12 गांवों की फसलें डूबने से भड़का जनाक्रोश

Mainpuri Updated Thu, 02 Aug 2012 12:00 PM IST
किशनी। बरेली-ग्वालियर राजमार्ग पर बनाए गए नए पुल से पानी की निकासी बंद किए जाने से दस किमी क्षेत्र में बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं। 12 से अधिक गांवों में जलभराव होने पर लाखों रुपये की फसलें डूबकर बर्बाद होने से बुधवार को लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। सैकड़ों ग्रामीणों ने बरेली-ग्वालियर राजमार्ग के बाईपास पर रास्ता जाम करके विरोध प्रदर्शन किया। एसडीएम के आश्वासन पर आधे घंटे बाद जाम खोलने के साथ ही देर सायं तक पानी की निकासी शुरू नहीं होने पर रात में पुन: जाम लगाने की चेतावनी दी।
बरेली-ग्वालियर राजमार्ग पर नगर पंचायत के ग्राम नगला सुखे के समीप सैकड़ों लोगों ने बुधवार की सुबह आठ बजे रास्ता जाम करके विरोध प्रदर्शन किया। लोगों का कहना था कि नगला सुखे के समीप हाइवे पर मई में बाईपास बनाया गया था। इसके बाद पुरानी पुलिया तोड़ कर पुल बनाया गया। एक माह पूर्व पुल का निर्माण कार्य शुरू हो गया, लेकिन पुल के नीचे से बरसात और माइनर के पानी की निकासी शुरू नहीं की गई है। पिछले दिनों बरसात होने से खेतों में जलभराव हो गया है। माइनर में पानी बढ़ने से गांव में भी पानी घुस गया है। दस किमी क्षेत्र के एक दर्जन से अधिक गांवों के खेतों में एक-एक फुट पानी भर गया है। इससे फसलें बर्बाद हो गई है। ग्रामीणों का आरोप है कि बाईपास और पुल निर्माण ठेकेदार नरसिंह तोमर से कई बार कहने के बावजूद उन्होंने पुल पर आवागमन और पानी की निकासी शुरू नहीं की है।
प्रदर्शनकारियों ने आधे घंटे से अधिक रास्ता जाम करके विरोध प्रदर्शन किया। इससे सड़क के दोनों आर वाहनों की लंबी लाइनें लग गईं। जाम खुलवाने के पुलिस के प्रयास भी विफल हो गए। उसके बाद भोगांव के एसडीएम वीके अग्रवाल ने रक्षाबंधन का हवाला देते हुए देरशाम तक पुल के नीचे पानी की निकासी शुरू करने का आश्वासन दिया। इस पर गांव वालों ने जाम समाप्त कर दिया। उन्होंने चेतावनी दी कि देरशाम तक पानी की निकासी शुरू नहीं हुई तो बाईपास पर जाम लगाने के साथ ही पानी बाईपास की ओर मोड़ देंगे। प्रदर्शन करने वालों में नगर पंचायत सदस्य योगेश पालीवाल, रामसिंह, वेदराम, कामता पाल, जगदीश सिंह आदि थे।
- इनसेट -
जलभराव से प्रभावित गांव
पुल के नीचे से पानी की निकासी बंद होने से क्षेत्र के ग्राम कृपालपुर, सायपुर, नगला सुखे, चंदनपुर, बटपरू, चमनपुर, हरनागरपुर, सुंदरपुर, महिगवां, खिरिया, नगला सुमेर, बेरियाहार सहित एक दर्जन गांव हैं। इनमें पानी की निकासी नहीं होने से बरसात और माइनर का पानी घुस गया है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

फिर छलका शिवपाल सिंह यादव का दर्द और अब ये कहा

यूपी के मैनपुरी में मीडिया से बात करते हुए समाजवादी पार्टी के विधायक शिवपाल सिंह यादव का दर्द एक बार फिर जुबां पर छलका। साथ ही एसपी विधायक शिवपाल सिंह यादव ने नई पार्टी बनाने पर क्या कहा सुनिए।

16 जनवरी 2018