विज्ञापन

‘कण-कण में विद्यमान परमात्मा’

Mahoba Updated Mon, 20 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
निरंकारी समागम पर मनाया गया मुक्ति पर्व दिवस
विज्ञापन
विज्ञापन
महोबा। परमात्मा एक है। अनंत है, साकार है, हर कण कण में विद्यमान है। हर आम आदमी की समस्या और परेशानी से वाकिफ है। हमें सारे काम छोड़कर कुछ समय परमात्मा के प्रति समर्पित करना चाहिए। रविवार को एक गेस्ट हाउस में निरंकारी सत्संग समागम पर मुक्ति पर्व के रूप में आयोजित सत्संग में निरंकारी संत योगेश गौड़ ने प्रवचन किया।
उन्हाेंने कहा कि परमात्मा अजर-अमर और साकार है। कण कण में विद्यमान परमात्मा के लिए हर मनुष्य को कुछ क्षण निकालकर परमात्मा के प्रति ध्यान लगाना चाहिए। तभी हम और हमारा समाज संतुष्ट और सुखमय जीवन व्यतीत कर सकता है। परमात्मा के लिए सुबह कुछ समय निकालकर एकाग्रचित होकर ध्यान करने से ही सारी बाधाएं खत्म हो जाती हैं। निर्गुण भक्ति का उपदेश देते हुए महात्मा गौड़ ने ईश्वर के कई रूपाें का बखान किया और कहा कि हर रूप में हमें ईश्वर हर जगह मिलता है। बस ईश्वर को देखने वाली पारखी नजर हमारे पास होना चाहिए। तभी हम आगे प्रगति के मार्ग पर बढ़ सकते हैं। इस मौके पर रामबाबू, एसके कश्यप, गोरेलाल, हेमरात, रामसेवक, जीवनलाल राजपूत सहित सैकड़ों संत निरंकारी मंडल के मौजूद रहे साथ ही महिलाओं ने भी अपनी भागीदारी निभाई।

घटना की वास्तविक तस्वीर उजागर करने को गठित की टीम
टीम ने तालाब में पानी की गहराई नापी
dlअमर उजाला ब्यूरो
महोबा। दो दिन पहले कल्याण सागर सरोवर में मिले एक ही परिवार के मासूम बच्चाें के शव के बाद परिजन अभी भी उनकी हत्या ही मान रहे हैं। जबकि तीन डाक्टराें के पैनल द्वारा किए गए पीएम रिपोर्ट में बच्चाें की मृत्यु डूबने से पाई गई है। घटना की वास्तवित तसवीर उजागर करने के लिए पुलिस अधीक्षक ने एडिशनल एसपी की अध्यक्षता में एक चार सदस्यीय टीम गठित कर दी है।
रविवार को टीम ने मृतक के परिजनाें और ग्रामीणाें के साथ कल्याण सागर जाकर घटनास्थल के पानी की गहराई का मापन किया। छानीकला गांव के ही धीरेंद्र सिंह को कल्याण सागर तालाब में उसी स्थान पर भेजा गया। जहां पर बच्चाें के शव पाए गए थे। अपर पुलिस अधीक्षक अजय मिश्रा के मुताबिक उस स्थान पर करीब छह फुट गहराई पाई गई। जबकि धीरेंद्र उस स्थान पर साढ़े चार फुट ही गहराई बता रहा है। धीरेंद्र का कहना है कि थोड़ा सा आगे छह फुट गहराई थी।
आज जांच टीम ने भी आसपास के लोगाें के बयान दर्ज किए। कल्याण सागर के पास काम करने वाले एक श्रमिक रतनलाल वर्मा ने बताया कि 15 अगस्त को वह शाम तक मजार के आसपास काम करता रहा। लेकिन उसे बच्चे आते जाते नहीं दिखाई दिए। मृतक बच्चाें के पिता संजय सिंह का कहना है वह पोस्टमार्टम रिपोर्ट से संतुष्ट नहीं है। वह इसे आज भी पानी से डूबने की घटना न मानकर बच्चाें को मारकर तालाब में फेंकने की बात कर रहे हैं।
न्याय न मिला तो करेंगे अनशन
महोबा। एक ही परिवार के तीन बच्चाें की मौत से मृतक के पिता संजय सिंह खासे आहत हैं। उनका कहना है कि वह अपने दोनाें बच्चाें की मौत का गम नहीं भूल पा रहे हैं। वहीं भतीजे की मौत ने उन्हें और झझकोर दिया है।
बताया कि वह पुलिस के आला अफसराें को फैक्स कर न्याय की गुहार लगाएंगे। इसके बाद भी न्याय नहीं मिला तो वह कचेहरी परिसर में अनशन पर बैठने को मजबूर होंगे।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

डीआईजी ने थाना कबरई व पुलिस लाइन का किया निरीक्षण

चित्रकूट धाम परिक्षेत्र बांदा के पुलिस उपमहानिरीक्षक मनोज तिवारी ने शुक्रवार को पुलिस लाइन का वार्षिक निरीक्षण किया। परेड के दौरान सभी थानों के प्रभारियों व एसआई से शस्त्रों को खोलने, बंद करने व दंगा निरोधक उपकरणों को चलवाकर देखा गया

14 दिसंबर 2018

विज्ञापन

दिव्यांग राजू की राजनीतिक दलों को खुली चुनौती

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के तकवा गांव में एक दिव्यांग राजू रहते हैं। राजू पॉलिटिकल पार्टीज से काफी नाराज हैं क्योंकि कोई भी पार्टी दिव्यांगों के लिए कुछ नहीं करती और इसीलिए राजू इन पॉलिटिकल पार्टीज को चुनौती देने के मूड में हैं।

15 दिसंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree