ब्रज में शिव हैं पालक और विष्णु संहारक

Mathura Updated Mon, 09 Jul 2012 12:00 PM IST
मथुरा। सावन केे महीने में भगवान शिव की आराधना से हर मनोकामना पूरी होती है। प्रात: जलाभिषेक, विधि-विधान से पूजा अर्चना, व्रत रखने से जीवन में आने वाली हर समस्या हल हो जाती है। इस अटूट विश्वास और आस्था के साथ ही सावन के पहले सोमवार को शिवालयों में बम-बम भोले की गूंज रहेगी।

केदारनाथ केे उपलिंग है भूतेश्वर नाथ महादेव
मथुरा (ब्यूरो)। मथुरा परिक्रमा मार्ग स्थित भूतेश्वर नाथ महादेव को केदारनाथ का उपलिंग माना जाता है। इनकी सेवा, पूजा करने से उतना ही पुण्य अर्जित होता है, जितना भगवान केदारनाथ की सेवा से मिलता है। बताया जाता है यहां वासुदेव और देवकी ने भी पूजा की थी। किवदंती है मथुरा का प्राचीन नाम मधुपुरी था। यहां के राजा मधु के भाई केवट का भगवान विष्णु ने छल से संहार किया था। इसी के चलते पालनहार भगवान विष्णु ब्रज में संहारकर्ता और शिवजी पालन हार के रूप में विराजमान है। इस प्राचीन मंदिर में शिव परिवार के अलावा गिर्राज शिला व पाताल देवी की मूर्ति स्थापित है।

कृष्णकाल की कथा से जुड़े रंगेश्वर नाथ महादेव
मथुरा (ब्यूरो)। मथुरा-आगरा रोड स्थित प्राचीन रंगेश्वर नाथ महादेव मंदिरा मथुरा परिक्रमा मार्ग में स्थित है। कहा जाता है भगवान श्रीकृष्ण ने कंस वध किया तो इस दौरान कई देवता में ब्रज में आए थे। रंगभूमि पर कंस वध के बाद कृष्ण और बलराम में कंस को मारने को लेकर विवाद हो गया। तभी भगवान आशुतोष ये कहते हुए प्रकट हुए ‘रंग है श्रीकृष्ण तेरे रंग है’। उन्होंने दोनों के विवाद को यह कहकर निपटाया कि कंस को श्रीकृष्ण ने छल से और बलदेव ने बल से मारा है। इसके बाद वे यहीं स्थापित हो गए। मंदिर प्रांगण में नंदी, शिव परिवार के अलावा राम, लक्ष्मण सीता, शनिदेव, भगवान विष्णु, गिर्राज शिला, काली स्वरूप देवी मां और वीर बजरंगी विराजमान है।

गाय के कान से जन्मे थे गोकर्णनाथ महादेव
मथुरा (ब्यूरो)। मथुरा परिक्रमा मार्ग में आकाशवाणी के पीछे यमुना किनारे स्थित प्राचीन गोकर्णनाथ महादेव मंदिर में काले पत्थर की बनी प्रतिमा शोभायमान है। कहा जाता है गाय केे कर्ण से जन्मे गोकर्णनाथ के भाई धुंधकारी को प्रेतयोनि से मुक्ति दिलाने के लिये गोकर्ण ने प्रभु की आराधना की। इस पर श्रीमद्भागवत कथा श्रवण से मुक्ति का रास्ता बताया। धुंधकारी ने सात गांठ वाले बांस पर बैठकर कथा सुनी। इस पर प्रतिदिन बांस की एक गांठ चटकने लगी। सातवें दिन अंतिम गंाठ चटकने के साथ ही धुंधकारी को प्रेत योनि से मुक्ति मिल गयी। इस पर गोकर्ण यहीं तपस्या में लीन हो गए।

ऋषियों ने किया था गर्तेश्वरनाथ महादेव का अभिषेक
मथुरा (ब्यूरो)। गोविंद नगर स्थित गर्तेश्वर नाथ महादेव मंदिर में शिवजी आदि शक्ति के साथ विराजमान है। ये संयोग ब्रज में और किसी मंदिर को प्राप्त नहीं है। बताया जाता है कि यहां पुराने समय में ऋषियों ने शिवजी का अभिषेक किया था। बीते डेढ़ दशक में कई बार मंदिर प्रांगण का जीर्णोद्धार कराया जा चुका है। प्रांगण में मां भगवती, वीर हनुमान के अलावा मंदिर के बराबर ही शिवलिंग और शिवजी का परिवार विराजमान है।
यहां प्रात: से घंटे घड़ियाल की आवाज और आराधना के स्वरों से लोगों की प्रात: होती है। चंद समय में ही गर्तेश्वर नाथ महादेव जी की महिमा इस कदर बढ़ी है कि हर कोई चकाचौंध है। मंदिर में प्रात: जलाभिषेक और सायं आरती पर नियमित श्रद्धालुओं की अच्छी खासी संख्या रहती है।

ताकि व्रत से
अर्जित हो पुण्य
- व्रत से एक दिन पूर्व भी एक समय ही आहार लेना चाहिए।
- प्रात: शिवजी का जलाभिषेक, बेलपत्र, धतूरा आदि से पूजा करें।
- व्रत वाले दिन नाखून, बाल नहीं काटने चाहिए।
- शिवालय में 11 दीपक जलाने से हजारों वर्ष शिवनगरी में रहने का वरदान मिलता है।

सौभाग्य वर्धिनी है मां मंगला गौरी
मथुरा (ब्यूरो)। सावन के महीने में शिव के पूजन की महिमा केे साथ ही मंगलवार को मां मंगला गौरी का व्रत पूजन भी फलदाई है। सौभाग्य वृद्धि एवं परिवार की समृद्धि के लिए विवाहित महिलाएं यह व्रत व पूजन करती हैं। यह व्रत चार साल तक श्रावण केे मंगल को ही किया जाता है। पांचवें वर्ष में इसके उद्यापन का विधान है। अर्थात 16 व्रत पूर्ण होने पर उद्यापन किया जाता है। 16 सामग्री रोली, चावल, कुमकुम, मेंहदी, चूड़ी श्रंगार सामग्र्री, पान, सुपारी, इलायची, लोंग, पुष्पहार, बेल पत्र, ऋतु फल, कमल गट्टा आदि से 16 बार गौरी पूजन से विशेष पुण्य की प्राप्ति होती है।

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

17 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी पुलिस पर आठ साल के बच्चे की हत्या का आरोप

मथुरा में पुलिस और बदमाशों की मुठभेड़ में एक आठ साल के बच्चे की गोली लगने से मौत हो गई। खबर लगते ही पुलिस बच्चे को अस्पताल लेकर भागी लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। वहीं गांववालों का आरोप है कि पुलिस की गोली से मृतक माधव की जान गई है।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper