बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

तीस फीसदी आबादी का किसी को नहीं है ख्याल

Lakhimpur Updated Sat, 09 Feb 2013 05:31 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
रोजाना जूझना पड़ रहा जाम की समस्या से
विज्ञापन

सीतापुर क्रासिंग पर ओवरब्रिज के बाद भी रहेगी समस्या
गोला क्रासिंग पर पुल बनाने की उठ रही मांग
लखीमपुर खीरी। शहर में ओवरब्रिज का निर्माण युद्ध स्तर पर हो रहा है। इसके निर्माण के बाद शहर की 65 फीसदी आबादी को तो सीतापुर रेलवे क्रासिंग पर लगने वाले जाम की समस्या से निजात मिल जाएगी, लेकिन गोला क्रासिंग से शहर आने और जाने वाली शहर की 30 फीसदी आबादी की समस्या ज्यों की त्यों रहेगी। खास बात यह है कि इनकी समस्या के प्रति न तो प्रशासनिक अधिकारियों का ही ध्यान जा सका है और न ही जनप्रतिनिधियों का।
शहर में करीब डेढ़ किमी दूरी के बीच तीन रेलवे क्रासिंग क्रमश: राजापुर, सीतापुर और गोला क्रासिंग बनी हैं। शहर आने और शहर से बाहर जाने वाले अधिकांश लोगों को इन्हीं क्रासिंगों का सहारा लेना पड़ता है। राजापुर रेलवे क्रासिंग बाइपास रोड पर है जब कि सीतापुर रेलवे क्रासिंग शहर के लगभग बीचो बीच स्तित हीरालाल धर्मशाला चौराहा के निकट। गोला क्रासिंग शहर के कृष्णा टाकिज (अब मैरिज हाल) के निकट है। शहर के लगभग बीचो बीच होने के कारण सीतापुर रेलवे क्रासिंग पर सर्वाधिक जाम की समस्या रहती थी। नतीजतन जनप्रतिनिधि से लेकर प्रशासनिक अधिकारी तक इस क्रासिंग पर ओवरहेड ब्रिज बनाने के प्रयास में जुटे और इसमे सफलता भी मिली। इसका निर्माण कार्य भी युद्ध स्तर पर जारी है। इसके निर्माण के बाद शहर की 65 फीसदी आबादी को इस क्रासिंग पर लगने वाली जाम की समस्या से निजात मिल जाएगी, लेकिन गोला क्रासिंग से शहर आने व शहर से जाने वाले करीब 30 फीसदी लोगों को गोला क्रासिंग पर लगने वाले जाम की समस्या से निजात नहीं मिल सकेगी। इससे गुजरने वाले लोग अब यहां भी किसी ऐसे पुल के निर्माण की मांग करने लगे हैं जिससे पैदल व बाइक सवार लोग आसानी से आ जा सके।

000
इन स्थानों के गुजरते हैं लोग
कमलापुर, गुटैय्याबाग, देवकली क्षेत्र, कांशीराम आवास, त्रिपाठी कालोनी, गांधीनगर, सुभाष नगर, हरिजन बस्ती, शिवकालोनी आदि।
000
यह भी है इस मार्ग पर
सदर ब्लाक कार्यालय, गन्ना विकास समिति कार्यालय, दो पिक्चर हाल, धर्म सभा इंटर कालेज आदि।
000

क्या कहते हैं शहरवासी
गोला क्रासिंग के निकट किराने की दुकान करने वाले जगदीश अरोरा बताते हैं कि इस मार्ग पर हर आधे घंटे पर क्रासिंग बंद हो जाने के कारण जाम लग जाता है। अधिकांश ट्रेने दिन की ही हैं लिहाजा लगभग पूरे दिन जाम में फंसने के कारण लोग परेशान होते रहते हैं। उनका मानना है कि ओवरब्रिज निर्माण के बाद भी इस मार्ग पर अगर जाम की समस्या से लोगों को कोई राहत नहीं मिलेगी। उनका कहना है कि इस मार्ग पर भी रेलवे लाइन के ऊपर कोई ऐसा पुल बनाया जाना चाहिए जिससे पैदल व हल्ले वाहन आसानी से निकल जाएं।
मोहल्ला गुटैय्याबाग निवासी अब्बास अली कहते हैं कि सीतापुर रेलवे क्रासिंग के बाद गोला क्रासिंग पर ही अधिक जाम लगता है। इस क्रासिंग से शहर की करीब 30 फीसदी आबादी के लोग आते-जाते हैं। उनका कहना है कि इधर इस मार्ग पर आबादी लगातार बढ़ती जा रही है। जिससे जाम की समस्या दिनों दिन बढ़ती जा रही है, लेकिन अधिकारी से लेकर जनप्रतिनिधि तक इस क्षेत्र की समस्या से अनभिज्ञ बने हुए हैं।
000

क्या कहते हैं जनप्रतिनिधि
गोला क्रासिंग पर भी जाम की समस्या से निजात की आवश्यकता है। इसका समाधान भी केंद्र व राज्य सरकार के संयुक्त प्रयास से ही संभव है। प्रदेश में काबिज सरकार के प्रतिनिधि इस दिशा में पहल करे तथा पुल के लिए योजना तैयार कर केंद्र सरकार को भेजें। उनका पूरा प्रयास होगा कि केंद्र सरकार अपने अंश के साथ प्रस्ताव पर अपनी मुहर लगाएं। वह भी प्रदेश सरकार का ध्यान इस ओर दिलाने के लिए पत्राचार करेंगे।
ज़फर अली नकवी, सांसद
000
गोला क्रासिंग पर जाम की समस्या कुछ कम हो इसे ध्यान में रखते हुए लालपुर बैरियर के निकट स्तिथ पंडित दीन दयाल उपाध्याय इंटर कालेज से नहर पटरी होते हुए डॉनबास्को कालेज तक मार्ग निर्माम राज्य सरकार से हाल में मंजूर करा लिया है। शहरवासियों की अगर मांग होगी तो वह क्रासिंग पर पुल की भी पहल करने में पीछे नहीं रहेंगे।
उत्कर्ष वर्मा, सदर विधायक

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us