रामगंगा कमांड के अधिकारियों की लगाई क्लास

Lalitpur Updated Sat, 24 Nov 2012 12:00 PM IST
तालबेहट (ललितपुर)। नेशनल रेनफेड एरिया अथारिटी प्लानिंग कमीशन के सीईओ डा. जेएस सामरा ने शुक्रवार को तालबेहट तहसील क्षेत्र में बुंदेलखंड पैकेज से कराए गए कार्यों को देखा। उन्होंने पीडब्लूडी निरीक्षण गृह में किसानों से इन कार्यों की जानकरी ली। किसानों ने रामगंगा कमांड द्वारा कराए गए कार्यों पर कई कमियां बताते हुए टेल तक नहरों का पानी ने मिलने की बात कही। जिस पर उन्होंने अधिकारियों को तालबेहट क्षेत्र में सम्पूर्ण एलआरसी एवं डीवाई की लाइनिंग कराने के निर्देश दिए।
भ्रमण के दारौन उन्होंने हनुपुरा में नेशनल डेयरी डेवलपमेंट बोर्ड द्वारा बनाई गए मिल्क चिली प्लांट को देखा। ककड़ारी में आईसीडी तृतीय द्वारा कराए गए लाइनिंग के कार्य को देखा। उन्होंने कहा कि लाइनिंग के बाद भी नहरों से पानी का रिसाव होना ठीक नहीं है। उन्होंने रामगंगा कमांड द्वारा बनाई गई गूलों के कार्य को देखा और काफी नाराजगी जताई।
पीडब्लूडी निरीक्षण गृह में उन्होंने सबसे पहले कुलावा समिति के सदस्यों से बात करना चाही, परन्तु वहां रामगंगा कमांड द्वारा कुलाबा समिति के सदस्यों को कोई सूचना ही नहीं दी गई थी। जिससे वह उनसे बात न कर सके। विकास खंड बिरधा के ग्राम टेनगा निवासी वीरन यादव ने मनरेगा का कार्य ट्रैक्टर से कराने की शिकायत की, जिस पर उन्होंने जिलाधिकारी सेे इस मामले को स्वयं देखने के निर्देश दिए। कडे़सराकलां के ग्राम प्रधान प्रतिनिधि देव सिंह सहित अन्य किसानों ने बताया कि क्षेत्र में नहरों का पानी टेल के किसानों को नहीं मिल रहा है, जबकि उन्हें सीच हर बार देना पड़ रही है। इस मौके पर किसानों ने राम गंगा कमांड के द्वारा बनाई गई गूलों की गुणवत्ता की भी शिकायत की। ग्राम बिजरौठा, रारा, राजपुर कोटरा आदि गांव के किसानों ने कई स्थानों पर कुलाब न बनाए जाने एवं गूलों की गुणवत्ता की शिकायत की, जिस पर उन्होंने रामगंगा कमांड के अधिकारियों एवं सिचाई निर्माण खंड तृतीय के अधिकारियों की जमकर खबर ली। रारा के ग्रामीणों ने नहर से पानी पहुंचाने की मांग की।
इस मौके पर जिलाधिकारी रणवीर प्रसाद, मुख्य विकास अधिकारी केसी र्स्वणकार, जिला विकास अधिकारी शम्भूनाथ तिवारी, उपजिलाधिकारी रामचन्द्र सरोज, अधिशासी अभिंयता आईसीडी तृतीय, अधिशासी अभियंता लघु सिंचाई, शंकर दीन डीडीओ रामगंगा कमांड, खंड विकास अधिकारी प्रदीप कुमार पांडेय, दीनानाथ राम सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।


सीईओ ने रामगंगा के कार्य को बताया खराब
तालबेहट (ललितपुर)। केन्द्र सरकार ने बुंदेलखंड के लिए पहली किस्त में 1005 करोड़ रुपये दिए थे। मेरे पास धनराशि खर्च होने के जो आंकड़े हैं, उसके अनुसार अभी तक मात्र 17 फीसद राशि ही खर्च हुई है। ऐसे में दूसरी किस्त देना उचित नहीं है। यह बाद नेशनल रेनफेड एरिया अथारिटी प्लानिंग कमीशन के सीईओ डा. जेएस सामरा ने पत्रकारों से कही।
एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि बकरी पालन योजना में पशु पालन विभाग के कुछ अधिकारियों की लापरवाही के कारण किसानों को परेशानी उठानी पड़ी। इस योजना में मृत बकरियों में 63 फीसदी पशु पालकों को बीमा राशि दी जा चुकी है। सैदपुर फार्म में तो वहां का प्रभारी जानवरों को निर्धारित मात्रा से काफी कम भोजन दे रहा है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में वह प्रमुख सचिव को कार्रवाई के लिए पत्र लिखेंगे। डा. सामरा ने कहा कि नेशनल डेयरी डेवलपमेंट बोर्ड का कार्य काफी अच्छी है, जबकि रामगंगा कमांड का कार्य सबसे खराब है। उन्होंने कहा कि पता ही नहीं लगता है कि रामगंगा कमांड के अधिकारी कैसे काम कर रहे है


आईसीडी थर्ड के कार्यों की फोटोग्राफ देखकर की समीक्षा
तालबेहट (ललितपुर)। डा. सामरा ने निरीक्षण गृह में सिंचाई निर्माण खंड तृतीय के अधिशासी अभियंता विनय कुमार श्रीवास्तव से नहरों में कराए गए कार्यों के बारे में जानकारी ली। उन्होंने नहर में कराए गए कार्यों के फोटो भी देखे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

झांसी में हारे हुए प्रत्याशी ने नवनिर्वाचित पार्षद को मारी गोली

झांसी में नवनिर्वाचित निर्दलीय प्रत्याशी अनिल सोनी को गोली मार दी गई। गोली हारने वाले निर्दलिय प्रत्याशी मोहित चौहान ने मारी है। बता दें गोली जीते हुए प्रत्याशी अनिल सोनी के सिर से छूते हुए निकली। फिलहाल अनिल सोनी की हालत स्थिर बनी हुई है।

2 दिसंबर 2017