विज्ञापन
विज्ञापन

उत्तर भारत के ऐतिहासिक कजली मेले में उमड़ा जनसैलाब

Mahoba Updated Sat, 04 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
महोबा। 12वीं शताब्दी के गौरवशाली चंदेल साम्राज्य की स्मृतियाें को संजोए उत्तर भारत का सुविख्यात ऐतिहासिक कजली मेले की शुरुआत जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने फीता काटकर की। हवेली दरवाजा मैदान से निकाली गई शोभायात्रा में भारी जनसमूह उमड़ पड़ा।
विज्ञापन
विज्ञापन
उत्तर भारत के ऐतिहासिक कजली मेले की शुरुआत शहीद मेला स्थल से आल्हा-ऊदल की शोभायात्रा निकालकर की गई। शहीद मेला स्थल पर सुबह से ही स्कूली बच्चाें द्वारा सजाई गई राधा-कृष्ण, मां दुर्गा, रानी चंद्रावलि का डोला, आल्हा-ऊदल की ट्रैक्टराें में सजी झांकियां पहुंचनी शुरू हो गई थीं। यहां पर भारी भीड़ के बीच जिलाधिकारी डा. काजल और पुलिस अधीक्षक आनंद कुलकर्णी ने फीता काटकर शोभायात्रा की शुरुआत कराई। इस मौके पर पालिका अध्यक्ष पुष्पा अनुरागी, अपर जिलाधिकारी एके द्विवेदी, उप जिलाधिकारी विंध्यवासिनी राय मौजूद रहे। आल्हा-ऊदल की शोभायात्रा डीजे के बीच निकाली गई। सबसे आगे हाथी पर सवार आल्हा, मलखान चल रहे थे। वहीं घोड़े पर सवार ऊदल भी हाथ में तलवार लेकर आगे चल रहे थे। आल्हा-ऊदल की शोभायात्रा देखने के लिए कई जगह भारी भीड़ जमा थी। शोभायात्रा के दौरान भी मार्ग भीड़ से खचाखच भरे थे। शोभायात्रा में आल्हा, ऊदल, मलखान, ताला सैयद के अलावा ट्रैक्टराें पर सजाया गया रानी चंद्रावलि का डोला, रानी मल्हना का डोला के अलावा तमाम झांकियां नवजागरण जूनियर हाईस्कूल, जनता जूनियर हाईस्कूल, शिशु ज्ञान भारती, शेरमाता जूनियर हाईस्कूल, सरस्वती ज्ञान मंदिर, शक्ति विद्या मंदिर, शिशु शिक्षा सदन, गंगा पब्लिक स्कूल, सरस्वती ज्ञान मंदिर, सरस्वती बालिका विद्या मंदिर, शिशु शिक्षा निकेतन, गायत्री शिशु मंदिर सहित दो दर्जन से ज्यादा स्कूली बच्चाें द्वारा सजाई गई थीं। शोभायात्रा में जो आकर्षण का केंद्र बनी रहीं। झांकियाें के पीछे कुछ बुंदेली कलाकार ट्रैक्टराें में नृत्य करते हुए चल रहे थे। प्राचीन मेले की शुरुआत में निकली शोभायात्रा की भीड़ में यह साफ दिखा कि यहां के लोगाें में अपनी सांस्कृतिक विरासत को सहेजे रखने के लिए कितनी अकुलाहट है। शोभायात्रा तहसील चौराहा, मुख्य बाजार, ऊदल चौक, सुभाष चौक सहित मुख्य मार्गों से होती हुई कीरत सागर तट पर पहुंची। शोभायात्रा के पीछे सिर पर कजरियां, भुजरियां रखे महिलाएं पहुंची और कीरत सागर सरोवर में कजरियां विसर्जित कीं। शोभायात्रा का विधायक प्रतिनिधि नरोत्तम शुक्ला, व्यापार मंडल के अलावा समाज सेवी संस्थाआें ने स्वागत किया।
कजली मेले के दौरान कीरत सागर तट पर विशाल जनसमूह एकत्र हुआ। भीड़ पर नजर रखने के लिए और सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर कीरत सागर तट के अलावा पूरे मार्ग पर सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए गए जिससे किसी भी तरह की अप्रिय घटना नहीं घट सकी। इस दफा मेले को जिला प्रशासन द्वारा भव्य स्वरूप दिए जाने से गदगद पालिका अध्यक्ष पुष्पा अनुरागी ने डीएम को पगड़ी पहनाकर सम्मानित किया।

Recommended

शनि जयंती (03 जून 2019, सोमवार) के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्
Astrology

शनि जयंती (03 जून 2019, सोमवार) के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्

कैसे होगा करियर, कैसा चलेगा व्यापार, किसे मिलेगी तरक्की और किसे मिलेगा प्यार ! जानिए विश्वप्रसिद्व ज्योतिषाचार्यो से
Astrology

कैसे होगा करियर, कैसा चलेगा व्यापार, किसे मिलेगी तरक्की और किसे मिलेगा प्यार ! जानिए विश्वप्रसिद्व ज्योतिषाचार्यो से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha chunav 2019) के नतीजों में किसने मारी बाजी? फिर एक बार मोदी सरकार या कांग्रेस की चुनावी नैया हुई पार? सपा-बसपा ने किया यूपी में सूपड़ा साफ या भाजपा का दम रहा बरकरार? सिर्फ नतीजे नहीं, नतीजों के पीछे की पूरी तस्वीर, वजह और विश्लेषण। 23 मई को सबसे सटीक नतीजों  (lok sabha chunav result 2019) के लिए आपको आना है सिर्फ एक जगह- amarujala.com  Hindi news वेबसाइट पर.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Kanpur

बांदा रूट के यात्रियों के लिए खुशखबरी, अगले महीने से चलेगी इलेक्ट्रिक ट्रेन

बांदा रूट के यात्रियों को जून से इलेक्ट्रिक ट्रेनों से यात्रा करने का मौका मिल सकता है। भीमसेन से मानिकपुर तक रेल लाइन के विद्युतीकरण का काम पूरा हो गया है।

24 मई 2019

विज्ञापन

संसदीय दल की बैठक में पीएम मोदी का संबोधन, लोकसभा चुनाव को बताया समाज को एक करने का जरिया

कैबिनेट गठन के लिए एनडीए की बैठक में पीएम मोदी का संबोधन। मोदी ने सहयोगी दलों से एकता से कार्य करने की अपील की।

25 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree