बच्चाें की मौत के सदमे से ग्रामीण ने शहर छोड़ा

Mahoba Updated Sun, 19 Aug 2012 12:00 PM IST
महोबा। बच्चाें को बहुत कुछ बनाने की हसरत लेकर गांव से महोबा आए संजय सिंह को दर्दनाक घटना से खासी चोट पहुंची है। दो बच्चाें की मौत से वह बुरी तरह टूट गया है और अब महोबा छोड़कर पुन: गांव चला गया है। बच्चाें का डाक्टर और इंजीनियर बनने का सपना पूरा करने के लिए वह शहर आ गया था।
थाना कबरई के ग्राम छानी कला निवासी संजय सिंह अपने दोनाें बच्चाें और भतीजे की मौत से खासा आहत है। वह इस सदमे को बर्दाश्त नहीं कर सका और अब उसने शहर ही छोड़ दिया। शनिवार को विधायक और तमाम नेता सांत्वना देने उसके घर पहुंचे, लेकिन वह पहले ही महोबा से अपने गांव जा चुका था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भले ही बच्चाें की मौत डूबने से होने की पुष्टि हुई हो, लेकिन मृतक के परिजन अभी भी पीएम रिपोर्ट से संतुष्ट नहीं हैं। दो साल पहले गांव छोड़कर शहर के गांधी नगर महोबा में आकर बच्चाें के साथ बस गए संजय सिंह बच्चाें के इंग्लिश मीडियम स्कूल में प्रवेश कराने के बाद खासा खुश था। सब कुछ ठीकठाक चल रहा था लेकिन 15 अगस्त से बच्चाें का गायब होना और 17 अगस्त को तीनाें बच्चाें के शव कल्याण सागर में तैरते मिलने से माता-पिता पर दु:खाें का पहाड़ टूट पड़ा। ग्राम छानी कला में भी तीन बच्चाें की मौत के बाद माहौल गमगीन बना हुआ है। सांत्वना देने वाले भी पहुंच रहे हैं लेकिन बच्चाें की मौत का गम माता-पिता के दिल से नहीं निकल पा रहा है। वह पल-पल में बच्चाें को याद करके बिलख रहे हैं।

इनसेट -------------------
सांसद ने की निष्पक्ष जांच की मांग
महोबा। हमीरपुर-महोबा के सांसद विजय बहादुर सिंह शनिवार को एक ही परिवार के तीन बच्चाें की मौत की खबर सुनते ही सांत्वना देने उनके घर पहुंचे लेकिन घटना से आहत मृतक के परिजनाें के गांव चले जाने के कारण किसी से मुलाकात नहीं हो सकी। सांसद ने पुलिस अधीक्षक से बात कर घटना की निष्पक्ष जांच कराकर स्थिति स्पष्ट करने को कहा।

इनसेट -------------------
बसपा सांसद की सीबीसीआईडी से जांच कराने की मांग
महोबा। बसपा के राज्य सभा सांसद गंगाचरण राजपूत ने तीन बच्चाें की मौत पर गहरा दु:ख प्रकट करते हुए प्रदेश सरकार से मृतक के परिजनाें को पांच-पांच लाख रुपए का मुआवजा दिए जाने और घटना की जांच एक माह में सीबीसीआईडी से कराए जाने की मांग की। सांसद श्री राजपूत ने कहा कि बुंदेलखंड में अपराध चरम सीमा पर हैं। असामाजिक तत्वाें द्वारा आए दिन घटनाएं की जा रही हैं। प्रदेश सरकार अपराधाें पर अंकुश लगाने में नाकाम साबित हो रही है। उन्हाेंने चेतावनी दी कि आपराधिक घटनाएं यदि नहीं रुकीं तो बुंदेलखंड के लोग आंदोलन के लिए विवश हो जाएंगे।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Bihar

तेजस्वी का नीतीश सरकार पर हमला, कहा- मेरे खाने में मिलाया जा रहा है जहर

बिहार में नीतीश बनाम लालू परिवार की सियासी जंग जारी है।

23 फरवरी 2018

Related Videos

मोदी कैबिनेट की इस मंत्री की फिसली जुबान

योगी की मंत्री साध्वी निरंजन ज्योती की मीडिया से बात करते हुए जुबान फिसल गई। सूबे की केंद्रीय मंत्री ने महोबा में आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर जुबान फिसल गई। सुनिए, केंद्रीय मंत्री क्या बोल गईं।

28 जनवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen