आधी सड़कों को लील गया अतिक्रमण

Lalitpur Updated Tue, 18 Dec 2012 05:30 AM IST
ललितपुर। अतिक्रमण से नगर की प्रमुख सड़कें सिकुड़ गई हैं। मार्गों का आधा हिस्सा अतिक्रमण लील गया है। यातायात व्यवस्था चरमरा गई है। नगर की खूबसूरती पर यह समस्या बदनुमा दाग बन चुकी है। यहां से गुजरने वाला हर व्यक्ति परेशान है।
नगर क्षेत्र की प्रमुख सड़कों पर नजर डाली जाए तो कोई भी कोना अतिक्रमण से अछूता नहीं मिलेगा। स्टेशन से होकर नदीपुरा जाने वाले मार्ग पर स्टेशन के बाहर ही अतिक्रमण की शुरूआत हो जाती है। यहां दोनों किनारों पर दुकानदारों के बोर्ड सड़क पर रखे हैं। ठेले वाले सड़क से ही अपने कारोबार को अंजाम देते हैं। जिला पंचायत के पास पहुंचते ही अतिक्रमण का रूप बड़ा हो जाता है। दुकानदारों की सामग्री फुटपाथ पर रखी रहती है और उनके वाहन सड़क किनारे खड़े रहते हैं। ऐसे में पैदल चलने वालों को फुटपाथ नसीब नहीं होता और वह सड़क पर चलते को मजबूर हो जाते हैं। तुवन मंदिर चौराहे तक ऐसा ही दृश्य दिखाई देता है। यहां से नझाई बाजार तक अतिक्रमण ने खतरनाक रूप से पैर पसार लिए हैं। स्वास्थ्य विभाग की बाउंड्री से सटी दुकानों का विस्तार फुटपाथ तक है, इसके बाद सब्जी के ठेले, जमीन पर सब्जी के अलावा विभिन्न प्रकार की सामग्री बेचने वालों का जमावड़ा हालातों को गंभीर बना देता है। तहसील प्रांगण के बाहर का अतिक्रमण तो अधिकारियों तक को दिखाई नहीं देता। नझाई बाजार, घंटाघर, सावरकर चौक, आजाद चौक से नदीपार तक हालात बद से भी बदतर हैं। दुकान सामग्री रखकर सड़कों को शोरूम बना देते हैं। उसके बाद हाथ ठेले वालों का सड़क पर ही कब्जा हो जाता है। रही सही कसर जमीन पर बैठकर कारोबार करने वाले पूरी कर देते हैं। बड़े, मझोले व छोटे व्यापारियों के कारण जूता चप्पल बाजार की चौड़ी गली में दुपहिया वाहन चालकों का दिन में जाना मुमकिन नहीं है। ललित टाकीज के पास स्थितियां पैदल चलने लायक भी नहीं बची। लोहा- पीतल बाजार में जहां भगौने, कलशे, बाल्टियां सड़कों पर रखी रहती हैं, वहीं साड़ी बाजार में साड़ियां व दुपट्टे सड़क पर लटकते रहते हैं। घंटाघर से इलाइट चौराहे तक भी अतिक्रमणकारियों ने सड़क के दोनों किनारों को लील लिया है। कायदे से अगर इस समस्या पर नजर डाली जाए तो दुकानदारों ने सामग्री व वाहन रखकर फुटपाथ हजम कर लिया। ठेला व फड़ लगाने वालों ने सड़कों को अपनी गिरफ्त में ले लिया। जिसकी वजह से पैदल चलने वाला व्यक्ति फुटपाथ की बजाए सड़कों पर पहुंच गया और वाहनों के लिए भी सड़क पर जगह बहुत कम रह गई। इन हालातों में नगर का यातायात घुट रहा है। लेकिन, इस समस्या की ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है। हालांकि पिछले कुछ दिनों से राज्य सरकार सड़कों पर हो रहे अतिक्रमण को लेकर काफी संजीदा है और अतिक्रमण हटाने के संबंध में लगातार दिशा निर्देश दे रही है। लेकिन, राज्य सरकार के दिशा निर्देशों का असर शायद प्रशासन, पुलिस व नगर पालिका के अधिकारियों पर नहीं पड़ रहा है।

इनका कहना है
नगर पालिका परिषद के अधिकारियों को अतिक्रमण हटाने के लिए निर्देश दिए जाएंगे। ताकि आवागमन में राहगीरों व वाहन चालकों को दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़े। इस समस्या से निपटने के लिए लोगों में नागरिकता बोध का होना आवश्यक है। अतिक्रमण करने वाले आखिर रहते तो नगर में ही हैं।
रणवीर प्रसाद
जिलाधिकारी ललितपुर।

Spotlight

Most Read

National

पाकिस्तान की तबाही के दो वीडियो जारी, तेल डिपो समेत हथियार भंडार नेस्तनाबूद

सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने पाकिस्तानी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है। भारत के जवाबी हमले में पाकिस्तान की कई फायरिंग पोजिशन, आयुध भंडार और फ्यूल डिपो को बीएसएफ ने उड़ा दिया है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

झांसी में हारे हुए प्रत्याशी ने नवनिर्वाचित पार्षद को मारी गोली

झांसी में नवनिर्वाचित निर्दलीय प्रत्याशी अनिल सोनी को गोली मार दी गई। गोली हारने वाले निर्दलिय प्रत्याशी मोहित चौहान ने मारी है। बता दें गोली जीते हुए प्रत्याशी अनिल सोनी के सिर से छूते हुए निकली। फिलहाल अनिल सोनी की हालत स्थिर बनी हुई है।

2 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper