बाढ़ को लेकर रेड अलर्ट

Maharajganj Updated Sat, 22 Sep 2012 12:00 PM IST
महराजगंज/निचलौल। नारायणी नदी पर बने बांध बी-गैप पर खतरा बरकरार है। यहां 12 नंबर ठोकर पर पानी का दबाव लगातार बढ़ता जा रहा है। दबाव के चलते नेपाल के लोग भयभीत है। बांध के पास के कई गांवों के लोग सुरक्षित स्थानों पर जाने लगे हैं। उधर, डीएम ने 12 नंबर ठोकर पर बढ़ रहे दबाव के चलते रेड अलर्ट घोषित किया है। उन्होंने एक्सईएन सिंचाई की लापरवाही पर कड़ी नाराजगी जाहिर की है।
नेपाल में नवलपरासी जिले में नारायणी नदी पर बने बी-गैप बांध से बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। इस बांध का 12 नंबर ठोकर लगातार क्षतिग्रस्त हो रहा है। यहां के लोग दहशत में हैं। खबर तो यह है कि बी-गैप बंधे से सटे गांव नरसही और पिपरपाती गांव के लोग पलायन करने लगे हैं। उन्हें डर है कि अगर बंधा टूटता है तो सबसे पहले वे ही चपेट में आएंगे।
उधर, डीएम के आदेश पर दिन भर निचलौल एसडीएम और तहसीलदार मौके पर जमे रहे। नेपाल के भी पुलिस के जवान और सशस्त्र बल के जवान गश्त लगा रहे हैं। यहां के लोगों का कहना है कि लगातार उदासीनता के चलते ऐसी स्थिति आई है। सिंचाई विभाग के अधिकारी इस बंधे के नाम पर तमाम रुपये हजम कर जा रहे हैं। डीएम का कहना है कि स्थिति पर लगातार नजर रखी जा रही है। उन्होंने कहा कि एक्सईएन के खिलाफ कार्रवाई के लिए लिखा जा रहा है।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

14 साल के इस बच्चे ने कराई चार कैदियों की रिहाई, दान में दी प्राइज मनी

14 साल के आयुष किशोर ने चार कैदियों की रिहाई के लिए दान कर दी राष्ट्रपति से मिली प्राइज मनी।

22 जनवरी 2018

Related Videos

आलू किसानों पर यूपी के कृषि मंत्री का बड़ा बयान

यूपी में आलू किसानों की हालत क्या है इससे पूरा देश वाकिफ है। यूपी के अलग-अलग शहरों में सड़कों पर आलू फेंके जाने की तस्वीरें सामने आती हैं। ऐसे में यूपी के कृषि मंत्री ने ये आश्वासन दिया है कि आलू किसानों के साथ अन्याय नहीं किया जाएगा।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper