जागरूकता ही एड्स से बचाव

Lalitpur Updated Sat, 01 Dec 2012 12:00 PM IST
ललितपुर। विश्व एड्स दिवस की पूर्व संध्या पर एड्स के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए कलेक्ट्रेट परिसर में मोमबत्ती प्रज्ज्वलन कार्यक्रम किया गया।
जिलाधिकारी रणवीर प्रसाद ने मोमबत्ती जलाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि एड्स एक लाइलाज बीमारी है। लोगों को इस बीमारी के प्रति जागरूक रहना चाहिए। लोग एक दूसरे को इस बीमारी के बारे में जानकारी दें ताकि इसको बढ़ने से रोका जा सके। जिला क्षयरोग व जिला एड्स कार्यक्रम अधिकारी डा. सत्येंद्र कुमार ने 2012 के विश्व एड्स दिवस कार्यक्रम की थीम शून्य नए एचआईवी संक्रमण, शून्य भेदभाव, एवं शून्य एड्स को पढ़ा। इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. आरसी निरंजन, प्रभारी मुख्य विकास अधिकारी शंभूनाथ तिवारी, उपजिलाधिकारी सदर आनंद स्वरूप, उप जिलाधिकारी महरौनी जीएल शुक्ल, जिला विद्यालय निरीक्षक दीपचंद्र, जिला सूचना अधिकारी सुधीर कुमार, जेपी सुड़ेले, जनक किशोरी, स्नेहलता, कीर्ति शुक्ला, छवि श्रीवास्तव सहित शिक्षक व विद्यार्थियों ने भाग लिया।


जागरूकता रैली आज
ललितपुर। जिला एड्स नियंत्रण सोसाएटी के तत्वावधान में शनिवार को विश्व एड्स दिवस पर तुवन मंदिर प्रांगण से जन जागरूकता रैली निकाली जाएगी, जिसे जिलाधिकारी रणवीर प्रसाद हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे।


जिले में 42 लोग एचआईवी पॉजिटिव
ललितपुर। मजदूरी के लिए महानगर जाने वाले मजदूर अपने साथ एड्स ला रहे हैं। संयुक्त जिला चिकित्सालय में संचालित आईसीटीसी व महिला चिकित्सालय में संचालित पीपीटीसीटी सेंटर में अब तक 42 लोग एचआईवी पॉजीटिव चिन्हित किए गए हैं, इनमें एक दर्जन महिलाएं भी शामिल हैं।
जनपद में एचआईवी की जांच व चिह्नित किए गए लोगों को उपचार से जोड़ने के लिए संयुक्त जिला चिकित्सालय में आईसीटीसी व पीपीटीसी संचालित किया जा रहा है। आईसीटीसी में संभावित मरीजों को एचआईवी जांच के लिए भेजा जाता है, जबकि पीपीटीसीटी में गर्भवती महिलाओं की एचआईवी जांच की जाती है। आईसीटीसी के आंकड़ों पर गौर करें तो 2010 से अब तक 6500 मरीजों की जांच की गईं, जिसमें 35 मरीज पॉजिटिव पाए गए। ऐसे मरीजों की हर छह महीने में मेडिकल कालेज झांसी स्थित एआरटी सेंटर में सीडी 4 जांच कराई जा रही है, जिसमें इस बात का पता लगाया जाता है कि दवाओं के सेवन से मरीजों में कितना सुधार हो रहा है। वहीं, गर्भवती महिलाओं के लिए संचालित पीपीटीसीटी सेंटर के अनुसार 2007 से नवंबर 2012 तक एक दर्जन महिलाओं में पॉजिटिव के केस पाए गए। नए वित्तीय वर्ष में दो केस पॉजिटिव पाए गए हैं। महत्वपूर्ण बात यह है कि एचआईवी पॉजिटिव मरीजों में अधिकांश वे लोग हैं, जो मजदूरी की तलाश में महानगरों की ओर कूच कर जाते हैं और एचआईवी ग्रसित महिलाएं भी ऐसे ही व्यक्तियों से संबंधित हैं।



लाइलाज बीमारी के प्रति जागरूक रहें लोग
‘एड्स लाइलाज बीमारी है। जागरूकता ही बचाव है। लोगों को अपने खून की जांच करवानी चाहिए। जिससे शरीर में होने वाले छोटे से छोटे रोगों के बारे में जानकारी मिल सके। साथ ही कभी भी असुरक्षित यौन संबंध नहीं बनाना चाहिए।’
डा. सत्येंद्र कुमार, जिला एड्स कार्यक्रम अधिकारी, ललितपुर
--
एचआईवी जांच में बरती जा रही उदासीनता
जिला महिला चिकित्सालय चिकित्सालय मेें संचालित पीपीटीसीटी में प्रत्येक महिला का एचआईवी पंजीकरण आवश्यक है, लेकिन अधिकांश आशा कार्यकत्रियां जल्दबाजी के चक्कर में गर्भवती महिलाओं का एचआईवी टेस्ट नहीं करा रही हैं। सूत्रों की माने तो मौजूदा समय में 70 फीसदी गर्भवती महिलाओं की एचआईवी जांच नहीं कराई जा रही है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

भयंकर हादसे के शिकार युवक ने योगी से लगाई मदद की गुहार, सीएम ने ट्विटर पर ये दिया जवाब

दुर्घटना में रीढ़ की हड्डी टूटने से लकवा के शिकार युवक आशीष तिवारी की गुहार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुनी ली। योगी ने खुद ट्वीट कर उसे मदद का भरोसा दिलाया और जिला प्रशासन को निर्देश दिया।

20 जनवरी 2018

Related Videos

झांसी में हारे हुए प्रत्याशी ने नवनिर्वाचित पार्षद को मारी गोली

झांसी में नवनिर्वाचित निर्दलीय प्रत्याशी अनिल सोनी को गोली मार दी गई। गोली हारने वाले निर्दलिय प्रत्याशी मोहित चौहान ने मारी है। बता दें गोली जीते हुए प्रत्याशी अनिल सोनी के सिर से छूते हुए निकली। फिलहाल अनिल सोनी की हालत स्थिर बनी हुई है।

2 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper