बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

अतिक्रमण में गुम हो गए पार्किंग स्थल

Lalitpur Updated Mon, 15 Oct 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
ललितपुर। नगर सीमा में फर्राट भरने वाली टैक्सियों व आपे के लिए सड़क किनारे बनाए गए पार्किंग स्थल अतिक्रमण में गुम हो गए हैं। ऐसे में तीन पहिया वाहन सड़कों पर बेतरतीब ढंग से खड़े होकर सवारियां बिठाने को मजबूर हैं। इससे यातायात तो बाधित होता ही है, साथ में आए दिन दुर्घटनाएं भी घटित होती हैं। समस्या अहम है पर नगर पालिका परिषद अधिकारी व पुलिस इस ओर ध्यान ही नहीं देती।
विज्ञापन

नगर सीमा के भीतर प्रतिदिन हजारों सवारियों को टैक्सियां व आपे गंतव्य तक पहुंचाती हैं। सवारियों को बिठाने के लिए नगर पालिका परिषद ने नझाई बाजार गेट के पास, सदर कांटा इंटेलीजेंस ब्यूरो आफिस के सामने, नगर पालिका परिषद घंटाघर के पास, डाकघर, शहजाद पुल, जेल तिराहा, नवीन गल्ला मंडी के पास तिपहिया वाहन पार्किंग स्थल बना रखे हैं। सभी स्थानों पर नगर पालिका परिषद ने बाकायदा पार्किंग बोर्ड भी लगाया हुआ है। नियमानुसार तिपहिया वाहनों को इन्हीं पार्किंग स्थलों पर ही वाहन खड़े करने चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं होता है। कारण, नगर सीमा के भीतर बनाए गए तिपहिया पार्किंग स्थलों पर अतिक्रमण हो गया है। किसी पार्किंग स्थल के पास फलों के ठेले आबाद हैं, तो कहीं चाट पकौड़ी की दुकान सजी रहती है। कई पार्किंग स्थलों के नीचे दिनभर सब्जी बेची जाती है। इन हालातों में टैक्सी व आपे चालक पार्किंग स्थल के पास सड़क पर तिपहिया वाहन खड़े कर देते हैं। एक साथ कई वाहन खड़े होने से यातायात व्यवस्था बुरी तरह से बाधित हो जाती है। कई बार तीस फुट चौड़ी सड़क पर अन्य वाहन चालकों को दस फुट जगह भी नहीं मिलती। ऐसे में जाम की स्थिति बन आती है। नगर पालिका द्वारा स्टैंड के नाम पर शुल्क नियमित वसूला जा रहा है, लेकिन स्टैंड की सुविधा आटों टैक्सी चालकों को नहीं मिल पा रही हैं।




बोले टैक्सी चालक
नहीं मिलती वाहन को जगह
पार्किंग शुल्क देने के बाद भी हम लोगों को वाहन लगाने की जगह नहीं मिलती है, जिससे कई बार मजबूरी में इधर-उधर वाहन खड़े करने पड़ते हैं। इन हालातों में कई बार आरटीओ की कार्रवाई के भी शिकार हो जाते हैं।
जाफिर अली, टैक्सी चालक आजादपुरा

नपा व पुलिस करे कार्रवाई
वाहनों से हर रोज तीन रुपये टैक्स वसूलने वाली नगर पालिका परिषद व पुलिस को वाहन स्टैंड पर कब्जा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। सड़क किनारे आपे व टैक्सी खड़ी करने पर कोई भी पुलिस कर्मी वाहन में डंडा मार देता है पर अतिक्रमणकारियों से कोई कुछ नहीं कहता।
श्यामलाल, टैक्सी चालक, रामनगर

दुकानदारों से होती लड़ाई
तिपहिया टैक्सी स्टैंड पर छोटे दुकानदारों एवं हाथ ठेलों ने कब्जा कर लिया है। कई बार टैक्सी खड़ी करने के चक्कर में उनसे वाहन चालकों की लड़ाई हो जाती है। मामला पुलिस तक पहुंचने पर बिना गलती के टैक्सी चालकों को कोर्ट-कचहरी के चक्कर भी लगाने पड़ जाते हैं।
मोतीलाल रायकवार टैक्सी चालक, आजादपुरा।


बहुत होती दिक्कत
सड़क किनारे तिपहिया वाहन खड़ा करने में हर रोज चालकों को मशक्कत करनी पड़ती है। निश्चित स्थानों पर कब्जा करने वाले ही टैक्सी चालकों को मौके से भगा देते हैं। अन्य स्थानों पर भी उन्हें वाहन नहीं खड़ा करने दिया जाता। इन हालातों में चालकों को बहुत दिक्कत होती है।
हरिप्रकाश शर्मा टैक्सी चालक, सुरईघाट कालोनी


इनका कहना है
तिपहिया वाहन पार्किंग स्थलों पर अतिक्रमण बड़ी समस्या है। पार्किंग स्थलों को चिह्नित करवाकर प्रशासनिक अधिकारियों की मदद से अतिक्रमण हटाया जाएगा, ताकि तिपहिया वाहन निश्चित स्थानों पर खड़े हो सकें।
सुभाष जायसवाल
अध्यक्ष नगर पालिका परिषद

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X