टांडा के तीन साथियों को पुलिस ने दबोचा

Lakhimpur Updated Sun, 04 Nov 2012 12:00 PM IST
लखीमपुर खीरी। कुख्यात सुमित टांडा के मारे जाने के बाद उसके साथियों की तलाश में जुटी पुलिस टीम को बड़ी सफलता हाथ लगी है। उसके तीन साथियों को धर दबोचा है। इसके अलावा एक व्यक्ति की हत्या कराने की सुपारी सुमित टांडा को दिए जाने का भी मामला प्रकाश में आया है, जिसमें पुलिस ने एक अभियुक्त को गिरफ्तार किया है। जबकि गिरोह के अन्य दो साथियों के नाम सामने आए हैं, लेकिन वह पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। गिरोह के बाकी सदस्यों की तलाश में पुलिस टीमें जुटी हैं।
बता दें कि 28 अक्तूबर की रात को संकटा देवी चौकी पर तैनात सिपाही उमेश कुमार को गोली मारने के बाद भाग रहा कुख्यात सुमित टांडा पुलिस मुठभेड़ में मारा गया था। जबकि इसके अन्य दो साथी भागने में सफल रहे थे। सीओ सिटी अखिलेश नारायण सिंह के निर्देशन में कोतवाल नरेंद्र सिंह राणा के नेतृत्व में कई पुलिस टीमें बदमाशों की धर-पकड़ में लगाई गई थीं। टांडा के पास से मिले मोबाइल व फोन डायरी की मदद से पुलिस ने कई संदिग्धों को ट्रेस किया था। शनिवार को मुखबिर से मिली सूचना पर कोतवाल नरेंद्र सिंह राणा अपने हमराही आरके शर्मा एसएसआई, एसआई राकेश चौरसिया, संजीव दुबे, जय प्रकाश यादव मय आरक्षी बेहजम रोड पर पुलिया के पास बाइक सवार तीन लोगों को रुकने का इशारा किया, तो बदमाशों ने फायरिंग कर भागने की कोशिश की। पुलिस ने घेराबंदी कर तीनों बदमाशों को पकड़ लिया। जामा तलाशी में सभी के पास से तमंचे, कारतूस, मोबाइल व बाइक बरामद हुई। पूछताछ में बदमाशों की शिनाख्त कृष्ण मोहन मिश्रा उर्फ बिंकू निवासी मोहल्ला भुईफोरवानाथ, अनिल सिंह निवासी बिल्लाई थाना नीमगांव और नरेंद्र सिंह निवासी गिरधरपुर थाना फूलबेहड़ के तौर पर हुई है। अभियुक्त नरेंद्र सिंह की पत्नी ग्राम प्रधान हैं।
बाक्स
प्रधानपति देता था संरक्षण
पुलिस टीम की इस सफलता से उत्साहित एसपी दलवीर सिंह यादव ने बताया है कि 27 अक्तूबर को डा.आरके गुप्ता के नर्सिंग होम में फायरिंग की घटना में सुमित टांडा, कृष्ण मोहन मिश्रा उर्फ बिंकू, अनिल सिंह व सीतापुर जिले के थाना इमलिया सुल्तानपुर के बेलामऊ खुर्द गांव निवासी अमर प्रकाश मिश्रा उर्फ धीरू शामिल थे। वारदात को अंजाम देने के बाद सभी बदमाश फूलबेहड़ थाना क्षेत्र के गांव गिरधरपुर निवासी नरेेंद्र सिंह के यहां ठहरे थे और वहीं खाना भी खाया था। इससे पूर्व भी इसके यहां इन लोगों को संरक्षण मिला था। एसपी ने बताया कि प्रधानपति नरेंद्र सिंह का एक मकान लखीमपुर में मेला मैदान में हैं, जहां गिरोह के लोग ठहरते थे।
बाक्स
अभियुक्त अनिल का अपराधिक इतिहास
28 अक्तूबर 2012 को कृष्णा टाकीज के पास अंगने होटल में पुलिस पार्टी पर फायरिंग की घटना में सुमित टांडा के साथ अनिल सिंह भी शामिल था। एसपी दलवीर सिंह यादव ने बताया कि अनिल सिंह नीमगांव थाने का हिस्ट्रीशीटर है। इसके विरुद्घ कई मुकदमें दर्ज हैं। जबकि एक अभियुक्त अमर प्रकाश मिश्रा उर्फ धीरू को लखनऊ के थाना गुडंबा में गिरफ्तार किया जा चुका है।
बाक्स
गिरफ्तारी में यह भी रहे शामिल
सुमित टांडा के गिरोह के सदस्यों को पकड़ने में कोतवाली पुलिस के अलावा नीमगांव एसओ सीबी सिंह, एसओजी प्रभारी मनोज कुमार सिंह, कांस्टेबल शराफत अली व कांस्टेबल नवीन चौरसिया का भी योगदान रहा है।
बाक्स
पुलिस टीम को पुरस्कार की घोषणा
एसपी दलवीर सिंह यादव ने पुलिस टीम की कामयाबी पर उत्साहवर्धन करते हुए पुरस्कृत करने की घोषणा की है। पांच हजार रुपये का पुरस्कार देने का फैसला किया है।

Spotlight

Most Read

Dehradun

देहरादून: 24 जनवरी को कक्षा 1 से 12 तक बंद रहेंगे सभी स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्र

मौसम विभाग की ओर से प्रदेश में बारिश की चेतावनी के चलते डीएम ने स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्र बंद करने के निर्देश जारी किए हैं।

23 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में ‘एनकाउंटर अभियान’ के तहत एक लाख का इनामी ढेर

यूपी एसटीएफ ने एक कार्रवाई के तहत इनामी बदमाश बग्गा सिंह को ढेर किया। जानकारी के मुताबिक एसटीएफ ने कार्रवाई लखीमपुर-खीरी के पास नेपाल बॉर्डर पर की है। बात दें कि बग्गा सिंह कई मामलों में वांछित था और इसके सिर पर एक लाख रुपये का इनाम था।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper