शराब बंदी के लिए आगे आईं महिलाएं

Lalitpur Updated Wed, 29 Aug 2012 12:00 PM IST
तालबेहट (ललितपुर)। बांदा व चित्रकूट में सक्रिय गुलाबी गैंग की तर्ज पर विकासखंड तालबेहट के ग्राम तरगुवां की महिलाओं ने क्षेत्र में बिकने वाली अवैध शराब और गांव के शराबियों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने न सिर्फ जलूस निकाला, बल्कि पुलिस अफसर को ज्ञापन देकर शराबियों व शराब बिक्री पर रोक लगाने की मांग की। इनमें से कई महिलाओं के पति भी शराबी हैं। उनकी इस अनूठी पहल को देख अफसरों ने तारीफ की।
तहसील मुख्यालय से लगभग दो किमी दूर स्थित ग्राम तरग़ुवां की करीब आधा सैकड़ा महिलाएं मंगलवार को पूर्वाह्न करीब ग्यारह बजे जलूस के रूप में गांव से नारेबाजी करते हुए निकलीं व तहसील परिसर पहुंचीं। उनका कहना था कि गांव के अधिकांश युवक शराब पीने के आदी है। उनमें से कई उनके पति, भाई और बेटे हैं। लेकिन, वह मर्यादा भूलकर शराब के नशे में बहक जाते हैं तथा महिलाओं के साथ बदतमीजी एवं अभद्रता करते हैं। जब पत्नियां उनकी हरकतों का विरोध करती हैं तो वह मारपीट करने पर आमादा हो जाते हैं। इससे न केवल उनकी गृहस्थी बरबाद हो रही है, बल्कि बच्चों पर भी बुरा असर पड़ रहा है। साथ ही आर्थिक नुकसान हो रहा है। शराब के लती हो जाने के कारण कई युवक कम उम्र में गंभीर बीमारियों से ग्रसित हो गए हैं। कई बार पुलिस से शिकायत की गई, लेकिन महिलाओं की कोई मदद नहीं की जा रही है। उन्होंने इसका सबसे बड़ा कारण गांव के पास में ही कबूतरा जाति की महिलाओं द्वारा सुबह से देर रात तक शराब का अवैध कारोबार करना बताया। उनका कहना था कि कच्ची शराब ने उनके घर तबाह कर दिए हैं। इस मौके पर उन्होंने निर्णय लिया कि अगर पुलिस व प्रशासन के अफसर उनकी बात नहीं सुनेंगे तो बड़ा आंदोलन चलाया जाएगा। बाद में उन्होंने पुलिस क्षेत्राधिकारी रामबदन सिंह को ज्ञापन देकर कबूतरा ब्रांड कच्ची शराब की बिक्री पर रोक लगाने की मांग की। सीओ ने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। इस मौके पर श्रीमती रीता, कमला देवी, रज्जो, रामवती, गीता, प्रेम, विद्या, प्रीति, फूलन देवी, कलावती, ज्योति, दुज्जी, काशीबाई सहित चार दर्जन से अधिक महिलाएं मौजूद रहीं।

कफ सीरप व बाम का उपयोग कर रहे नशेड़ी
तालबेहट (ललितपुर)। नशे की गिरफ्त में फंसी युवा पीढ़ी अपनी तलब पूरी करने के लिए नए- नए प्रयोग कर रही है। बांसी में नशे के लिए दवाओं का भी उपयोग किया जा रहा है। चौकी प्रभारी की रिपोर्ट पर एसडीएम ने सीएमओ को पत्र लिखकर नशेड़ियों को दवाई बेचने वाले मेडिकल स्टोरों की जांच कर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को कहा है।
बांसी चौकी प्रभारी अचल सिंह ने उपजिलाधिकारी रामचंद्र सरोज को सौंपी एक रिपोर्ट में अवगत कराया कि इस समय कस्बे के युवा खांसी की दवा के लिए उपयोग किए जाने वाले कुछ सीरप और दर्द मिटाने के काम आने वाले कुछ बाम को नशीली वस्तुओं की जगह उपयोग कर रहे हैं। मेडिकल स्टोर संचालक उक्त दवाओं की बिक्री बिना चिकित्सक की अनुमति के करके युवाओं के जीवन के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। मना करने के बाद भी वह अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। रिपोर्ट को गंभीरता से लेते हुए उपजिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को एक पत्र लिखकर मामले की जांच कराने एवं दोषी मेडिकल स्टोर संचालकों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा है। बताते चलें कि ‘अमर उजाला’ के पास चौकी प्रभारी की रिपोर्ट में बताए गए कफ सीरप, बाम के नाम और नशे के लिए उनके उपयोग करने के तरीके का भी ब्योरा है, लेकिन उसे उजागर करना उचित नहीं होगा।

Spotlight

Most Read

National

पाकिस्तान की तबाही के दो वीडियो जारी, तेल डिपो समेत हथियार भंडार नेस्तनाबूद

सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने पाकिस्तानी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है। भारत के जवाबी हमले में पाकिस्तान की कई फायरिंग पोजिशन, आयुध भंडार और फ्यूल डिपो को बीएसएफ ने उड़ा दिया है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

झांसी में हारे हुए प्रत्याशी ने नवनिर्वाचित पार्षद को मारी गोली

झांसी में नवनिर्वाचित निर्दलीय प्रत्याशी अनिल सोनी को गोली मार दी गई। गोली हारने वाले निर्दलिय प्रत्याशी मोहित चौहान ने मारी है। बता दें गोली जीते हुए प्रत्याशी अनिल सोनी के सिर से छूते हुए निकली। फिलहाल अनिल सोनी की हालत स्थिर बनी हुई है।

2 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper