वजूद खोते जा रहे शहर के पार्क

Lakhimpur Updated Thu, 06 Sep 2012 12:00 PM IST
शहर में चार पार्क पर सैर लायक एक भी नहीं
कोई अतिक्रमण का शिकार तो कोई बना नशे का अड्डा
लखीमपुर खीरी। कहने को तो शहर में चार पार्क हैं लेकिन सैर करने लायक एक भी नहीं। कहीं से हरियाली गायब है तो कहीं से बच्चों के खेलकूद का सामान। कोई पार्क अतिक्रमण का शिकार है तो किसी पार्क में ट्रांसफार्मर लगाकर उसे खतरनाक बना दिया गया है। देखरेख के अभाव में शहर के पार्क अपनी खूबसूरती ही नहीं वजूद भी खोते जा रहे हैं।
शहर के एक दो पार्क तो नशड़ियों का अड्डा बन चुके हैं। यहां सैर करने तो कोई नहीं जाता, नशा करने वाले लोगों का जमघट दिन भर जरूर लगा रहता है। इसके चलते यदि कोई यहां सैर करने का मन भी बनाए तो भी यहां जाने से कतराने लगता है। दो पार्क ऐसे हैं जिनमे लोगों के बैठने का कोई इंतजाम ही नहीं है। केवल दो पार्कों में बच्चों के खेलने-कूदने का सामान लगा था। यह सामान या तो टूट चुका है या गायब हो चुका है।
0000
खो गई कंपनी गार्डेंन की खूबसूरती
कभी शहर का सबसे खूबसूरत माना जाने वाला पार्क कंपनी गार्डेन इन दिनों बदहाली का शिकार है। यहां का खूबसूरत फव्वारा टूट चुका है। घास सूख गई है। बच्चों के खेलने का सामान टूट कर खराब हो चुका है। बैठने के लिए बेंचें सलामत हैं लेकिन उन पर दिनभर नशेड़ियों का कब्जा रहता है। यहां गांजा भांग से लेकर चरस तक पीने वाले हर समय मौजूद मिलते हैं।
00000
संकटा प्रसाद वाजपेयी पार्क अतिक्रमण का शिकार
शहर के सबसे बड़े संकटा प्रसाद वाजपेयी पार्क पर अतिक्रमणकारियों की नजर है। पार्क में बच्चों के खेलकूद के लिए लगाए गए झूले और दूसरे उपकरण टूट चुके हैं उनका लोहा चोरी हो चुका है।
00000
सुभाष पार्क बन गया बैठक स्थल
पुरानी गल्ला मंडी स्थित सुभाष पार्क में बैठने के लिए सीटें तक नहीं हैं। हरी-भरी घास पर यहां आए दिन बैठकें और कभी-कभी धरना प्रदर्शन भी होते रहते हैं। सुबह शाम यदाकदा लोग पार्क में जाकर कुछ समय गुजारते हैं। आकार और बनावट से इसे पार्क की संज्ञा तो दी ही नहीं जा सकती। फिलहाल नाम को यह पार्क पार्कों की संख्या तो बढ़ा ही रहा है।
000
नाम पार्क का लगा है ट्रांसफार्मर और ट्यूबवेल
गोला रोड रेलवे क्रासिंग से कुछ पहले नवनिर्मित लाल बहादुर शास्त्री पार्क के बनने के साथ ही दुर्दिन शुरू हो गए। नगर पालिका ने यहां ट्यूबवेल लगा दिया तो बिजली विभाग ने ट्रांसफार्मर रखकर उसे खतरनाक बना दिया। पार्क के पास वैसे भी जगह बहुत कम है। नाम जरूर पार्क का है लेकिन पार्क जैसा स्वरूप इस पार्क में कहीं से नजर नहीं आता।
00000
जल्दी ही होगा पार्कों का सौंदर्यीकरण
जिले में पार्कों की हालत खराब है। पार्कों का सौंदर्यीकरण करना नगर पालिका बोर्ड की कार्यसूची में प्राथमिकता पर है। जल्दी ही शहर के सभी पार्को का जीर्णोद्धार कराया जाएगा। इनमें बच्चों के खेलकूद और मनोरंजन का इंतजाम किया जाएगा।
डॉ. इरा श्रीवास्तव
-अध्यक्ष-नगर पालिका परिषद, लखीमपुर

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में ‘एनकाउंटर अभियान’ के तहत एक लाख का इनामी ढेर

यूपी एसटीएफ ने एक कार्रवाई के तहत इनामी बदमाश बग्गा सिंह को ढेर किया। जानकारी के मुताबिक एसटीएफ ने कार्रवाई लखीमपुर-खीरी के पास नेपाल बॉर्डर पर की है। बात दें कि बग्गा सिंह कई मामलों में वांछित था और इसके सिर पर एक लाख रुपये का इनाम था।

18 जनवरी 2018