आरक्षण : कर्मचारियों ने धरना देकर किया विरोध

Lalitpur Updated Tue, 18 Dec 2012 05:30 AM IST
ललितपुर। पदोन्नति में आरक्षण का विरोध दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है। सोमवार को सर्वजन हिताय संरक्षण समिति के सदस्यों ने विभिन्न विभागों के कार्यालयों में जाकर कामकाज बंद कराया और सिंचाई विभाग रेस्ट हाउस में धरना दिया। इस दौरान केंद्र सरकार व आरक्षण का समर्थन कर रहे राजनीतिक दलों को सबक सिखाने का संकल्प लिया गया।
विभिन्न विभागों के कर्मचारी जिला पंचायत परिसर में एकत्र हुए। यहां से सभी लोग बाइकों पर सवार होकर जुलूस की शक्ल में लोक निर्माण विभाग, विकास भवन, कलेक्ट्रेट, जिला पूर्ति कार्यालय सहित विभिन्न विभागों में गए और वहां मौजूद कर्मचारियों को पदोन्नति में आरक्षण के दुष्परिणाम बताए और कामकाज बंद करवाकर जोरदार नारेबाजी की। कर्मचारियों की संख्या बढ़ती गई और सभी लोग सिंचाई विभाग रेस्ट हाउस पहुंच गए। यहां सभी लोग धरने पर बैठ गए। इस दौरान समिति अध्यक्ष जेके सिंह ने कहा कि राजनीतिक लाभ के लिए केंद्र सरकार व अन्य राजनीतिक दल समाज को बांटने पर तुले हुए हैं। अगर यह व्यवस्था लागू हो गई तो इसके खतरनाक परिणाम मौजूदा व आने वाली पीढ़ी को झेलने पड़ेंगे। उन्होंने कहा कि पदोन्नति का लाभ तो सिर्फ उस व्यक्ति को ही देना चाहिए जो योग्य व वरिष्ठ हो। अगर योग्य व्यक्ति के साथ में काम करने वाला अन्य कर्मचारी पदोन्नति में आरक्षण का लाभ पाकर आगे बढ़ जाता है तो कुशल कर्मचारी की योग्यता में गिरावट आना तय है। उन्होंने यह भी कहा कि जिनको इसका लाभ दिए जाने की वकालत की जा रही है वे लोग अपने बच्चों को सिफारिश से नहीं योग्यता से आगे बढ़ते हुए देखना चाहते होंगे। इस दौरान अमित शुक्ल, जयशंकर, हरीश कुमार जैन, केपी शर्मा, शैलेंद्र सिंह तोमर, दुर्गा प्रसाद श्रीवास्तव, संजय श्रीवास्तव, आत्माराम रिछारिया, शैलेंद्र सिंह तोमर, लखनलाल सविता, राजेंद्र कुमार भौड़ेले, नरेंद्र कुमार राठौर, गोविंद नारायण तिवारी, संतोष कुमार, राकेश गुप्ता, रजनीश चतुर्वेदी, शरद कुमार चौबे आदि मौजूद रहे।


पदोन्नति में आरक्षण को ठहराया जायज
ललितपुर। कचहरी प्रांगण में अखिल भारतीय अनुसूचित जाति जनजाति कर्मचारी कल्याण संघ की बैठक के दौरान पदोन्नति में आरक्षण को जायज ठहराया गया। इस विधेयक को जल्द पास करने की अपील केंद्र सरकार से की गई। वक्ताओं ने कहा कि अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लोग वर्षों से उपेक्षित किए गए। सरकारी नौकरी में आने के बावजूद उनका पिछड़ापन अभी दूर नहीं हो सका है। ऐसे में पदोन्नति में आरक्षण के माध्यम से उनको आगे बढ़ने का एक मौका मिलेगा। इस दौरान हाकिम सिंह, रामलाल, एसपी सिंह, रामचरन, सुरेंद्र प्रसाद, केशवदाल, आशाराम, दल सिंह, दुर्गा प्रसाद, लालाराम, महेंद्र रजक, बाबूलाल, पर्वत लाल अहिरवार, राधाचरण, मनोज कुमार, खुमानलाल, सनत कुमार, सुरेश कुमार, सुखदास श्रीवास, मनमोहन, मनीराम अहिरवार, लक्ष्मीनारायण, दरऊ अहिरवार, तुलसीराम, हरिराम, दर्शनलाल, राजेश मारोठिया, अशोक श्रीवास, राजाराम, सुरेंद्र कुमार, राजकुमार पिहाल, सुनील महरौलिया आदि मौजूद रहे। अध्यक्षता वंशीधर श्रीवास व संचालन शीलबाबू मरोठिया ने किया।

Spotlight

Most Read

Lucknow

ओपी सिंह होंगे यूपी के नए डीजीपी, सोमवार को संभाल सकते हैं कार्यभार

सीआईएसएफ के डीजी ओपी सिंह यूपी के नए डीजीपी होंगे। शनिवार को केंद्र ने उन्हें रिलीव कर दिया।

20 जनवरी 2018

Related Videos

झांसी में हारे हुए प्रत्याशी ने नवनिर्वाचित पार्षद को मारी गोली

झांसी में नवनिर्वाचित निर्दलीय प्रत्याशी अनिल सोनी को गोली मार दी गई। गोली हारने वाले निर्दलिय प्रत्याशी मोहित चौहान ने मारी है। बता दें गोली जीते हुए प्रत्याशी अनिल सोनी के सिर से छूते हुए निकली। फिलहाल अनिल सोनी की हालत स्थिर बनी हुई है।

2 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper