अंधे हत्याकांडों से नहीं उठ सका पर्दा

Lalitpur Updated Sat, 23 Nov 2013 05:44 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
ललितपुर। जनपद में अंधे हत्याकांडों से पर्दा नहीं उठ पा रहा है। चाहे किशोर की हत्या का मामला हो या महिला का। सभी मामले अनसुलझे हैं। महिला समेत तीन लोगों की मौत तो पहेली बनकर रह गई है।
विज्ञापन

तालबेहट अंतर्गत ग्राम ककड़ारी के जंगल में लगभग बत्तीस वर्षीय महिला को बेरहमी से मौत के घाट उतारा गया था। महिला की पहचान मिटाने के उद्देश्य से हत्यारों ने उसके सिर को पत्थरों से कुचलकर विकृत कर दिया था। घटनास्थल पर देसी शराब के दो पौवे भी पड़े पाए गए थे। मृतका के शरीर पर काले रंग का पेटीकोट व गुलाबी रंग का ब्लाउज था। अज्ञात हत्यारों के खिलाफ मामला दर्ज करने वाली पुलिस अब तक मृतका की शिनाख्त भी नहीं कर सकी। तभी से यह मामला ठंडे बस्ते में पड़ा है। उधर, जून माह में मछली मार्केट निवासी युवक को धारदार हथियार से मौत के घाट उतारकर शहजाद नदी में फेंका गया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या की पुष्टि होने के बाद भी कोतवाली पुलिस ने अब तक रिपोर्ट दर्ज नहीं की है। इसी तरह चार महीने पूर्व नेहरू नगर स्थित ससुराल में एक युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। मृतक से बरामद पत्र में कुछ स्थानीय लोगों को मौत का जिम्मेदार ठहराया गया था। इन ं मौतों में पुलिस ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है।
बालक के हत्यारे बेसुराग
ललितपुर। कोतवाली महरौनी क्षेत्र के मिदरवाहा गांव में बालक की हत्या के मामले में पुलिस के हाथ अब भी खाली हैं।
ग्राम मिदरवाहा निवासी लक्ष्मीचंद बुनकर का पुत्र जीतू शारदीय नवरात्र प्रारंभ होने से पांच दिन पूर्व 30 सितंबर को शाम साढ़े सात बजे रहस्यमय ढंग से लापता हो गया था। चार नवंबर को उसकी लाश घर से डेढ़ सौ मीटर दूर स्थित हरदौल बाबा मंदिर के निकट एक खेत में लगे खैर के पेड़ के नीचे गड्ढे में दबी मिली थी। घटनास्थल से बरामद कपड़ों के आधार पर लक्ष्मीचंद ने मृतक की शिनाख्त अपने लापता बेटे के रूप में की। गड्ढे से बालक की खोपड़ी, हाथ व पैर की 11 अस्थियां, पसलियां व जबड़ा बरामद हुआ था। हाथ पैर व पसलियों की हड्डियां टूटी पाई गईं थीं। बगैर कपड़ों के बालक का कंकाल गड्ढे से बरामद होने को लेकर तरह तरह के कयास लगाए जाने लगे। पुलिस ने अस्थियों को डीएनए जांच को भिजवाकर पड़ताल शुरू की। इसी बीच तत्कालीन इंसपेक्टर का स्थानांतरण साइबर क्राइम ब्रांच हो गया। इसके बाद पुलिस की जांच एक कदम आगे नहीं बढ़ पाई है। उधर, प्रभारी निरीक्षक कोतवाली महरौनी महेंद्र सिंह का कहना है कि जल्द ही मिदरवाहा गांव जाकर मामले की पड़ताल की जाएगी। अस्थियों के डीएनए टेस्ट रिपोर्ट का भी इंतजार किया जा रहा है।

नहीं हुई युवराज की शिनाख्त
ललितपुर। उनतीस जनवरी को दैलवारा रेलवे स्टेशन से डेढ़ सौ मीटर दूर अज्ञात युवक की गला घोंटकर हत्या की गई थी। मृतक की पहचान मिटाने के लिए उसके सिर को पत्थरों से कुचलकर विकृत कर दिया गया था। इसके अलावा दाएं हाथ पर लिखे ‘ऊं’ व ‘युवराज’ को पत्थरों से कुचला गया था। मृतक के शरीर पर हल्के नीले रंग की अंडरबियर व सफेद बनियान थी। मरने वाले की अब तक शिनाख्त नहीं हो सकी है।

पांच हत्याओं की फाइल बंद
ललितपुर। अलग- अलग क्षेत्रों में मौत के घाट उतारे गए पांच लोगों की शिनाख्त नहीं होने के कारण फाइनल रिपोर्ट लगा दी गई है।
कोतवाली की चौकी नेहरू नगर अंतर्गत जुगपुरा स्थित विनोद रैकवार के खेत से बरामद हुई मां-बेटी की लाशों ने लोगों को झकझोर दिया था। महिला के दोनों हाथ काले धागे से बंधे हुए थे। उसका सिर बुरी तरह से कुचला हुआ था। बांया हाथ भी टूटा हुआ था। उसके पास ही मृत पड़ी ढाई साल की बच्ची के सिर में घातक चोट पाई गई थी। इसी तरह एक अज्ञात युवक का धारदार हथियार से गला रेतकर शव मड़ावरा थाना अंतर्गत ग्राम बहादुरपुर के तालाब में फेंक दिया गया था। थाना बार अंतर्गत ग्राम बम्हौरीखड़ैत व सतौराधाम के बीच जंगल में अज्ञात व्यक्ति की नृशंस हत्या कर शव जलाकर बोल्डर से दफन कर दिया गया था। कोतवाली अंतर्गत गोविंद सागर बांध स्थित खदान में धारदार हथियारों से अज्ञात युवक का गला रेतकर हत्या की गई थी। इन सभी मामलों में पुलिस ने अज्ञात हत्यारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की। मृतकों की शिनाख्त न हो पाने पर फाइनल रिपोर्ट लगा दी गई है।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us