विज्ञापन

सीएए पर आपत्तिजनक पोस्ट डालने में पूर्व डीआईजी समेत दो पर केस

Kanpur	 Bureauकानपुर ब्यूरो Updated Fri, 20 Dec 2019 10:27 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
महोबा। केंद्र सरकार द्वारा नागरिकता संशोधन अधिनियम पास किए जाने के बाद देशभर में मचे हो-हल्ला और बवाल के बाद शुक्रवार को सीएए पर मुस्लिम समाज को भड़काने संबंधी पोस्ट व्हाट्सएप ग्रुप में डाले जाने पर पूर्व डीआईजी समेत दो लोगों के खिलाफ कोतवाली महोबा में मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
विज्ञापन

न्यूज ग्रुप के नाम से व्हाट्सएप में चल रहे ग्रुप में पूर्व डीआईजी वजीह अहमद के मोबाइल से नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर की गई आपत्तिजनक पोस्ट को पुलिस ने ग्रुप से हटवा दिया और इसे गंभीरता से लेते हुए पूर्व डीआईजी वजीह अहमद व महोबा निवासी ग्रुप एडमिन जावेद अहमद के खिलाफ मुस्लिम समाज के लोगों को भ्रमित कर उन्हें भड़काने के प्रयास में धारा 195 ए और 67 आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। मुकदमा कोतवाली में तैनात एसआई राजबहादुर ने दर्ज कराया है।
पुलिस अधीक्षक मणिलाल पाटीदार का कहना है कि कानून से बड़ा कोई नहीं है। लॉ एंड आर्डर कायम रखने के लिए चाहे जितनी ही पहुंच वाला क्यों न हो, उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। जिस मोबाइल नंबर से पोस्ट डाली गई है, उसकी जांच कराई जा रही है। पूर्व डीआईजी वजीह अहमद का कहना है कि दफा 195ए लगाई गई है। यह धारा किसी को डरा धमकाकर किसी के खिलाफ झूठी गवाही दिलाना होता है जबकि मैंने किसी को धमकाया नहीं है। किसी ग्रुप से यह पोस्ट मेरे मोबाइल में आई थी, जिसे नाबालिग बच्चे ने खेलते-खेलते धोखे से फारवर्ड कर दी। मैंने कोई पोस्ट नहीं डाली है।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us