पूछत भए बरसाना के बाशिंदे बृषभान के महल कू धाय लिए और वहां लाली के दर्शन कर अपलक निहारत रहे। इस दौरान लाड़ली मंदिर में राधा जी को पालना झुलाया गया और श्रद्धालुओं को पालने झूलत राधा रानी प्यारी ने दर्शन दिए।
राधाष्टमी के अवसर पर रविवार को बरसाना के लाड़ली जी मंदिर में राधाजी का जन्मोपरांत राधाष्टमी पर्व धूमधाम से मनाया गया। इसमें समूचे नगर व ब्रज वासियों ने लाड़ली मंदिर जाकर बधाइयां दीं। सोमवार सुबह से ही मंदिर में लाड़िली जी को पालन झुलावन लीला हुई। इसमें श्री राधा जी को पालना झूलते हुए श्रद्धालुओं को दर्शन दिए।

मोर बन नाचे श्रीकृष्ण ..
मोरकुटी पर आयोजित की गई मयूर लीला में राधा के प्रति लुटाया प्यार अमर उजाला ब्यूरो
मथुरा। राधाष्टमी के बाद श्रीधाम बरसाना में हर कोई राधा जन्म की खुशी से पागल था। कीरत जी के लाली भई, जा के मारें सब के सब ब्रज वासी मोर की तरह नाचन लागे। ब्रजवासियों ने गहवरबन के पर्वत पर जाकर मोर कुटी पर मयूर लीला करी। बूढ़ी लीला महोत्सव में कृष्ण जी द्वारा राधा जी को मयूर नृत्य सिखाने को की गई मयूर लीला को देख श्रद्धालु नयन भर रोए। बरसाना के गहवरवन स्थित मोर कुटी पर सोमवार को परंपरागत रीति से बूढ़ी लीला महोत्सव का आयोजन किया गया। इसमें कृष्णकाल की राधा कृष्ण की रासलीलाओं का दौर चला। मयृर लीला हजारों श्रद्धालुओं के आकर्षण का केंद्र रही। राधा जी ने प्रियतम प्यारे श्याम सुंदर से मयूर नृत्य सिखाने का अनुरोध किया गया। भगवान कृष्ण ने राधा जी की इच्छा के अनुरूप मोर का रूप धारण किया और मयूर नृत्य सिखाने लगे। इस दौरान राधा जी की संखियाें के मुंह से बरबस फूटने लगा कि कान्हा प्यारो प्यारो मोर बन आयो। बृषभान नंदिनी श्रीराधे कृष्ण के मयूर नृत्य को देख का इतनी भावविभोर हो गईं की वे सुध बुध खो बैठीं। इस दौरान मयूर बने कृष्ण ने श्रद्धालुओं को फल मेवा प्रसाद में लुटाए। भागवान द्वारा लुटाए जा रहे प्रसाद को प्राप्त कर श्रद्धालु खुद को धन्य मान माथे लगाते रहे।

ढ़ाढ़िनियां मचल रही बाबा दे दो बधाई
मथुरा। श्रीराधारानी की जन्मस्थली बरसाना में राधा जन्म बधाई की धूम मची हुई रही। लाड़ली मंदिर में राधा जन्म की बधाई देने को शोभायात्रा कर एक दिन में दो-दो चाव निकाली गईं। लाड़लीजी मंदिर में ढांढी-ढाढिन लीला का आयोजन किया गया। इसमें ढाढिन ने बाबा वृषभानजी से बधाई (ईनाम) मांगी।
ब्रह्मगिरि पर्वत स्थित लाडलीजी मंदिर में ढाढिन के रूप में बाबा अनुराग सखी ने ढाढिन लीला का प्रदर्शन किया। उन्होंने जैसे संगीत की स्वर लहरियों के बीच ‘बरसाने जन्मी श्रीराधा, मैं तौ बधाई लेने जाउंगी बाबा दे दौ बधाई’ पद प्रस्तुत किया। पद सुन श्रोता आनंदित होकर तालियां बजाकर बधाई गायन में मदहोश हो गए।
ढाढी बने कलाकार ने ढाढिन को खूब समझाने का प्रयास किया। ’ढ़ाढ़िनियां मचल रही बाबा मैं तो बधाई लेने बरसाने जाउंगी’ पद पर अनुराग सखी ने अभिनय प्रस्तुत कर लोगों को अपलक निहारने को मजबूर कर दिया। लाडलीजी मंदिर का आंगन इस अद्भुत लीला को देखने के लिए देर रात तक खचाखच भरा रहा। मंदिर सेवायतों ने ढाढी और ढांढिन को भेंट दी। इससे पूर्व शाम को अनुराग सखी ने आश्रम से लाड़लीजी मंदिर तक चाव शोभायात्रा निकाली और लाड़ली मंदिर पहुंची। इस मौके पर उनकेअनुयाई बधाई गाते और सिरों पर बधाई सामग्री लेकर चल रहे थे।

Spotlight

Most Read

National

मौजूदा हवा सेहत के लिए सही है या नहीं, जान सकेंगे आप

दिल्ली के फिलहाल 50 ट्रैफिक सिग्नल पर वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) डिस्पले वाले एलईडी पैनल पर यह जानकारी प्रदर्शित किए जाने की कवायद हो रही है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

मथुरा में पुलिस की गोली लगने से हुई थी नाबालिग की मौत, पुलिस ने कुबूला

मथुरा के मोहनपुर अडूकी गांव में हुई बच्चे की मौत में पुलिस ने लापरवाही की बात मानी है। मथुरा पुलिस के आला अधिकारियों ने माना की दबिश के दौरान फायरिंग में बच्चे की मौत पुलिस की गोली लगने से हुई।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper