बरौंछा में फिर गूंजी बाघिन की दहाड़

Lakhimpur Updated Thu, 06 Sep 2012 12:00 PM IST
खेत की रखवाली करने वाले ग्रामीण दहशत में
बांकेगंज। मैलानी वन क्षेत्र के जटपुरा रेंज में पिछले एक सप्ताह से अपने दो शावकों के साथ विचरण कर रही बाघिन के दहाड़ने की आवाज जंगल से सटे बरौंछा के दलदली इलाकों में फिर सुनाई पड़ी है। बाधिन की आमद से खेतों की रखवाली करने वाले ग्रामीण दहशत में है। इससे पहले मंगलवार की रात बाघिन ने ग्राम ढाका के पास गन्ने के खेत से जंगली सुअर का शिकार किया था।
मालूम हो एक सप्ताह पहले बाघिन अपने दो शावकों संग शाम के समय बांकेगंज-कुकरा मार्ग पर राहगीरों को सड़क किनारे दिखाई दी थी। ग्रामीणों ने इसकी सूचना वन कर्मियों को दी। तबसे इसकी लोकेशन की निगरानी की जा रही है। रेंजर मैलानी अनिल श्रीवास्तव ने बताया बाघ-बाघिन अक्सर बारह सिंहा के शिकार की तलाश में वन क्षेत्रों के किनारे दलदली क्षेत्रों में पहुंच जाते है। उन्होंने कि बताया वन क्षेत्र में भोजन की कमी नहीं है। बारहसिंघा के दलदली जगहों में रहने की आदत के चलते यह यहां चले जाते है। बाघिन और उसके शावकों की चौबीस घंटे निगरानी की जा रही है। उन्होंने ग्रामीणों से सतर्क रहने को कहा है।
उधर ग्राम ढाका के बाशिंदे रामचन्द्र, जाबिर, जगतार सिंह, कालीचरन, ओमकार सिंह, बहादुर आदि ने बताया कि बरौंछा में लगा खर-पतवार काफी ऊंचा है। बाघिन इसमें छिपकर बैठ जाती है। इससे बाधिन के हमले का डर हमेशा बना रहता है।

Spotlight

Most Read

Shimla

वन भूमि से 416 पेड़ काटने के मामले में आरोपी गिरफ्तार

वन भूमि से 416 पेड़ काटने के मामले में आरोपी गिरफ्तार

20 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में ‘एनकाउंटर अभियान’ के तहत एक लाख का इनामी ढेर

यूपी एसटीएफ ने एक कार्रवाई के तहत इनामी बदमाश बग्गा सिंह को ढेर किया। जानकारी के मुताबिक एसटीएफ ने कार्रवाई लखीमपुर-खीरी के पास नेपाल बॉर्डर पर की है। बात दें कि बग्गा सिंह कई मामलों में वांछित था और इसके सिर पर एक लाख रुपये का इनाम था।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper