असुरों का नाश करने को जन्म लेते प्रभु: बापू

Lalitpur Updated Wed, 31 Oct 2012 12:00 PM IST
ललितपुर। श्रीराम कथा सेवा समिति के तत्वावधान में आयोजित श्रीराम कथा के तीसरे दिन संत बाल मुरारी बापू ने मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम के जन्म की कथा सुनाई। भगवान का जन्म होते ही पांडाल में मौजूद श्रोताओं ने जय श्रीराम का जयघोष किया।
बापू ने कहा कि भक्ति का मूल तत्व भाव है, इससे पत्थर में भी परमात्मा के दर्शन किए जा सकते हैं। भगवान श्रीराम तो कण-कण में व्याप्त हैं, उनके बिना संसार नहीं चल सकता है। सबको प्रकाशमान करने वाले प्रभु ही हैं। समाज में धर्म की स्थापना व आसुरी शक्तियों के विनाश के लिए भगवान अनेक बार विविध रूपों में जन्म लिया। उन्होंने कथा को आगे बढ़ाते हुए कहा कि संसार में बुद्धिवादी, बुद्धिजीवी और बुद्धि योगी तीन प्रकार के लोग होते हैं। बुद्धि योगी भगवान की साधना से बनते हैं। उन्होंने भगवान शिव व पार्वती के विवाह की कथा सुनाते हुए कहा कि हिमांचल की पुत्री पार्वती भगवान को पाने के लिए कठिन तप करतीं हैं तथा भगवान शिव को प्रसन्न करके इच्छित फल प्राप्त करतीं हैं। बाद में उनके साथ शिव का विवाह होता है। कैलाश पर्वत पर बैठकर भगवान शिव ने श्रीराम कथा के माध्यम से पार्वती जी की जिज्ञासा का समाधान किया। शिवजी ने कहा कि प्रभु श्रीराम ही इस सृष्टि का संचालन कर रहे हैं, वे ही निर्गुण रूपी भक्तों के प्रेम के वशीभूत होकर सगुण रुप धारण करते हैं। गोस्वामी तुलसीदास ने रामचरित मानस में भगवान श्रीराम के जन्म से लेकर चौदह वर्ष का वनवास और अयोध्या वापसी का सुंदर वर्णन किया है। उन्होंने कहा कि जीवन में तप का बहुत महत्व है, जिससे सृष्टि का संचालन होता है। हमारे धर्म ग्रंथों में नीर और छीर दो प्रकार के सागरों का उल्लेख है। नीर सागर का जल खारा होने के कारण यह किसी के काम का नहीं है, जबकि छीर सागर में भगवान निवास करते हैं, इसलिए यह जल सभी के लिए पीने योग्य है। उन्होंने अहंकार को जीवन का सबसे बड़ा शत्रु बताते हुए कहा कि यही प्रभु और हमारे बीच सबसे बड़ा रोड़ा है। यह हमको दुर्गति की ओर ले जाता है। इसको रोकना बहुत जरूरी है। यजमान जे के सिंह तोमर को श्रीराम जन्म के अवसर पर आरती उतारने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। भगवान श्रीराम की कथा का रसपान करने के लिए शहर भर से महिला पुरुष भाग ले रहे हैं।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

RLA चंडीगढ़ में फिर गलने लगी दलालों की दाल, ऐसे फांस रहे शिकार

रजिस्टरिंग एंड लाइसेंसिंग अथॉरिटी (आरएलए) सेक्टर-17 में एक बार फिर दलाल सक्रिय हो गए हैं, जो तरह-तरह के तरीकों से शिकार को फांस रहे हैं।

21 जनवरी 2018

Related Videos

झांसी में हारे हुए प्रत्याशी ने नवनिर्वाचित पार्षद को मारी गोली

झांसी में नवनिर्वाचित निर्दलीय प्रत्याशी अनिल सोनी को गोली मार दी गई। गोली हारने वाले निर्दलिय प्रत्याशी मोहित चौहान ने मारी है। बता दें गोली जीते हुए प्रत्याशी अनिल सोनी के सिर से छूते हुए निकली। फिलहाल अनिल सोनी की हालत स्थिर बनी हुई है।

2 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper