जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास

Lalitpur Updated Sat, 15 Dec 2012 05:30 AM IST
ललितपुर। जिला पंचायत अध्यक्ष पर एक बार फिर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। इस बार समाजवादी पार्टी के ही जिला पंचायत सदस्यों ने उनके खिलाफ मोर्चा खोला है। शुक्रवार को 17 सदस्यों वाली जिला पंचायत के 12 सदस्यों ने जिलाधिकारी को अविश्वास प्रस्ताव के संबंध में शपथ पत्र सौंपे।
विभिन्न कारणों से समाजवादी पार्टी के जिला पंचायत अध्यक्ष प्रमोद बड़ौनिया के खिलाफ अंदर ही अंदर पनप रहा असंतोष बाहर आ गया। कुछ दिनों पूर्व पार्टी के एक वरिष्ठ नेता के समक्ष समाजवादी पार्टी के जिला पंचायत सदस्यों ने जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी और अविश्वास प्रस्ताव पेश करने को कहा था। बृहस्पतिवार को गुप्त बैठक करके जिला पंचायत सदस्य स्वामी प्रसाद यादव, ज्योति सिंह, रामवती, लीलाधर दुबे उर्फ कुल्लू महाराज, सरोज, शिशुपाल सिंह यादव, चंद्रशेखर पंथ, नन्नी दुलैया, खुशराज राजे, पीयूष श्रीवास्तव, मेनका गंधर्व व राकेश कुमार खटीक ने अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास को लेकर शपथपत्र तैयार करवाए। शुक्रवार पूर्वाह्न ग्यारह बजे जिला पंचायत सदस्य कलेक्ट्रेट पहुंच गए, यहां उन्होंने जिलाधिकारी रणवीर प्रसाद से मुलाकात की और कहा कि जिला पंचायत अध्यक्ष प्रमोद बड़ौनिया ने पद के लोकतांत्रिक मूल्यों का घोर उल्लंघन किया है तथा संस्था का संचालन वैधानिक ढंग से नहीं किया। शासनादेश के खिलाफ निजी वाहनों पर लालबत्ती व हूटर लगाकर जिला पंचायत से किराया तथा ईंधन वसूला। यही नहीं पिछली तिथि पर मनमाने ढंग से अपने करीबी ठेकेदारों का पंजीकरण करवा दिया जबकि इनमें से 06 के प्रपत्र अपूर्ण थे। बालू, मुरम की तहबाजारी में अपने चहेतों को अप्रत्यक्ष रूप से लाभ पहुंचाने के लिए नीलामी प्रक्रिया को बार- बार स्थगित किया गया। निर्माण कार्यों में एक ठेकेदार को जानबूझकर लाभान्वित करने का आरोप जिला पंचायत सदस्यों ने जिला पंचायत अध्यक्ष पर लगाया। एक दर्जन सदस्यों ने जिलाधिकारी को अविश्वास से संबंधित एक- एक शपथ पत्र भी सौंपा। जिला पंचायत सदस्यों की संख्या को देखते हुए जिलाधिकारी रणवीर प्रसाद ने जिला पंचायत राज अधिकारी को शपथ पत्रों के परीक्षण का निर्देश दिया है।


परीक्षण में सही पाए हस्ताक्षर
ललितपुर। जिलाधिकारी कार्यालय के बाद शपथ पत्र देने वाले सभी 12 सदस्य जिला पंचयात राज अधिकारी कार्यालय पहुंच गए। यहां जिला पंचायत सदस्यों ने डीपीआरओ के समक्ष अपनी बात रखी और नमूने के तौर पर अन्य कागजों पर हस्ताक्षर अंकित किए। कार्यालय में परीक्षण के दौरान शपथ पत्रों पर अंकित हस्ताक्षर संबंधित जिला पंचायत सदस्यों के ही पाए गए। बताया जाता है कि अब जिला पंचायत राज अधिकारी अपनी आख्या जिलाधिकारी को सौंपेंगे, तब जाकर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।



अविश्वास से सपा ने पल्ला झाड़ा
ललितपुर। जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ जिलाधिकारी के समक्ष पेश किए गए अविश्वास प्रस्ताव से पार्टी ने अपना पल्ला झाड़ लिया है। प्रशासन को शपथ पत्र देने से पहले पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से राय मशविरा नहीं करने के मुद्दे को आधार बनाकर दोषियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई का निर्णय लिया गया।
कलेक्ट्रेट से खाली हाथ लौटने के बाद जिलाध्यक्ष महेंद्र सिंह यादव ने आनन- फानन में स्टेशन रोड स्थित कार्यालय में पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं की बैठक बुलाई। इस दौरान अविश्वास के संबंध में प्रदेश स्तरीय नेताओं को फोन पर जानकारी दी गई। इसके पश्चात निर्णय लिया गया कि पार्टी को इस अविश्वास प्रस्ताव से कोई लेना देना नहीं है क्योंकि इस संबंध में जिला पंचायत सदस्यों ने पार्टी को ही विश्वास में नहीं लिया था। बैठक में जिलाध्यक्ष ने कहा कि कुछ असामाजिक तत्वों ने पार्टी की छवि खराब करने के लिए समाजवादी पार्टी के जिला पंचायत सदस्यों को भ्रमित किया है। ऐसे लोगों को जल्द ही चिह्नित करके उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान जिला महासचिव डा. सतीश सुड़ेले, जिला उपाध्यक्ष दीवान विक्रम सिंह, जैनू कुशवाहा, पूर्व जिलाध्यक्ष आल्हा प्रसाद निरंजन, पूर्व सांसद प्रतिनिधि राजेश यादव, जिला प्रवक्ता गिरधारी सिंह यादव, जिला कोषाध्यक्ष इंद्र पाल सिंह, जिला सचिव रक्षपाल सिंह यादव, करन पाल, विधानसभा अध्यक्ष गिन्नी राजा, रमेश सिंह फौजी, ब्लाक अध्यक्ष मक्खन कुशवाहा, शेर सिंह तोमर, वीर बहादुर सिंह, शोभाराम यादव, मातादीन यादव, रामकुमार पठा, महेंद्र सिंह बजर्रा, लोहिया वाहिनी जिलाध्यक्ष नेपाल सिंह यादव, छात्र सभा जिलाध्यक्ष राजीव यादव, नगर अध्यक्ष अफजुल रहमान, मीडिया प्रभारी कुंदन पाल, व्यापार प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष दुष्यंत बड़ौनिया, रानू यादव, गोलू पुरोहित आदि मौजूद रहे।




सपा जिलाध्यक्ष की भी नहीं माने सदस्य
ललितपुर। समाजवादी पार्टी के जिला पंचायत सदस्यों के भीतर जिपं अध्यक्ष के खिलाफ लंबे समय से पनप रहा असंतोष इस कदर फूटा कि उन्होंने पार्टी जिलाध्यक्ष की बात अस्वीकार कर दी। कलेक्ट्रेट पहुंचे जिलाध्यक्ष ने सदस्यों को मनाने के तमाम तरह से प्रयास किए और वरिष्ठ नेताओं से बातचीत भी कराई लेकिन सदस्य नहीं माने।
जिला पंचायत सदस्य स्वामी प्रसाद यादव, ज्योति सिंह, रामवती, लीलाधर दुबे उर्फ कुल्लू महाराज, सरोज, शिशुपाल सिंह यादव, चंद्रशेखर पंथ, नन्नी दुलैया, खुशराज राजे, पीयूष श्रीवास्तव, मेनका गंधर्व व राकेश कुमार खटीक के कलेक्ट्रेट पहुंचने की जानकारी जिलाध्यक्ष महेंद्र यादव को मिल गई। पार्टी से संबंधित गतिविधियों को देखते हुए अध्यक्ष कई नेताओं के साथ कलेक्ट्रेट प्रांगण पहुंच गए। कलेक्ट्रेट सभागार में सभी सदस्यों को बिठाकर पार्टी के भीतर मामला निपटाने को लेकर काफी देर तक चरचाएं होती रहीं। इस दौरान पार्टी जिलाध्यक्ष के समक्ष जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ सदस्यों का गुबार फूट पड़ा। उन्होंने ढाई वर्षों की घुटन से निकलने के लिए अविश्वास को जरूरी बताया। कहा कि विकास कार्यों के लिए चिचौरी करनी पड़ रही है। पार्टी स्तर से जिपं अध्यक्ष के खिलाफ कठोर कार्रवाई के आश्वासन पर भी वे नहीं माने। मामला बिगड़ता देख पूर्व सांसद एवं राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष चंद्रपाल सिंह यादव से कई जिला पंचायत सदस्यों की फोन पर वार्ता करवाई गई। लगभग एक घंटे तक कई चक्र फोन पर ही मंत्रणा चलती रही। फिर भी सदस्यों के रुख में नरमी नहीं आने पर उन्हें परिणाम भुगतने की हिदायद भी दी गई। जिलाधिकारी कार्यालय गेट के बाहर यह नाटकीय घटनाक्रम चल ही रहा था कि इस बीच कई महिला सदस्य स्टेनो कार्यालय स्थित दरवाजे से डीएम के समक्ष पेश हो गईं। कुछ ही देर में कई अन्य सदस्य भी मौके पर पहुंच गए और उन्हें शपथ पत्र सौंप दिए। मामला नहीं बनते देख जिलाध्यक्ष महेंद्र यादव पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं संग खाली हाथ वापस लौट गए।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

बॉर्डर पर तनाव का पंजाब में दिखा असर, लोगों में दहशत, BSF ने बढ़ाई गश्त

बॉर्डर पर भारत और पाकिस्तान में हो रही गोलीबारी का असर पंजाब में देखने को मिल रहा है, जहां लोगों में दहशत फैली हुई है। बीएसएफ ने भी गश्त बढ़ा दी है।

21 जनवरी 2018

Related Videos

झांसी में हारे हुए प्रत्याशी ने नवनिर्वाचित पार्षद को मारी गोली

झांसी में नवनिर्वाचित निर्दलीय प्रत्याशी अनिल सोनी को गोली मार दी गई। गोली हारने वाले निर्दलिय प्रत्याशी मोहित चौहान ने मारी है। बता दें गोली जीते हुए प्रत्याशी अनिल सोनी के सिर से छूते हुए निकली। फिलहाल अनिल सोनी की हालत स्थिर बनी हुई है।

2 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper