बदल गया खानपान और उपहारों का ट्रेंड

Lakhimpur Updated Fri, 09 Nov 2012 12:00 PM IST
लखीमपुर खीरी। बदलते समय के साथ दीपावली मनाने का ट्रेंड भी बदल रहा है। रोशनी के तरीके से लेकर उपहारों के आदान-प्रदान का चलन भी बदला है। इस बदलाव के पीछे महंगाई भी एक बड़ा कारण है। इस बार मिठाइयों और सूखे मेवों की जगह चाकलेट, बिस्किट और गुलदस्तों के गिफ्ट पैक तैयार हो रहे हैं।
दीपावली मिठाइयों के बिना अधूरी है, लेकिन मिलावटखोरी के कारण मिठाइयों का स्वाद खराब हो रहा है। अधिक मुनाफे के लालच मेें कुछ मिठाइयां बनाने वाले घटिया सामग्री और अखाद्य रंगों और रासायनिक एसेंस का इस्तेमाल कर रहे हैं। इससे लोगों की सेहत के लिए भी खतरा पैदा हो गया है।
मिलावटखोरी को रोकने के लिए खाद्य सुरक्षा विभाग ने छापेमारी शुरू कर दी है। बुधवार और गुरुवार का खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने मिठाई की कई दुकानों पर छापे मारकर नमूने लिए। मु़ख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि नमूनों की जांच रिपोर्ट आने में तीन महीने से छह माह तक का समय लग जाता है।
000000
उपहारों के लेनदेन का ट्रेंड बदला
मिठाइयां और सूखे मेवे अधिक महंगे होने के कारण इस बार उपहारों के आदान-प्रदान का ट्रेंड भी बदला है। लोग चाकलेट और बिस्किट आदि को अधिक तरजीह दे रहे हैं। बाजार में इन दिनों चाकलेट, बिस्किट और सूखी मिठाइयों के गिफ्ट पैक की खूब बिक्री हो रही है। सूखी मिठाइयों और डिब्बा बंद मिठाइयों के पैकेट भी बाजार में सजे हैं। इस बार सूखे मेवों के पैकेट अपेक्षाकृत कम बिक रहे हैं। आम लोगों का रुझान अब भी मिठाइयों की ओर ही ज्यादा दिख रहा है।
00000
हल्की जेब के सहारे भारी त्योहार
महंगाई के चलते लोगों की जेबें पहले ही हल्की हो चुकी हैं। ऐसे में टाइट बजट में किस तरह इस महंगे त्योहार को मनाया जाए लोगों के सामने यह बड़ी समस्या है। इस बार इस त्योहार पर खरीददारी के लिए किफायती प्लान बनाना पड़ रहा है। कम खर्च में ज्यादा खुशियां खरीदने में लोगों की पेशानी पर पसीना आ रहा है।


दिवाली पर अभिनंदन करेंगी वंदनवार
लखीमपुर खीरी। प्राचीन परंपराओं से जुड़ी वंदनवार इस दिवाली पर भी आपका खास स्वागत करेंगी। मार्डन वंदनवारों की शहर में आमद हो चुकी है। पहले फूल और पत्तियों से इन्हें सजाकर बनाया जाता था, लेकिन अब कृत्रिम फूल पत्तियों के अलावा विभिन्न वस्तुओं से वंदनवार बनाई जाती हैं। द्वार की शोभा और आगत के स्वागत के इंतजाम के रूप में आकर्षक वंदनवारों का बाजार सज गया है। प्रवेश द्वार पर जगमग करती, रंगबिरंगी वंदनवार प्रत्येक आने वाले का स्वागत करती दिखाई देती हैं। गांव-देहात से लेकर शहर के उच्च घरानों में भी इसका अब तक क्रेज बना हुआ है।
0 इन वस्तुएं से बन रही हैं वंदनवार
कृत्रिम फूल-पत्तियां, चमकीले मोती, विभिन्न आकृतियों के शीशे, प्लास्टिक और धातुओं की प्रतिमाएं, मंगल कलश, सुपारी, नारियल, रुद्राक्ष मोती आदि।
00000
पहले भी आकर्षक बनती थीं वंदनवार
आम के ताजे पत्ते, फल और फूल, रंगीन कागजों की कटिंग, सिरकी के विभिन्न आकार, केले के पत्ते, ऊन और धागों के डिजाइन आदि।
000000

वंदनवार को लेकर क्या कहती महिलाएं
शाहपुरा कोठी मोहल्ले में रह रहीं प्रियंका गुप्ता ने बताया कि वह रंगीन कपड़ों की वंदनवार बनाने की सोच रहीं थीं, लेकिन समय नहीं मिल पाया। बाजार में जितनी खूबसूरत वंदनवार आ रहीं हैं, उतनी अच्छी बनाना मुश्किल काम है। इस बार बाजार से ही वंदनवार खरीदेंगी। यहीं की मीनू गुप्ता ने बताया कि स्वास्तिक, दीपक, कलश और ओम अंकित वंदनवार त्योहारों पर अपना अलग महत्व रखती हैं। इस दिवाली पर वह अपनी पसंद की वंदनवार लाकर दरवाजों पर लगाएंगीं। पटाखों के शोर से अच्छा है कि घर की सजावट कर दिवाली मनाई जाए।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

आप विधायकों को हाईकोर्ट ने भी नहीं दी राहत, अब सोमवार को होगी सुनवाई

लाभ के पद के मामले में चुनाव आयोग ने आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को अयोग्य घोषित करने के मामले में अब सोमवार को होगी सुनवाई।

19 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में ‘एनकाउंटर अभियान’ के तहत एक लाख का इनामी ढेर

यूपी एसटीएफ ने एक कार्रवाई के तहत इनामी बदमाश बग्गा सिंह को ढेर किया। जानकारी के मुताबिक एसटीएफ ने कार्रवाई लखीमपुर-खीरी के पास नेपाल बॉर्डर पर की है। बात दें कि बग्गा सिंह कई मामलों में वांछित था और इसके सिर पर एक लाख रुपये का इनाम था।

18 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper