ब्रह्मचारिणी ने की आत्महत्या

Lalitpur Updated Sat, 01 Dec 2012 12:00 PM IST
ललितपुर। नईबस्ती स्थित पार्श्वनाथ जैन मंदिर में स्थित एक कुएं में ब्रह्मचारिणी का शव उतराता मिला। ब्रह्मचारिणी ने किन कारणाें के चलते यह आत्मघाती कदम उठाया है? इस सवाल का जवाब मृतका के परिजनों के पास भी नहीं है।
नईबस्ती में गुल्लन की चक्की के पास रहने वाले गोकुलचंद जैन की सबसे छोटी पुत्री रानी (26) ने करीब दस वर्ष पूर्व ब्रह्मचर्य व्रत ले लिया था, तभी से उसका अधिकांश समय जैन मुनियों एवं आर्यिका माताजी के संघ के सानिध्य में ही गुजरता था। मौजूदा समय में वह जयपुर में विद्याश्री माताजी के सानिध्य में थी, पिछले माह वह अपने घर आई थी। रानी केभाई सोनू ने बताया कि बृहस्पतिवार सुबह सात बजे उसकी बहन मंदिर जाने की कहकर घर से निकली। दोपहर तक वह वापस नहीं लौटी तो उसे सभी मंदिरों में तलाश किया गया, लेकिन रानी का कहीं पता नहीं चला। शुक्रवार सुबह करीब साढ़े छह बजे नईबस्ती स्थित पार्श्वनाथ जैन मंदिर के पुजारी राजीव जैन को मंदिर के द्वार के बगल में बने कुएं में सफेद रंग की साड़ी उतराती देखी। उसने इसकी जानकारी मंदिर प्रबंधक कैलाश सर्राफ को दी। प्रबंधक ने पुलिस को दी। मौके पर पहुंचे नईबस्ती चौकी इंचार्ज मानसिंह पाल कुएं से रानी का शव बाहर निकलवाया, जिसे देख सभी की आंखे फटी रह गईं। घटनास्थल के हालात से यह स्पष्ट हो चुका था कि मामला हादसे का नहीं, बल्कि कुछ और है, क्योंकि जिस कुएं से रानी का शव बरामद किया गया, वह चारों ओर से लोहे के जाल से ढंका हुआ है और उसमें दुर्घटनावश गिरने की कोई संभावना नहीं थी। कारणों का पता लगाने केलिए मृतका के शव का पोस्टमार्टम कराया गया, जिसमें पानी में डूबने से ब्रह्मचारिणी की मौत की पुष्टि हुई। उसके बाह्य व आंतरिक शरीर में चोट का कोई निशान नहीं पाया गया है। अब पुलिस यह पता लगाने में जुटी है कि ब्रह्मचारिणी ने किन कारणों के चलते आत्मघाती कदम उठाया।
--


मौत के मामले में उठ रहे अनेक सवाल!
ब्रह्मचारिणी की मौत के मामले में अनेक सवाल उठ रहे हैं, मसलन जिस समय रानी मंदिर दर्शनों को गई थी, उस समय विमानोत्सव की वापसी को लेकर मंदिर परिसर में काफी चहल पहल थी, लेकिन मंदिर के पुजारी राजीव उर्फ राजू जैन एवं माली दमरूलाल का कहना है कि उसको मंदिर परिसर में किसी ने नहीं देखा। मंदिर प्रबंधक कैलाश सर्राफ का कहना है कि रानी इस मंदिर में दर्शन को नहीं आती थी। ऐसे में सवाल है कि ब्रह्मचारिणी घर से निकलने केबाद कहां गई थी और कब इस मंदिर में बने कुएं की गहराई में समां गई। इसके अलावा रानी के परिजनों का कहना है कि वह बृहस्पतिवार सुबह छह बजे घर से निकली थी, जबकि उसके हाथ में बंधी घड़ी तीन बजकर 45 मिनिट पर बंद हुई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक रानी की मौत शव बरामद होने से एक दिन पूर्व हुई होगी। यह सभी ऐसे अनसुलझे सवाल हैं, जिनके जबाव पुलिस को खंगालने हाेंगे।

Spotlight

Most Read

Gorakhpur

पद्मावत फिल्म का प्रदर्शन रोकने को सड़क पर उतरी करणी सेना

पद्मावत फिल्म का प्रदर्शन रोकने को सड़क पर उतरी करणी सेना

22 जनवरी 2018

Related Videos

झांसी में हारे हुए प्रत्याशी ने नवनिर्वाचित पार्षद को मारी गोली

झांसी में नवनिर्वाचित निर्दलीय प्रत्याशी अनिल सोनी को गोली मार दी गई। गोली हारने वाले निर्दलिय प्रत्याशी मोहित चौहान ने मारी है। बता दें गोली जीते हुए प्रत्याशी अनिल सोनी के सिर से छूते हुए निकली। फिलहाल अनिल सोनी की हालत स्थिर बनी हुई है।

2 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper