पांच वर्ष में नसबंदी को तैयार हुए महज 28 पुरुष

Lalitpur Updated Fri, 14 Dec 2012 05:30 AM IST
ललितपुर। मौजूदा आधुनिक युग में भले ही महिलाओं को पुरुषों के बराबर का दर्जा देने की वकालत की जा रही रही हो, लेकिन परिवार नियोजन के क्षेत्र में महिलाओं को ही अगिभनपरीक्षा देनी पड़ रही है। मुख्यालय स्थित राजकीय प्रसवोत्तर केंद्र पर पिछले पांच वर्षों में जहां नौ हजार छह सौ तैंतालीस महिलाओं ने नसबंदी ऑपरेशन करवाए हैं,वहीं अट्ठाइस पुरुष ही नसबंदी कराने को आगे आए हैं।
जनसंख्या वृद्धि को रोकने के उद्देश्य से परिवार नियोजन विभाग की ओर से वर्ष भर जागरुकता कार्यक्रम चलाए जाते हैं। आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां, आशा कार्यकत्रियां एवं स्वास्थ्य कार्यकर्ता ग्रामीण क्षेत्रों में भ्रमण करके लोगों को परिवार नियोजन के लिए प्रेरित करते हैं। इसके अलावा समय- समय पर जागरुकता गोष्ठियों के माध्यम से लोगों को जागरुक किया जाता है, लेकिन हैरानी की बात यह है कि इस जागरुकता का असर पुरुषों पर नहीं पड़ रहा है। जनपद मुख्यालय स्थित राजकीय प्रसवोत्तर केंद्र पर पिछले पांच वर्षों में हुए नसबंदी ऑपरेशन के आंकड़े इसका जीवंत उदाहरण है। प्रसवोत्तर केंद्र पर वर्ष 2008-09 में कुल सत्रह सौ सड़सठ नसबंदी ऑपरेशन हुए थे, इनमें पुरुषों की संख्या सात थी। इसी तरह वर्ष 2009-10 में अट्ठारह सौ तेइस नसबंदी ऑपरेशन किए गए, जिनमें तीन पुरुष शामिल थे। वर्ष 2010-11 में बाइस सौ बारह नसबंदी ऑपरेशन हुए, जिनमें ग्यारह पुरुष शामिल थे। वर्ष 2011-12 में पच्चीस सौ उनचास नसंबदी ऑपरेशन हुए, जिनमें छह पुरुष शामिल थे एवं वर्ष 2012-13 में अब तक प्रसवोत्तर केंद्र पर तेरह सौ बीस ऑपरेशन हो चुके हैं। इनमें पुरुषों की संख्या महज एक है। इस तरह पिछले पांच वर्षों में नगर क्षेत्र की नौ हजार छह सौ तैंतालीस महिलाएं नसबंदी करा चुकी हैं, वहीं अट्ठाइस पुरुषों ने ही अपनी नसबंदी कराई है। जिला महिला चिकित्सालय के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा. एचसी चौहान कहते हैं कि पुरुषों को भी नसबंदी कराने के लिए प्रेरित किया जाता है, लेकिन उनकी अपेक्षा महिलाएं जल्दी तैयार हो जाती हैं। इसके लिए उन्हें प्रोत्साहन राशि भी दी जाती है। सीएमएस कहते हैं कि इसी तरह परिवार नियोजन अपनाने वालों में अल्पसंख्यकों की संख्या भी नगण्य है।

Spotlight

Related Videos

झांसी में हारे हुए प्रत्याशी ने नवनिर्वाचित पार्षद को मारी गोली

झांसी में नवनिर्वाचित निर्दलीय प्रत्याशी अनिल सोनी को गोली मार दी गई। गोली हारने वाले निर्दलिय प्रत्याशी मोहित चौहान ने मारी है। बता दें गोली जीते हुए प्रत्याशी अनिल सोनी के सिर से छूते हुए निकली। फिलहाल अनिल सोनी की हालत स्थिर बनी हुई है।

2 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper