कई लोगों से हिरासत में पूछताछ

Maharajganj Updated Sat, 29 Sep 2012 12:00 PM IST
महराजगंज/ शिकारपुर। सिंचाई विभाग के रिटायर्ड कर्मचारी लक्ष्मण चौरसिया हत्याकांड में पुलिस ने तीन अज्ञात बदमाशों पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। दूसरी ओर घटना के संबंध में पुलिस के हाथ कुछ महत्वपूर्ण सुराग लगे हैं। उम्मीद की जा रही है कि पुलिस मामले का जल्द खुलासा कर देगी।
ज्ञात हो कि घुघली थाना क्षेत्र के शिवपुर गांव के टोला हरपुर में गुरुवार शाम बिना नंबर की बाइक पर तीन युवक आए। उनमें से दो ने मुंह पर गमछा बांध रखा था। वे तीनाें सिंचाई विभाग से सेवानिवृत्त लक्ष्मण चौरसिया (65) के घर पहुंचे और उनके भतीजे सुरेन्द्र चौरसिया के बारे में पूछते लगे। बदमाशों ने जब बताया कि वे सुरेन्द्र के बेटे अजय की शादी के सिलसिले में आए हैं तो लक्ष्मण उनकी आवभगत में जुट गए। कुछ देर बाद सुरेन्द्र और अजय भी पहुंच गए। दुबारा आने की बात कहकर तीनों युवक निकले। लक्ष्मण, सुरेन्द्र और अजय भी उनको छोड़ने चल दिए। कुछ दूर आगे बढ़े तभी सुरेन्द्र के मोबाइल पर किसी का फोन आ गया और वे वहां से पीछे मुड़ गए। इसी बीच युवकों में एक ने अजय का हाथ पकड़ कर पूछा कि शादी करोगे तो उसने बुजुर्गों के आदेश पर टाल दिया। इतना कहना था कि एक बदमाश अपने पास रखा कट्टा निकाल लिया। कट्टा देखते ही अजय वहां से भाग निकला। इसके बाद बदमाशों ने लक्ष्मण की कनपटी में दो गोली उतार दी। उनकी मौके पर ही मौत हो गई। लक्ष्मण के बेटे रामप्रवेश की तहरीर पर पुलिस ने तीन अज्ञात बदमाशों पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लिया है। उनसे पूछताछ जा रही है।
एसपी लक्ष्मीनारायण का कहना है कि पुलिस के हाथ महत्वपूर्ण सुराग लगे हैं। हत्या की वजह स्पष्ट नहीं हो पाई है। जल्द ही मामले का खुलासा कर लिया गया है। पुलिस कई बिंदुओं पर काम कर रही है।
लक्ष्मण नहीं कोई और था निशाने पर
महराजगंज/शिकारपुर। बदमाशों के निशाने पर लक्ष्मण नहीं कोई और था। पुलिस जांच में यह बात सामने आई है।
ग्रामीणों की मानें तो लक्ष्मण काफी मिलनसार थे। उनकी किसी से दुश्मनी नहीं थी। अलबत्ता पत्नी सोनमती और बड़े बेटे रविन्द्र ने इशारा किया कि हत्या की वजह जमीन का विवाद हो सकता है। गांव के सीताराम और अन्य लोगों से सात डिस्मिल जमीन का विवाद चल रहा है। पुलिस जांच में जो बात सामने आई है, उसके मुताबिक लक्ष्मण के पट्टीदार की लड़की एक साल पहले किसी लड़के के साथ भाग गई। तब से वह घर वापस नहीं लौटी। उनके पट्टीदार लड़की के भागने में लक्ष्मण के भतीजे सुरेन्द्र का हाथ मानते हैं। सुरेन्द्र की मानें तो उन्हें कुछ दिन से धमकी भी मिल रही थी, लेकिन इसे गंभीरता से नहीं लिया। आशंका व्यक्त की जा रही है कि बदमाश सुरेन्द्र और उनके बेटे अजय को मारने आए थे, लेकिन लक्ष्मण की हत्या कर दी। पुलिस कई बिन्दुओं पर जांच कर रही है। अजय का किसी लड़की से प्रेम प्रपंच तो नहीं था। अजय क्षेत्र के लक्ष्मीपुर एकडंगा में 12वीं का छात्र है। पुलिस उससे संबंधित बातों की भी जांच कर रही है।
करीबी हैं बदमाश
बदमाश सुरेन्द्र और अजय को भलीभांति जानते थे। लक्ष्मण चौरसिया से बातचीत के दौरान बदमाश सुरेन्द्र के घर का नाम पुजारी व अजय के घर का नाम गोधन लेकर पुकार रहे थे।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

‘पद्मावत’ का विरोध करने वालों ने कहा, सिनेमाघरों के अंदर करेंगे ब्लास्ट

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद देश के कई हिस्सों में ‘पद्मावत’ का विरोध जारी है। यूपी के महराजगंज में विरोध कर रहे लोगों ने कहा कि अगर फिल्म रिलीज होती है तो हम सिनेमा घरों में ब्लास्ट कर देंगे।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls