यंत्र नहीं मिला, हाथ से मापते हैं धान की नमी

Maharajganj Updated Sat, 10 Nov 2012 12:00 PM IST
महराजगंज। जिले में सरकारी धान खरीद योजना का हाल ठीक नहीं है। बिचौलिए जहां जमकर खरीदारी कर रहे हैं, वहीं क्रय केंद्रोें पर वीरानी छाई हुई है। ऐसा सरकारी मशीनरी की उदासीनता के चलते हो रहा है। फसल किसानों के घर में आ चुकी है। दीपावली के लिए खरीदारी करनी है, लेकिन किसान फसल लेकर परेशान हैं। शुक्रवार को अमर उजाला ने कुछ क्रय केन्द्रों का जायजा लिया तो तीन सेंटर में से केवल एक पर नमी मापक यंत्र मिला। प्रस्तुत है रिपोर्ट-
सहकारी संघ लिमिटेड चिउरहां
यहां कोई खरीद नहीं हो रही थी। केन्द्र प्रभारी रामजीत यादव ने बताया कि उनके सेंटर पर 612 कुंतल खरीद हुई है। जबकि वहां अभी केवल बांस ही गाड़ा गया था। उस पर कांटे तक नहीं लगे थे। खरीदा गया धान भी कहीं नहीं दिखा। इस केन्द्र पर नमी मापक यंत्र मौजूद नहीं है। नमी मापने के सवाल पर प्रभारी ने बताया कि धान हाथ से देखकर तौल करा लिया जाता है।
साधन सहकारी समिति सोनरा
इस केन्द्र पर गुरुवार से खरीद शुरू हुई है। सोनरा गांव के रामदयाल और शिवनाथ शर्मा का धान तौला गया है। शुक्रवार को पनेवा-पनेई गांव से खेदू धान लेकर आए थे। लेकिन सेंटर प्रभारी राजेन्द्र प्रसाद मौजूद नहीं थे। लिहाजा तौल नहीं हो पा रही थी। लोग प्रभारी के आने का इंतजार कर रहे थे। वहां नमी मापक यंत्र बैग में बंद कर रखा गया है। चौकीदार रामदयाल प्रसाद ने बताया कि हमें चलाना नहीं आता है। अब अंदाजा लगाया जा सकता है कि चौकीदार नमी नहीं माप सकता है और प्रभारी गायब रहते हैं। ऐसे में कैसे तौल होती होगी? झरना और विनोइंग मशीन इस केन्द्र पर नहीं है।
पीसीएफ सेंटर सोनरा
सोनरा गांव में पीसीएफ का बफर गोदाम है। इसमें पूरे जिले के जरूरत की खाद स्टॉक की जाती है। उसके गेट पर ही धान खरीद केन्द्र का बैनर लगा है। अंदर जाने पर कहीं सेंटर नहीं दिखा। वहां मौजूद लोगों ने बताया कि गोदाम के अंदर खरीद होती है। लेकिन अभी तक खरीद नहीं हो सकी है। केन्द्र प्रभारी रामअजोर दयाल ताला बंद कर गायब मिले। यहां तो अभी तक कांटा भी नहीं लगा है। नमी मापक यंत्र, झरना और विनोइंग मशीन यहां नहीं है।
काफी प्रयास के बाद खरीद
चिउरहां के रहने वाले किसान रामअवध ने बताया कि काफी प्रयास के बाद गुरुवार को उनका 46 बोरा धान किसान सेवा सहकारी संघ लिमिटेड चिउरहां पर तौल किया गया। सरकारी और प्राइवेट दाम में अंतर होने के कारण किसान अपनी उपज सरकारी कांटे पर ही तौल कराना चाहता है।
बिचौलिए उठा रहे फायदा
सदर ब्लाक के महुअवां गांव निवासी विन्देश्वरी का कहना है कि सेंटर देर से शुरू होेने पर काफी परेशानी हो चुकी है। किसानों की मजबूरी का फायदा बिचौलिए उठा रहे हैं। उनकी फसल कटकर घर आ गई है। लेकिन अभी उसे बेचा नहीं जा सका है। जरूरत पड़ी तो कुछ करेंगे।
मजबूरी में व्यापारी को बेचा
सदर ब्लाक के पिपरा रसूलपुर गांव निवासी किसान महंत प्रसाद यादव का कहना है कि पांच एकड़ फसल कटकर घर आ चुकी है। कुछ धान प्राइवेट कारोबारियों के हाथ बेचना पड़ा है। जबकि बाकी धान रखा हुआ है। उसे सरकारी कांटे पर तौल कराने के लिए जतन किया जा रहा है।
क्रय केंद्र का लगा रहे चक्कर
सदर ब्लाक के नेता सुरहुरवां गांव निवासी रामअवतार शर्मा का कहना है कि धान काटकर क्रय केन्द्र का चक्कर काट रहे हैं। अभी उनकी सुनने वाला कोई नहीं है। फिर भी वे हिम्मत बटोरकर सरकारी कांटे पर धान तौल कराने का प्रयास कर रहे हैं। जरूरत पड़ी तो व्यापारी को बचेंगे।
इस संबंध में जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी राजू प्रसाद पटेल ने बताया कि देर से धान की फसल कटने के कारण खरीद रफ्तार नहीं पकड़ पा रही थी। अब रफ्तार पकड़ने लगी है। 15 नवंबर के बाद उसमें काफी तेजी आ जाएगी।
विपणन अधिकारी ने किया निरीक्षण
जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी राजू प्रसाद पटेल ने शुक्रवार को कानापार क्रय केन्द्र का निरीक्षण किया। सेंटर बंद पाया गया। जिस पर उन्होंने प्रभारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की बात कही है।

Spotlight

Most Read

National

सियासी दल सहमत तो निर्वाचन आयोग ‘एक देश एक चुनाव’ के लिए तैयार

मध्य प्रदेश काडर के आईएएस अधिकारी और झांसी जिले के मूल निवासी ओपी रावत ने मंगलवार को मुख्य चुनाव आयुक्त का कार्यभार संभाल लिया।

24 जनवरी 2018

Rohtak

बिजली बिल

24 जनवरी 2018

Rohtak

नेताजी

24 जनवरी 2018

Related Videos

‘पद्मावत’ का विरोध करने वालों ने कहा, सिनेमाघरों के अंदर करेंगे ब्लास्ट

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद देश के कई हिस्सों में ‘पद्मावत’ का विरोध जारी है। यूपी के महराजगंज में विरोध कर रहे लोगों ने कहा कि अगर फिल्म रिलीज होती है तो हम सिनेमा घरों में ब्लास्ट कर देंगे।

22 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper