फिर उफनाई शारदा, खतरे के निशान से ऊपर

Lakhimpur Updated Mon, 03 Sep 2012 12:00 PM IST
रुक-रुक कर हो रही बारिश से बढ़ी लोगों की धड़कनें
पलियाकलां। शारदा नदी एक बार फिर से उफान पर आ गई है। नदी का जलस्तर खतरे के निशान से करीब 11 सेंटीमीटर ऊपर पहुंच गया है। ऐसा पहाड़ी क्षेत्रों और इलाके में हो रही बारिश के चलते हुआ है। शारदा के उफान से उसके समीपवर्ती गांवों का खेतीहर इलाका जलमग्न हो गया है। रुक-रुक कर हो रही बारिश से लोगों को बाढ़ का खौफ सताने लगा है।
पहाड़ी क्षेत्रों और इलाके में हो रही बारिश से शारदा नदी के जलस्तर ने एक बार फिर से उफान भर लिया है और नदी खतरे के निशान 153.620 को पार कर 153.730 पहुंच गया है जो कि खतरे के निशान से करीब 11 सेंटीमीटर ऊपर है। नदी का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर आते ही इसके समीपवर्ती गांव आजाद नगर, बर्बादनगर, मेलाघाट, खैरहना आदि तमाम गांवों का खेतीहर इलाका बाढ़ की चपेट में आ गया है और फसले जलमगभन हो गईं हैं। इलाके में रुक-रुक कर बारिश जारी है और इससे लोगों के दिल धड़कने लगे हैं और उन्हें बाढ़ का खतरा सताने लगा है। खासकर नदी के समीपवर्ती गांवों के लोगों में परेशानी ज्यादा है वह कई बार बाढ़ से दो चार हो चुके हैं।
00000
सुहेली का जलस्तर स्थिर
इधर सुहेली का जलस्तर अभी स्थिर है, लेकिन उधर मझगईं परिक्षेत्र के चौखड़ा आदि गांव आंशिक रूप से इसके पानी की चपेट में हैं। बारिश जारी रही तो बाढ़ की संभावना व्यक्त की जा रही है।
0000
लगदाहन से महज पांच सौ मीटर दूर है शारदा
मंहगापुर। कटान कर रही शारदा नदी अब लगदाहन गांव के काफी पास पहुंचती जा रही है। मौजूदा समय में नदी और गांव की दूरी महज 5 सौ मीटर रह गई है। कटान अब भी जारी है और पिछले 24 घंटों में यहां नदी ने करीब 15 बीघा जमीन अपने आगोश में और समा ली है। नदी के दिन पर दिन निकट आते देख गांव वालों में घबराहट पैदा हो गई।
पिछले 24 घंटों में नदी ने वीरेंद्र शुक्ला की तीन बीघा, हरजिंदर कौर की दो बीघा, आलोक मिश्रा की तीन बीघा, सोहन की दो बीघा, कंधई तीन बीघा, महेश दो बीघा समेत 15 बीघा खेती वाली जमीन कटान करके अपने आगोश में समा लिया है। बावजूद इसके शासन-प्रशासन ने यहां अब तक कटान रोकने को कोई कदम नहीं उठाए हैं, जिससे लोगों में गुस्सा है।
0000
ठाकुरपुरवा मार्ग पर भरा बाढ़ का पानी
निघासन। लगातार बारिश से एक बार फिर शारदा का जलस्तर बढ़ने लगा है। ठाकुर पुरवा, बैलहा जाने वाले मार्ग पर बाढ़ का पानी भरा होने से करीब आधा दर्जन नावें ग्रामीणों को लाने और ले जाने का काम कर रही है। अदलाबाद के पास बहतिया नाले में शारदा नदी का पानी गिरने से नाले ने विकराल रूप धारणकर लिया था।
बहतिया नाले पर पिछले बरस मनरेगा से गांव की उत्तर की तरफ करीब एक किलोमीटर बंधे का निर्माण ग्राम पंचायत बरोठा बार्डर तक कराया गया था। इसके निर्माण से गांव में बाढ़ का पानी नहीं भरता था। साथ ही फसलें भी जलमग्न होने से बच जाती थीं। इस बंधे की मिट्टी अधिक बरसात में बैठ जाने के कारण बहतिया नाले में बह रहे पानी की उंचाई मात्र एक फुट रह गयी है। यदि इस बंधे को पानी क्रास करेगा तो अदलाबाद गांव पूरा डूब सकता है।
0000
माथुरपुर गांव के दस और घर नदी में समाए
धौरहरा। घाघरा का कटान थमने का नाम नहीं ले रहा है। क्षेत्र के ग्राम माथुरपुर में कटान के चलते बीते 24 घंटे में ग्राम निवासी दस और ग्रामीणों के घर नदी में समा गए।
ग्राम माथुरपुर में कटान कर रही घाघरा ने पिछले 24 घंटे में ग्राम निवासी जगदीश, राजाराम, बांकेलाल, राजू, जगजीवन, भरोसे, रामाशीष, हरिश्चंद्र, नंद किशोर, भागीरथ के घर को अपने आगोश में ले लिया। एसडीएम विनोद गुप्ता ने गांव पहुंचकर कटान पीड़ितों का दुख दर्द सुना तथा उन्हें तिरपाल बांटे।

Spotlight

Most Read

National

सियासी दल सहमत तो निर्वाचन आयोग ‘एक देश एक चुनाव’ के लिए तैयार

मध्य प्रदेश काडर के आईएएस अधिकारी और झांसी जिले के मूल निवासी ओपी रावत ने मंगलवार को मुख्य चुनाव आयुक्त का कार्यभार संभाल लिया।

24 जनवरी 2018

Rohtak

बिजली बिल

24 जनवरी 2018

Rohtak

नेताजी

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में ‘एनकाउंटर अभियान’ के तहत एक लाख का इनामी ढेर

यूपी एसटीएफ ने एक कार्रवाई के तहत इनामी बदमाश बग्गा सिंह को ढेर किया। जानकारी के मुताबिक एसटीएफ ने कार्रवाई लखीमपुर-खीरी के पास नेपाल बॉर्डर पर की है। बात दें कि बग्गा सिंह कई मामलों में वांछित था और इसके सिर पर एक लाख रुपये का इनाम था।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper