भोगांव में रहें जागीर ब्लाक की न्याय पंचायतें

Mainpuri Updated Sun, 07 Oct 2012 12:00 PM IST
मैनपुरी। विकास खंड जागीर क्षेत्र के ग्राम प्रधानों ने शनिवार को जिलाधिकारी से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि उनके गांवों को किशनी तहसील में शामिल न किया जाए। भौगोलिक दृष्टि से उन्हें तहसील भोगांव में ही रखा जाए। प्रधानों ने मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन डीएम को सौंपा।
ग्राम प्रधानों ने ज्ञापन में कहा कि जनपद में नवसृजित तहसील किशनी में भोगांव के निकटवर्ती ग्रामों को शामिल न किया जाए। विकास खंड जागीर क्षेत्र की न्याय पंचायत एलाऊ, मंछना और आंशिक रतनपुर बरा को पूर्ववत तहसील भोगांव में ही रखा जाए। ज्ञापन में कहा गया कि मिली जानकारी के अनुसार नवसृजित तहसील में ब्लाक जागीर की सभी पांच न्याय पंचायतों को शामिल किया जा रहा है। यह क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति के अनुसार न्यायोचित नहीं है।
जागीर ब्लाक के कई गांवों की भोगांव से दूरी तीन किमी है। अन्य न्याय पंचायतें भी 10-15 किमी से अधिक दूरी पर नहीं हैं। जबकि किशनी से दूरी 35-40 किमी है। पिछली सपा सरकार में भी शासन को किशनी तहसील के लिए प्रस्ताव भेजा गया था। उस समय प्रस्तावित तहसील में यह तीन न्याय पंचायतें शामिल नहीं थीं। किशनी मुख्यालय से करहल विकास खंड की नजदीकी ग्राम पंचायतें शामिल हो रही थीं। अत: इन तीन न्याय पंचायतों को तहसील किशनी में शामिल न किया जाए। ज्ञापन देने वालों में सुबोध कुमार, विशंभर दयाल तिवारी, गोविंद यादव, संजय यादव, विक्रम सिंह, आशाराम, जयवीर सिंह, संजय यादव, विश्वनाथ आदि शामिल थे।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

फिर छलका शिवपाल सिंह यादव का दर्द और अब ये कहा

यूपी के मैनपुरी में मीडिया से बात करते हुए समाजवादी पार्टी के विधायक शिवपाल सिंह यादव का दर्द एक बार फिर जुबां पर छलका। साथ ही एसपी विधायक शिवपाल सिंह यादव ने नई पार्टी बनाने पर क्या कहा सुनिए।

16 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls