त्याग और बलिदान की प्रतिमूर्ति थे शिब्बन

Maharajganj Updated Sun, 21 Oct 2012 12:00 PM IST
महराजगंज। जवाहर लाल नेहरू पीजी कालेज के प्रबंधक, प्राचार्य और शिक्षकों ने प्रोफेसर शिब्बन लाल सक्सेना की समाधि पर शनिवार सुबह श्रद्धांजलि दी।
प्रबंधक डॉक्टर बलराम भट्ट ने कहा कि प्रो. शिब्बन ने महराजगंज की तस्वीर बदल कर रख दी। उन्होंने अपना जीवन लोकसेवा में लगा दिया। प्राचार्य डॉक्टर घनश्याम पांडेय ने कहा कि प्रो. शिब्बन के बताए रास्ते पर चलकर हम उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि दे सकते हैं। राजनीति शास्त्र विभाग के प्रमुख इनामुल्लाह सिद्दीकी ने कहा कि प्रो. शिब्बन त्याग और बलिदान की प्रतिमूर्ति थे। डॉ. परशुराम गुप्त, डॉ. आरके मिश्र, डॉ. घनश्याम शर्मा, डॉ. महेश मणि त्रिपाठी, डॉ. प्रेमचंद पटेल और डॉ. रीना सिंह ने उन्हें देश का सच्चा सिपाही बताया। यहां डॉ. डीएन राय, चन्द्रिका शर्मा, डॉ. हरिगोपाल श्रीवास्तव, डॉ. उमेश यादव, डॉ. ओपी श्रीवास्तव, जयमंगल कन्नौजिया और त्रियुगीनाथ सहित अन्य लोग मौजूद रहे।
मनाई गई 26वीं पुण्यतिथि
महराजगंज। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी व संविधान निर्मात्री समिति के सदस्य प्रो शिब्बन लाल सक्सेना की 26वीं पुण्यतिथि शनिवार को गणेश शंकर विद्यार्थी स्मारक इंटर कालेज में मनाई गई। इस दौरान वक्ताओं ने प्रो. शिब्बन के व्यक्तित्व और कृतित्व पर प्रकाश डाला।
कार्यक्रम का शुभारंभ प्रो. शिब्बन लाल सक्सेना के चित्र पर माल्यार्पण के साथ हुआ। प्रधानाचार्य त्रियुगी नारायण त्रिपाठी ने कहा कि इस जिले को प्रो. सक्सेना के नाम से जाना जाता है। उन्होंने इसके विकास के लिए काफी प्रयास किया। उच्च शिक्षा के लिए जिले में महाविद्यालय का निर्माण कराया। वह इस बात का हमेशा प्रयास करते रहे कि इस जिले को राष्ट्रीय पटल पर लाया जाए। उन्होंने कहा कि प्रो. सक्सेना के सपनों को साकार करना ही उनको सच्ची श्रद्धांजलि होगी। सभा को पुरुषोत्तम यादव, मंगल लाल श्रीवास्तव, दीपचंद त्रिपाठी, विजय बहादुर सिंह और संतोष मिश्र ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में चंद्रिका सिंह, यशवंत वर्मा, श्रीराम सिंह, विजय कुमार और भगवंत प्रसाद आदि उपस्थित रहे।
विद्यार्थियों ने बनाई मानव श्रृंखला
फरेंदा। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी प्रोफेसर शिब्बन लाल सक्सेना की पुण्यतिथि पर चंद्रा चिल्ड्रेन पब्लिक स्कूल आनंदनगर के विद्यार्थियों ने मानव श्रृंखला बनाकर उनके आदर्शों पर चलने का संकल्प लिया।
इस दौरान आयोजित विचार गोष्ठी मेें समाजसेवी व जद (यू) नेता विजय सिंह ने कहा कि प्रो. शिब्बन लाल ने आजादी से पहले और आजादी के बाद तक गरीबों और किसानों की लड़ाई लड़ी। वह गांधीवादी नेता थे। वरिष्ठ अधिवक्ता एवं एनसीपी नेता अरविंद मिश्र ने कहा कि प्रो. शिब्बन ने कभी परिवार और जाति नहीं देखा। उनके आंदोलन की शैली इतिहास का हिस्सा बनी रहेगी। अधिवक्ता मुकेश सिन्हा ने कहा कि प्रो. शिब्बन को राज्यपाल से लेकर राष्ट्रपति बनने का प्रस्ताव कांग्रेस ने भेजा था, लेकिन महराजगंज की माटी से रचे-बसे होने के कारण उन्होेंने राजनीति के बंधन को स्वीकार नहीं किया। इस मौके पर कांग्रेेस के रमेश चंद्र श्रीवास्तव, विद्यालय के प्रबंधक एसएम श्रीवास्तव, प्रधानाचार्य जितेंद्र गिरी, विनय और अजीत चौरसिया आदि उपस्थित रहे।

Spotlight

Most Read

Meerut

राहुल काठा की सुरक्षा में पेशी

राहुल काठा की सुरक्षा में पेशी

23 जनवरी 2018

Related Videos

‘पद्मावत’ का विरोध करने वालों ने कहा, सिनेमाघरों के अंदर करेंगे ब्लास्ट

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद देश के कई हिस्सों में ‘पद्मावत’ का विरोध जारी है। यूपी के महराजगंज में विरोध कर रहे लोगों ने कहा कि अगर फिल्म रिलीज होती है तो हम सिनेमा घरों में ब्लास्ट कर देंगे।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper