विकास नहीं तो टैक्स किस बात का ?

Lalitpur Updated Sat, 06 Oct 2012 12:00 PM IST
लीड------

ललितपुर। नगर पालिका सीमा विवाद के खिलाफ अब आम जनता सड़कों पर आने लगी है। नपा क्षेत्र से बाहर माने जा रहे मोहल्लों में विकास कार्य न कराने के निर्णय का विरोध क्षेत्रीय पार्षद की अगुवाई में शुरू हो गया है। वार्ड नंबर 06 नेहरू नगर सिद्धपुरा व वार्ड नंबर 04 नेहरू नगर के निवासियों ने विकास कार्य न कराए जाने की स्थिति में गृहकर देने से साफ इनकार कर दिया है। नागरिकों का कहना है कि विकास नहीं तो टैक्स किस बात का?
मालूम हो कि नगर पालिका परिषद के पिछले बोर्ड ने नगर सीमा के बाहर स्थित भवनों को न केवल गृहकर के दायरे में शामिल कर लिया, बल्कि विकास कार्य भी कराए। यही नहीं यहां रहने वाले लोगों को नगर की मतदाता सूची में भी शामिल किया गया, इन मतदाताओं ने वर्तमान बोर्ड के गठन में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। वार्ड नंबर 06 नेहरू नगर सिद्धपुरा व वार्ड नंबर 04 नेहरू नगर स्थित सैकड़ों भवन स्वामियों से लगातार गृहकर वसूला जाता रहा। वर्तमान बोर्ड के गठित होते ही नगर सीमा का मुद्दा गरमा गया। नेहरू नगर रेलवे ट्रैक से 220 गज नगर की सीमा मानी गई है। इस सीमांकन के हिसाब से सैकड़ों भवन नगर की सीमा से बाहर हो गए। पिछली बोर्ड बैठक के दौरान सीमा के बाहर के विकास कार्यों के प्रस्ताव खारिज कर दिए गए। नगर पालिका जहां इन इलाकों को ग्राम सभा का मानकर चल रही है, वहीं इस क्षेत्र में रहने वाले लोगों ने ग्राम प्रधान की बजाय पार्षद व नपा अध्यक्ष के चुनाव में मतदान किया। सीमा के झंझट में फंसकर क्षेत्र का विकास कार्य ठप पड़ गया। मार्ग अधूरे पड़े हुए हैं। सफाई व्यवस्था प्रभावित हो गई है। हैंडपंप भी खराब पड़े हैं।



टैक्स देने के बाद भी नहीं मान रहे सीमा में
ललितपुर। वार्ड नंबर छह में रहने वाले मुनीर खान का कहना है कि इस क्षेत्र के लोगों के साथ अफसरों द्वारा मजाक किया जा रहा है। गृहकर व जलकर देने के बाद भी उन्हें नगर सीमा में शामिल नहीं माना जा रहा है। सीमा के पेच की वजह से क्षेत्र का विकास प्रभावित हो रहा है, अब वे गृहकर नहीं देंगे।


मतदाता सूची से नाम हटाएं
ललितपुर। वार्ड नंबर छह के निवासी हरनारायण कुशवाहा ने बताया है कि अगर उनके आवासों को नगर पालिका की सीमा के बाहर मान लिया गया है तो नगर की मतदाता सूची से उनके नाम हटा दिए जाने चाहिए तथा संबंधित ग्राम सभा की मतदाता सूची में नाम अंकित करने चाहिए। गृहकर भी ग्राम पंचायत को लेना चाहिए।


सफाई व्यवस्था पर पड़ा असर
ललितपुर। वार्ड नंबर चार में रहने वाली गृहणी राजकुमारी ने बताया है कि उनके मोहल्ले को नगर सीमा से बाहर किए जाने के बाद उनके क्षेत्र में सफाई व्यवस्था भी प्रभावित हो गई है। सड़क किनारे जगह- जगह कूड़े के ढेर लग गए हैं। यही नहीं नालियां भी बजबजाने लगी हैं, ऐसे में गृहकर देने से क्या फायदा?


नगर है कि देहात पता नहीं?
ललितपुर। वार्ड नंबर चार में रहने वाले इमाम बख्श का कहना है कि नगर सीमा से बाहर होने के बाद वह नगरवासी हैं कि ग्रामवासी पता नहीं चल रहा है। नगर पालिका परिषद अधिकारियों व प्रशासनिक अफसरों को इस मुहल्ले में शिविर लगाकर स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए, इसके बाद ही तय हो सकेगा कि हाउस टैक्स कहां जमा कराएं?


किसे बताएं समस्याएं
ललितपुर। वार्ड नंबर छह में रहने वाले यूसुफ खान का कहना है कि बिजली, पानी, सड़क, मार्ग व प्रकाश आदि की समस्याएं किसे बताएं। अभी तक यह तय नहीं है कि समस्या नपा सुनेगी या ग्रामसभा। खान का कहना है कि अगर स्थिति स्पष्ट नहीं होती है तो वे गृहकर जमा नहीं करेंगे।



असमंजस की स्थिति
ललितपुर। वार्ड नंबर छह में रहने वाले नंदकिशोर ने बताया है कि नगर सीमा से बाहर घोषित किए जाने के बाद उन लोगों के सामने असमंजस की स्थिति खड़ी हो गई है। विकास के साथ- साथ जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाने के लिए उन्हें कहां जाना पड़ेगा, यह मालूम नहीं है तथा कोई बताने वाला भी नहीं है।



नपा पहले भी नहीं सुनती थी समस्याएं
ललितपुर। वार्ड नंबर छह के निवासी हर प्रसाद रायकवार ने बताया है कि नगर पालिका परिषद पहले भी उनकी समस्याओं पर ध्यान नहीं देती थी। उनका मोहल्ला नगर सीमा के अंदर रहे या बाहर उससे कोई खास फर्क नहीं पड़ता। लेकिन, अब गृहकर जमा करने से तो फुर्सत मिल गई।


इनका कहना है
नगर पालिका परिषद ने जब गृहकर वसूलना शुरू किया था तभी उसको सीमा का ध्यान रखना चाहिए था। मतदाता सूची में नाम दर्ज करने और जमीन खरीद फरोख्त के दौरान तो प्रशासनिक अधिकारियों ने स्टांप ड्यूटी नगर सीमा के हिसाब से वसूली और विकास की बात करने पर क्षेत्र को नगर सीमा के बाहर बताया जा रहा है, यह सरासर गलत है। अफसरों के इस तरह के रवैये को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जनता को साथ लेकर लड़ाई लड़ी जाएगी।
कमल सिंह यादव
पार्षद वार्ड नंबर 04
सिद्धपुरा नेहरू नगर


नगर पालिका परिषद चुनाव के दौरान प्रशासन ने मतदाता सूची तैयार करवाई थी, इसमें क्षेत्र की जनता के नाम शामिल थे, लोगों ने मतदान करके इस क्षेत्र का पार्षद भी चुना था। चुनाव के बाद अब नगर सीमा के संबंध में जानकारी दी जा रही है, जो कि चुनाव के पहले दी जानी चाहिए थी ताकि पार्षद की जवाबदेही खत्म हो जाती। विकास कार्य बंद हो जाने के कारण अब जनता पार्षद से सवाल करती है, जिसका जवाब देना मुश्किल हो रहा है। अगर जल्द ही समस्या का समाधान नहीं हुआ तो जनता के साथ आंदोलन किया जाएगा।
विवेक कुमार दरौनिया
पार्षद वार्ड नंबर 06
नेहरू नगर

Spotlight

Most Read

Lucknow

अखिलेश यादव का तंज, ...ताकि पकौड़ा तलने को नौकरी के बराबर मानें लोग

यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह पर निशाना साधा और कहा कि भाजपा देश की सोच को अवैज्ञानिक बताना चाहती है।

22 जनवरी 2018

Related Videos

झांसी में हारे हुए प्रत्याशी ने नवनिर्वाचित पार्षद को मारी गोली

झांसी में नवनिर्वाचित निर्दलीय प्रत्याशी अनिल सोनी को गोली मार दी गई। गोली हारने वाले निर्दलिय प्रत्याशी मोहित चौहान ने मारी है। बता दें गोली जीते हुए प्रत्याशी अनिल सोनी के सिर से छूते हुए निकली। फिलहाल अनिल सोनी की हालत स्थिर बनी हुई है।

2 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper