विज्ञापन
विज्ञापन

सरकारी पैसे की लूट-खसोट में फंसी दो ग्राम प्रधानों की गर्दन

Bareily Bureauबरेली ब्यूरो Updated Fri, 19 Jul 2019 02:52 AM IST
ख़बर सुनें
लखीमपुर खीरी। ग्राम पंचायतों को मिलने वाली सरकारी धनराशि के लूट-खसोट में कुंभी (गोला) और लखीमपुर ब्लॉक के दो ग्राम प्रधानों की गर्दन फंसी है, जिनमें से अमीनरनगर प्रधान के खिलाफ बर्खास्तगी की कार्रवाई प्रारंभ हो गई है। प्रधान के वित्तीय पावर फरवरी 2019 में ही सीज किए जा चुके हैं। फरवरी कुंभी की ग्राम पंचायत अमीरनगर की प्रधान ताहिरा बेगम पर 3,71,458 रुपये गबन के आरोप की पुष्टि होने के बाद डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने बर्खास्तगी के साथ ही गबन की धनराशि की वसूली भू-राजस्व की भांति कराने की चेतावनी देते हुए जवाब तलब किया है। वहीं लखीमपुर की ग्राम पंचायत भंसड़िया की प्रधान ऊषा देवी भी 21,724 रुपये की हेराफेरी में दोषी पाई गई हैं।
विज्ञापन
कुंभी ब्लॉक की ग्राम पंचायत अमीरनगर की प्रधान ताहिरा बेगम के खिलाफ पहली जांच में 4,51,727 रुपये गबन किए जाने की पुष्टि होने पर डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने 23 फरवरी 2019 को प्रधान के वित्तीय एवं प्रशासनिक अधिकार सीज कर दिए थे। ग्राम प्रधान को हटाने के लिए डीडीओ को जांच सौंपी गई थी, जिससे पहले नलकूप खंड प्रथम के अधिशाषी अभियंता ने जांच की थी। जांच में पाया गया कि वर्ष 2016-17 में 14 वें वित्त आयोग की धनराशि से डॉक्टर मशील के मकान से कल्लू के मकान तक खड़ंजा और नाली निर्माण 19,984 रुपये का गबन किया गया। इसी मद से इश्तियाक के मकान से एजाद के घर तक नाली-खडंजा/इंटरलॉकिंग निर्माण की वर्क आईडी बनाकर 1,87,219 रुपये हड़प लिए गए, लेकिन कहीं काम नहीं कराया गया। इसी तरह झम्मन खां के मकान से खैरूना के मकान तक मिट्टी खड़ंजा निर्माण कार्य के नाम पर वर्क आईडी बनाकर 2,24,524 रुपये गबन किए गए, जबकि इसका कार्य नहीं कराया गया। गांव में मिट्टी पटाई के नाम पर 20 हजार रुपये निकाले गए, लेकिन मिट्टी पटाई की पुष्टि नहीं हुई। डीडीओ अरविंद कुमार की रिपोर्ट आने के बाद डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने पंचायत राज अधिनियम 1947 की धारा 95 (1) (छह) के तहत प्रधान को पदच्युत (बर्खास्त) करते हुए गबन की धनराशि की वसूली भू-राजस्व की भांति कराने की बात कही है, जिससे पहले प्रधान को साक्ष्य सहित अपना पक्ष रखने के लिए अंतिम अवसर दिया है।

आरोपी प्रधान को नोटिस जारी
लखीमपुर ब्लॉक की ग्राम पंचायत भंसड़िया की प्रधान ऊषा देवी के खिलाफ लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच में पुष्टि हुई है। ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के अधिशाषी अभियंता ने जांच में पाया कि शंकरदयाल के मकान से रामसागर के मकान तक इंटरलॉकिंग में खडंजे की पुरानी ईंटों का प्रयोग करके 1600 नई ईंट खरीदने के नाम पर 10,336 रुपये का गबन किया गया। इसके अलावा मौनी बाबा के मकान से रामनाथ के मकान तक इंटरलॉकिंग कार्य में 11,388 रुपये का गबन किया गया है। कुल 21,724 रुपये के गबन में प्रधान को प्रथम दृष्टया दोषी मानते हुए डीएम ने नोटिस जारी कर एक सप्ताह में जवाब मांगा है।

अमीरनगर प्रधान के खिलाफ 3,71,458 रुपये गबन के आरोप की पुष्टि जांच में हुई है, जिसके चलते डीएम की ओर से प्रधान के खिलाफ बर्खास्तगी की कार्रवाई प्रारंभ कर दी गई है। अंतिम अवसर के तौर पर प्रधान को साक्ष्य सहित जवाब प्रस्तुत करने के लिए एक सप्ताह का समय दिया गया है। इसके बाद सीधे बर्खास्तगी की कार्रवाई की जाएगी।
अजय कुमार श्रीवास्तव, डीपीआरओ
विज्ञापन

Recommended

फैशन इंडस्ट्री दे रही है खास मौके, इन्वर्टिस संग करें खुद को तैयार
Invertis university

फैशन इंडस्ट्री दे रही है खास मौके, इन्वर्टिस संग करें खुद को तैयार

अपनी संतान की लंबी आयु के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में संतान गोपाल पाठ और हवन करवाएं - 24 अगस्त 2019
Astrology Services

अपनी संतान की लंबी आयु के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में संतान गोपाल पाठ और हवन करवाएं - 24 अगस्त 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वशनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Lakhimpur Kheri

चौकी के सामने बेचा जा रहा बच्चों के नशे का सामान

चौकी के सामने बेचा जा रहा बच्चों के नशे का सामान

18 अगस्त 2019

विज्ञापन

उत्तराखंड में बारिश का कहर, नदिया बनीं सैलाब, हर तरफ तबाही का मंजर

बारिश से उत्तराखंड में तबाही का आलम है। बारिश की वजह से सड़कें टूट चुकी हैं। पुल के ऊपर से पानी बह रहा है। कई पहाड़ दरक गए हैं। मकान के अंदर घुसकर पानी ने तबाही मचाई है।

18 अगस्त 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree