बाढ़ का पानी घटा, लेकिन दुश्वारियां बढ़ीं

Lakhimpur Updated Sun, 23 Sep 2012 12:00 PM IST
तमाम गांवों में अब भी पानी, ऊंचे स्थानों पर शरण लिए लोग
प्रशासन की राहत ऊंट के मुंह में जीरा, पीड़ित परेशान
पलियाकलां। तहसील क्षेत्र में सुहेली और शारदा नदियों की बाढ़ का पानी काफी घट गया है, लेकिन तमाम गांव अब भी ऐसे हैं जहां अब भी कई कई फीट पानी है और लोग इससे बचने के लिए ऊंचे स्थानों पर शरण लिए हुए हैं। बाढ़ का असर कम होते ही दुश्वारियां बढ़ती जा रहीं हैं। फसली इलाकों में अब भी काफी पानी है इससे जानवरों के चारे की किल्लत है और जानवर भूख से बिलबिला रहे हैं। संक्रामक रोग तेजी से पैर पसार रहे हैं और स्वास्थ्य महकमा बेखबर है। गांवों में दवाओं के वितरण का काम महज खानापूर्ति बना है। जहां से पानी निकल गया है वहां दलदल और कीचड़ से भी लोग परेशान हैं।
0000
प्रशासन की राहत ऊंट के मुंह में जीरा
पलिया तहसील क्षेत्र में सुहेली और शारदा नदियों की बाढ़ से प्रभावित इलाके में बांटी जा रही राहत सामग्री ऊंट के मुंह में जीरा साबित हो रही है। इलाके के तमाम गांवों में अब भी राहत नहीं पहुंच सकी है।
00000
पलिया निघासन, पटिहन मार्ग पर अब भी आवागमन ठप
पलिया से निघासन जाने वाले मार्ग पर चौथे दिन भी आवागमन ठप रहा। यहां मलिनियां रपटा से लेकर नौगवां तक कई जगह सड़क पर पानी चल रहा है। जिससे बस सेवा बंद रही और छोटे वाहन सवार भी इधर से गुजरने को कतरा रहे हैं। इधर पटिहन मार्ग पर भी कई जगह पानी चल रहा है जिससे आवागमन ठप पड़ा है। लोग गांवों में ही कैद हैं और रोज मर्रा की वस्तुओं का आकाल है।
निघासन। क्षेत्र के बाढ़ प्रभावित सभी गांवों में बाढ़ का पानी हालांकि कम होने लगा है, बाजवूद इसके लोगों की दिक्कतें अभी कम नहीं हुई हैं। पूरब के गांवों में दो से तीन फुट पानी भरा हुआ है। दक्षिणी इलाका डूबने के बाद अब पूरब के गांव रकेहटी, दुलही, नकटहा, सेमरहिया, खैरहना, बौधिया कलां, पिरथीपुरवा, गंगाबेहड़, हक्कलपुर, आदि गांवों में बाढ़ का पानी भरने लगा है। बाढ़ पीड़ित अब भी सड़क के किनारे पड़े हुए हैं। बस्तीपुरवा गांव में अब भी बाढ़ का पानी भरा हुआ है। चार दिन बाद भी तहसील प्रशासन ने पीड़ितों की सुधि नहीं ली है।
0000
बंद मार्गों पर छोटे वाहनों का आवागमन शुरू
झंडी रोड पर छीटनपुरवा गांव के पास पानी कम होने से नाव का संचालन बंद कर दिया गया है। पलिया रोड पर पानी कम होने से छोटे वाहनों का आवागमन शुरू हो गया है। झंडी रोड पर तांगे तेज धार में निकल रहे हैं। उधर लालपुर से गौढ़ीपुरवा तक पानी भरा हुआ है। जीतपुरवा गांव के लोग आज भी नाव के सहारे घरों को जरूरी सामान लेकर पहुंच रहे हैं।
00000
दीवार ढहने से मलबे में दबकर बालिका की मौत
पसगंवा खीरी। क्षेत्र के गांव जमुका में कच्ची दीवार ढहने से मलबे में दबकर एक बालिका की मौत की हो गई है। घटना की सूचना पुलिस को दे दी गई है।
क्षेत्र के ग्राम जमुका निवासी प्यारे की चार वर्षीय पुत्री गुजरिया शनिवार को लगभग 11 बजे स्कूल से पढ़कर लौटी थी तभी उसके घर की कच्ची दीवार ढह गई, जिससे गुजरिया उसी में दब गई। जब तक ग्रामीणों ने मिट्टी हटाकर उसे निकाला, उसकी मौत हो चुकी थी। घटना की सूचना पुलिस को दे दी गई है।
00000
वृद्धा बाढ़ के पानी में डूबी, मौत
लखीमपुर खीरी। ईसानगर थाना क्षेत्र के बाढ़ प्रभावित ग्राम रेहरिया में शनिवार की रात एक वृद्धा की डूब कर मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। धौरहरा क्षेत्र के थाना ईसानगर अंतर्गत रेहरिया समेत कई गांवों में पिछले दो-तीन दिन से बाढ़ का कहर है। घर में पानी भरा होने के कारण दुलारा (70) पत्नी स्व. तुलसी चारपाई पर सो रहीं थी। रात में चारपाई के नीचे रखी ईंट खिसक गईं और बाढ़ के पानी में मय चारपाई वृद्धा की डूबकर मौत हो गई। सुबह को दुलारा का शव आंगन में तैरता मिला। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में ‘एनकाउंटर अभियान’ के तहत एक लाख का इनामी ढेर

यूपी एसटीएफ ने एक कार्रवाई के तहत इनामी बदमाश बग्गा सिंह को ढेर किया। जानकारी के मुताबिक एसटीएफ ने कार्रवाई लखीमपुर-खीरी के पास नेपाल बॉर्डर पर की है। बात दें कि बग्गा सिंह कई मामलों में वांछित था और इसके सिर पर एक लाख रुपये का इनाम था।

18 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls