भुगतान न मिलने पर किसान भड़के

Lakhimpur Updated Thu, 13 Dec 2012 05:30 AM IST
ठप की चीनी मिल को गन्ने की सप्लाई
भाकियू का अनिश्चितकालीन धरना जारी
गोला गोकर्णनाथ। बजाज चीनी मिल में भारतीय किसान यूनियन टिकैत के आह्वान पर गन्ना किसानों ने पांच दिसंबर तक का गन्ना मूल्य भुगतान शुरू कराने की मांग की है। साथ ही तोल पर्चियों पर मूल्य अंकित करने सहित कई मांगों को लेकर चीनी मिल में गन्ना सप्लाई ठप कर दी और अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया।
किसान यूनियन के मंडल उपाध्यक्ष रामसिंह वर्मा, तहसील उपाध्यक्ष विनीत अवस्थी, हरिराम भारती के नेतृत्व में किसानों ने सुबह लगभग 10 बजे चीनी मिल के गन्ना आपूर्ति गेट पर प्रदर्शन किया।
किसान यूनियन के आह्वान पर किसानों ने गन्ने की सप्लाई ठप कर दी। चीनी मिल के गन्ना आपूर्ति गेटों पर ताले डालकर धरना शुरू कर दिया। गन्ने की आपूर्ति न होने पर चीनी मिल की दोनों इकाइयां ठप हो गईं और मिल का चक्का थम गया।
मिल में गन्ने की आपूर्ति ठप होने पर मिल अधिकारियों के हाथ पैर फूल गए। तब कहीं दुपहर दो बजे अधिकारियों ने किसान यूनियन प्रतिनिधियों को वार्ता के लिए बुलाया। मंडल उपाध्यक्ष रामसिंह वर्मा, परमेश्वरदीन वर्मा, विनीत अवस्थी, सरदार महल सिंह आदि मिल अधिकारियों से वार्ता करने पहुंचे, किंतु किसानों का धरना जारी रहा। मिल की ओर से जीएम केन ओमपाल सिंह, यूनिट हेड एनसी अग्रवाल और कारखाना प्रबंधक आरके मिश्र और कोतवाली प्रभारी एके सिंह की मौजूदगी में वार्ता शुरू हुई। किसानों ने पांच दिसंबर तक का भुगतान बैंकों में भेजने और सरकार का निर्धारित गन्ना मूल्य तोल पर्चियों पर अंकित करने की मांग की लेकिन मिल प्रबंधतंत्र 30 नवंबर तक का भुगतान 10 दिन बाद करने पर अड़ा रहा। इस पर किसान यूनियन पदाधिकारियों ने यह कहकर वार्ता खत्म कर दी कि वह गन्ना खरीद अधिनियम और हाईकोर्ट के आदेशानुसार ही 14 दिन का भुगतान भेजे जाने की मांग कर रहे हैं।
वार्ता टूटने के बाद किसानों ने और जोश से अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया और पूर्व घोषित दो मांगों के साथ ट्रॉलियों की पर्ची 40 क्विंटल और 60 क्विंटल भेजे जाने, गन्ना लाइनों में शुद्ध पेयजल की व्यवस्था कराने, मिल गन्ना लाइनों के पास बने शौचालयों के ताले खोलवाने, उच्च न्यायालय और गन्ना खरीद अधिनियम के अनुसार गन्ना मूल्य भुगतान सुनिश्चित कराए जाने की मांगें भी शामिल कर दीं।
सुबह 10 बजे से शुरू किया गया धरना समाचार लिखे जाने तक जारी रहा। धरने पर राकेश वर्मा, अंजनी दीक्षित, सुरेश वर्मा, वीरेंद्र वर्मा, संतोष कुमार, रामकुमार, अनिकेत कुमार, परसादीलाल, देवलाल, महेश वर्मा, रोशन कुमार, इंद्रपाल सिंह, गुरमिंदर सिंह, करनैल सिंह, ईश्वरदीन, परविंदर सिंह, रंजीत सिंह, राजकुमार, अमर सिंह सहित तमाम किसान शामिल रहे।
0000
हमने पर्चियों पर कीमत अंकित कर दी है। अभी जीओ नहीं आया है। हफ्ता दस दिन में 30 नवंबर तक का भुगतान करेंगे। यूपी में किसी चीनी मिल ने अब तक भुगतान नहीं किया है। चीनी मिल पर जो ताले पड़े हैं वह मिल के हैं। किसानों ने कोई ताले नहीं लगाए हैं।
-एनसी अग्रवाल, यूनिट हेड, बजाज चीनी मिल गोला

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में ‘एनकाउंटर अभियान’ के तहत एक लाख का इनामी ढेर

यूपी एसटीएफ ने एक कार्रवाई के तहत इनामी बदमाश बग्गा सिंह को ढेर किया। जानकारी के मुताबिक एसटीएफ ने कार्रवाई लखीमपुर-खीरी के पास नेपाल बॉर्डर पर की है। बात दें कि बग्गा सिंह कई मामलों में वांछित था और इसके सिर पर एक लाख रुपये का इनाम था।

18 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper