अंगदपुर में तनाव, पुलिस तैनात

Lakhimpur Updated Tue, 06 May 2014 05:31 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

विज्ञापन

विवाद के बाद गांव में पसरा सन्नाटा, पुलिस ने दर्ज की क्रास रिपोर्ट
अमर उजाला ब्यूरो
बांकेगंज/मैलानी। थाना मैलानी की पुलिस चौकी संसारपुर के अंतर्गत गांव अंगदपुर में पुरानी रंजिश को लेकर रविवार को दो पक्षों में हुई मारपीट और फायरिंग की घटना के बाद गांव में दूसरे दिन भी तनाव बरकरार रहा। शांति और सुरक्षा के दृष्टिकोण से गांव में पर्याप्त पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। दोनों पक्षों की तहरीर पर पुलिस ने क्रास रिपोर्ट दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। घटना के बाद से गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है।
गांव में रविवार को पुरानी रंजिश को लेकर दो पक्ष आपस में भिड़ गए थे। इसमें जम कर मारपीट और फायरिंग हुई थी, जिसमें दोनों पक्षों के कई लोग घायल हो गए थे। घटना के बाद तनाव की स्थिति को देखते हुए गांव में पर्याप्त पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। दोनों पक्षों ने थाने पहुंचकर एक दूसरे के खिलाफ तहरीर दी। इसमें एक पक्ष के करीम की तहरीर पर पुलिस ने इज़हार खां, इस्लाम, वकील, शब्बन, कलीम, करहा, एखलाक, अनीस, मुजीब खां, गुफरान खां, मंगल, परवेज, हातिम, शकील और पप्पे समेत 19 लोगों के खिलाफ तथा अशफाक की तहरीर पर करीम, अजमल, नसीम, शफीक, असलम, रकीम, इस्माइल, पनीश, मशरूर, याकूब अली, रहीस खां समेत 15 लोगों के खिलाफ मारपीट, बलवा, हत्या का प्रयास आदि की रिपोर्ट दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। मामले की जांच बांकेगंज चौकी इंचार्ज एसके दुबे को सौंपी गई है।
उन्होंने मामले के आरोपी करीम का सोमवार बांकेगंज सीएचसी में मेडिकल परीक्षण कराया। उधर एसओ सुरेश पांडे ने बताया कि अंगदपुर में स्थिति नियंत्रण में है। शंातिभंग करने वाले लोगाें के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि आरोपी जल्द ही गिरफ्तार होंगे।
00000
पुलिस ‘पट्टियों’ पर
लगाती रही मरहम
एक साल पहले प्रधान के पति की हुई थी हत्या, बदले में शुरू हुई गैंगवार
अमर उजाला ब्यूरो
बांकेगंज। ब्लाक की ग्राम पंचायत ग्रंट रामपुर की महिला प्रधान आलिया बेगम के पति औसाफ खां की एक मार्च 2013 को गांव में हत्या हो गई थी। इसी कड़ी में रविवार दोपहर संसारपुर में फायरिंग की दूसरी घटना हो गई। इससे पहले हुए हत्याकांड में पुलिस एक साल तक घाव की बजाय पट्टियों पर मरहम लगाती रही। पुलिस यदि हाल ही में जमानत पर छूट कर आए हत्यारोपियों की कड़ी निगहबानी करते हुए एहतियात बरतती तो शायद यह नौबत नहीं आती।
मालूम हो कि बांकेगंज ब्लाक की ग्राम पंचायत ग्रंट रामपुर के मजरा अंगदपुर में महिला प्रधान आलिया बेगम के पति औसाफ खां की एक मार्च 2013 को दिनदहाड़े हत्या हो गई थी। इसमें मृतक की पत्नी ने गांव के ही शहीक, करीम, अजमुल और असलम पर पति की हत्या का आरोप लगाते हुए नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने चाराें आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इसमें करीम और अजमुल लगभग एक माह तो शहीक और असलम एक सप्ताह पहले जमानत पर जेल से वापस आए थे।
लोगों का कहना है कि हाल ही में जमानत पर छूट कर आए हत्यारोपियों पर ध्यान देने में पुलिस ने लापरवाही बरती। नतीजतन इस बार गांव की जगह सरेआम दिनदहाड़े संसारपुर पुलिस चौकी के सामने ही फायरिंग की दूसरी घटना हो गई। इससे कुछ देर के लिए मार्केट मे अफरा-तफरी मच गई। गनीमत यह रही कि घटना की सूचना मिलते ही आनन-फानन में काफी संख्या में पुलिस फोर्स सहित एसडीएम गोला एसपी सिंह पहुंच गए, तब जाकर दहशत में आए लोगाें को सुकून मिला।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us