विज्ञापन
विज्ञापन

मलेरिया पीएफ से पीड़ित चार रोगी मिले

Mainpuri Updated Sat, 15 Sep 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
मैनपुरी। वायरल के बाद अब मलेरिया भी फैलने लगा है। जिला अस्पताल में चार रोगियों में खतरनाक श्रेणी के मलेरिया प्लाजमोडियम फैल्सीफेरम के धनात्मक लक्षण मिले हैं। एक तरफ लगातार मलेरिया का प्रकोप बढ़ रहा है, दूसरी ओर उसकी रोकथाम के कारगर प्रयास नहीं हो रहे हैं। जिले के 30 नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के साथ ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भोगांव, औंछा पर तो मलेरिया आदि जांच की सुविधा भी उपलब्ध नहीं है।
विज्ञापन
विज्ञापन
प्लाज्मोडियम वाइवेक्स और प्लाजमोडियम फैल्सीफेरम दोनों से पीड़ित रोगी ही जिले में हैं। इस वर्ष अब तक अकेले जिला अस्पताल के पैथोलॉजी में 277 रोगियों में मलेरिया के पॉजिटिव लक्षण मिले हैं। पांच अन्य रोगी मलेरिया पीएफ से पीड़ित हैं। सितंबर माह में चार रोगी पीएफ के निकलने के बाद भी विभाग ने कोई सार्थक कदम नहीं उठाए हैं। गौरतलब है कि जिले में पूर्व के वर्षों में मलेरिया से दर्जनों लोगों की मौत हो चुकी है। इसके बावजूद रोकथाम के कोई प्रयास नहीं किए जाते हैं। अधिकांश ग्रामों में कीटनाशक दवा का छिड़काव नहीं कराया गया है।

मलेरिया को नहीं बनने देंगे जानलेवा
सीएमओ डा. वीके गुप्ता ने बताया कि मलेरिया को जानलेवा नहीं बनने दिया जाएगा। कुछ ग्राम सभाओं में डीडीटी का छिड़काव कराया गया है। संबंधित एमएस और एमओआईसी को रोग फैलने पर तत्काल पहुंचकर उपचार दिए जाने के निर्देश दिए गए हैं।

प्राइवेट पैथोलॉजी में कराते हैं जांच
जिला अस्पताल के विशेषज्ञ चिकित्सकों का कहना है कि ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सक रोगियों को क्लोरोक्वीन की दवा दे देते हैं, जिससे स्लाइड टेस्ट में मलेरिया धनात्मक नहीं आता, जबकि कार्ड टेस्ट में मलेरिया धनात्मक आ जाता है। सूत्रों की मानें तो इस बार फैल्सीफेरम में रिंग स्टेन डबल रिंग, डबल क्रोमोटोम पाया जा रहा है। यह वायरस दिमागी बुखार को बढ़ाता है, जबकि जिला अस्पताल में केवल स्लाइड टेस्ट की सुविधा है। इससे रोगी प्राइवेट में जांच कराते हैं।

मलेरिया पीएफ के लक्षण
1. तेज ज्वर, व्यवहार में परिवर्तन, (ऐंठन के दौरे)
2. चेतना शून्यता, चलने, बैठने या बोलने, लोगों की पहचान करने में असमर्थता
3. बार-बार उल्टी करना, दवा खाने, खाना खाने या पानी पीने में असमर्थता
4. मूत्र का कम आना या नहीं आना या फिर काला मूत्र आना
5. वजन में अचानक कमी, ढीली त्वचा, आंखों का धसना, रक्त अल्पता
6. नाक, मसूड़ों तथा अन्य स्थानों से अकारण अत्यधिक रक्त श्राव होना

मच्छर जनित रोगों ने पसारे पैर
बेवर। मौसम के तेवर बदलने के साथ ही लोग वायरल फीवर, टाइफाइड, मलेरिया, खांसी, जुकाम आदि रोगों का प्रकोप फैल रहा है। नगर पंचायत कार्यालय में दो फागिंग मशीन हैं तथा केमिकल रखा है, लेकिन फागिंग नहीं कराई जा रही है। इटावा रोड, बाईपास स्थित नई बस्ती, काजी टोला, धनकरी, ब्रह्मनान पूर्वी, मुहल्ला कोट, मोटा रोड आदि स्थानों पर जलभराव है। लोगों ने नगर पंचायत अध्यक्ष सरितकांत भाटिया को ज्ञापन देकर फागिंग कराए जाने की मांग की है।

Recommended

शनि जयंती (03 जून 2019, सोमवार) के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्
Astrology

शनि जयंती (03 जून 2019, सोमवार) के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्

कैसे होगा करियर, कैसा चलेगा व्यापार, किसे मिलेगी तरक्की और किसे मिलेगा प्यार ! जानिए विश्वप्रसिद्व ज्योतिषाचार्यो से
Astrology

कैसे होगा करियर, कैसा चलेगा व्यापार, किसे मिलेगी तरक्की और किसे मिलेगा प्यार ! जानिए विश्वप्रसिद्व ज्योतिषाचार्यो से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha chunav 2019) के नतीजों में किसने मारी बाजी? फिर एक बार मोदी सरकार या कांग्रेस की चुनावी नैया हुई पार? सपा-बसपा ने किया यूपी में सूपड़ा साफ या भाजपा का दम रहा बरकरार? सिर्फ नतीजे नहीं, नतीजों के पीछे की पूरी तस्वीर, वजह और विश्लेषण। 23 मई को सबसे सटीक नतीजों  (lok sabha chunav result 2019) के लिए आपको आना है सिर्फ एक जगह- amarujala.com  Hindi news वेबसाइट पर.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Agra

महिला पीआरडी कर्मी से थाने में लगवाया जाता है झाड़ू-पोंछा, वीडियो वायरल

मैनपुरी के महिला थाने में सफाई करते महिला पीआरडी कर्मी का वीडियो वायरल हुआ है। इसमें महिला पीआरडी कर्मी थाने में साफ-सफाई करते हुए नजर आ रही हैं।

25 मई 2019

विज्ञापन

संसदीय दल की बैठक में पीएम मोदी का संबोधन, लोकसभा चुनाव को बताया समाज को एक करने का जरिया

कैबिनेट गठन के लिए एनडीए की बैठक में पीएम मोदी का संबोधन। मोदी ने सहयोगी दलों से एकता से कार्य करने की अपील की।

25 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree