जिले में अव्वल रहा महिला अस्पताल

Lalitpur Updated Mon, 27 Jan 2014 05:51 AM IST
ललितपुर। ‘चिकित्सालय स्वच्छता सप्ताह’ के तहत हुई परीक्षा में जिला महिला चिकित्सालय सर्वाधिक अंक पाकर पहले स्थान पर रहा। वहीं, जिला चिकित्सालय पुरुष ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। जबकि, ‘एफआरयू’ (फर्स्ट रेफरल यूनिट) के रूप में चिन्हित होने के बाद भी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तालबेहट को तीसरे स्थान पर संतोष करना पड़ा।
प्रदेश स्तर पर सर्वश्रेष्ठ अस्पताल के चयन के लिए स्वास्थ्य विभाग में राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत 26 दिसंबर 2013 से एक जनवरी 2014 तक ‘चिकित्सालय स्वच्छता सप्ताह’ मनाया गया। योजना के अनुसार सरकारी स्वास्थ्य इकाइयों में 10 तरह की व्यवस्थाओं के आंकलन का प्रावधान किया गया था, जिसमें सफाई को पहली प्राथमिकता दी गई। इसी तरह आईईसी (इनफारमेशन एजुके शन एंड कम्युनिकेशन), सिटीजन चार्टर, शिकायत निवारण तंत्र, आवश्यक औषधि की सूची व दवाइयों की उपलब्धता, ओपीडी सेवाएं एवं ओटी (आपरेशन थिएटर), प्रसव कक्ष, एनबीसीसी (न्यू बोर्न केयर कार्नर), एनबीएसयू (न्यू बोर्न सिक केयर यूनिट) की सेवाएं, चिकित्सालय में कार्यरत अधिकारी व कर्मचारी, कर्मचारियों की उपलब्धता, प्रशिक्षण, तैनाती, चिकित्सालय का विकास, रोगी कल्याण समिति की बैठक व आडिट संबंधी व्यवस्थाओं को शामिल किया गया। प्रत्येक व्यवस्था के लिए पांच अंक निर्धारित किए गए थे।
इस तरह सर्वश्रेष्ठ खिताब पाने के लिए चिकित्सालय को 50 अंकों की परीक्षा को उत्तीर्ण करना अनिवार्य था। सप्ताह समाप्ति के बाद मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. आरसी निरंजन, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी व नोडल अधिकारी एनआरएचएम डा. डीएस दोहरे एवं जिला कार्यक्रम प्रबंधक एनआरएचएम ऋषिराज सिंह ने जनपद के सभी चिकित्सालय का भ्रमण करके व्यवस्थाओं का जायजा लिया, जिसमें जिला महिला चिकित्सालय 50 अंकों में से 44 अंक पाकर पहले स्थान पर रहा। जिला चिकित्सालय पुरुष 34 अंक पाकर दूसरे स्थान पर रहा। जिले में अव्वल रहने के पीछे जिला महिला चिकित्सालय में एनबीसी व एनबीएसयू (न्यू बोर्न स्टेबलाइजेशन यूनिट) का होना फायदेमंद रहा। जिला चिकित्सालय पुरुष में सफाई व्यवस्था को महिला अस्पताल के मुकाबले एक अंक कम मिला। वहीं, एनआरसी (पोषण पुर्नवास केंद्र) में लाभार्थियों की कमी, आरकेएस (रोगी कल्याण समिति) के बजट के मूल्यांकन व आडिट संबंधी कमियों की वजह से पुरुष अस्पताल को दूसरे स्थान पर ही संतोष करना पड़ा।
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तालबेहट को एफआरयू (फर्स्ट रेफरल यूनिट) में शामिल किया गया है। सर्वश्रेष्ठ चयन के लिए आवश्यक 10 व्यवस्थाओं में सीएचसी तालबेहट 32 अंक पाकर तीसरे स्थान पर रहा। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जखौरा को 30 अंक, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र महरौनी को 27, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मड़ावरा को 26 और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बार को सबसे कम 20 अंक मिले। सीएमओ डा. आर सी निरंजन ने बताया कि जिला स्तरीय टीम ने अपनी रिपोर्ट अपर निदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य झांसी मंडल को भेज दी है।

प्रदेश स्तर पर पुरस्कृत होंगे सर्वश्रेष्ठ अस्पताल
‘चिकित्सालय स्वच्छता सप्ताह’ समाप्ति पर जनपद स्तरीय दल की रिपोर्ट अपर निदेशक को भेज दी गई है। मंडलीय अपर निदेशक व संयुक्त निदेशक का दल जनपद के चयनित सर्वश्रेष्ठ चिकित्सालयों सहित मंडल के अन्य सर्वश्रेष्ठ चिकित्सालयों का चयन करेंगे। राज्य स्तरीय अधिकारी मंडल स्तर पर चयनित चिकित्सालयों का भ्रमण करके सर्वश्रेष्ठ अस्पताल का चयन करेंगे, जिसे प्रदेश स्तर पर पुरस्कृत किया जाएगा।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाले में लालू की नई मुसीबत, चाईबासा कोषागार मामले में आज आएगा फैसला

चारा घोटाला मामले में रांची की स्पेशल सीबीआई कोर्ट बुधवार को सुनवाई करेगी। स्पेशल कोर्ट जज एस एस प्रसाद इस मामले में फैसला देंगे।

24 जनवरी 2018

Related Videos

झांसी में हारे हुए प्रत्याशी ने नवनिर्वाचित पार्षद को मारी गोली

झांसी में नवनिर्वाचित निर्दलीय प्रत्याशी अनिल सोनी को गोली मार दी गई। गोली हारने वाले निर्दलिय प्रत्याशी मोहित चौहान ने मारी है। बता दें गोली जीते हुए प्रत्याशी अनिल सोनी के सिर से छूते हुए निकली। फिलहाल अनिल सोनी की हालत स्थिर बनी हुई है।

2 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper