मोहाना बदल रही है भारत-नेपाल सीमा का भूगोल

Lakhimpur Updated Thu, 30 Aug 2012 12:00 PM IST
भारत के करीब 25 वर्ग किमी क्षेत्र को लील चुकी नदी
सीमा के आधा किलोमीटर भीतर तक कर चुकी घुसपैठ
प्रशासनिक आंकड़ों में कटान को कम आंका जा रहा
विनोद भारद्वाज
लखीमपुर खीरी। भारत-नेपाल सीमा का भूगोल बदल रहा है। यह काम इन देशों की सरकार नहीं बल्कि मोहाना नदी कर रही है। जिले में करीब 55 किलोमीटर लंबी अंतर्राष्ट्रीय सीमा का विभाजन करने वाली यह नदी कटान करते हुए भारतीय सीमा में कई जगह आधा किलोमीटर भीतर तक घुसपैठ कर चुकी है। यानी उस तरफ की इतनी भूमि नेपाल के अधीन चली गई है। एक अनुमान के अनुसार भारत का करीब 25 वर्ग किलोमीटर रकबा नेपाली क्षेत्र में जा चुका है।
मोहाना नदी पलिया तहसील के गौरीफंटा से निघासन तहसील के मझरापूरब तक भारत-नेपाल सीमा का विभाजन करती है। यहां से यह घाघरा में मिल जाती है। नेपाल की पहाड़ियों से निकलने वाली इस नदी का प्रवाह तेजी से बदल रहा है। हालत यह है कि पिछले चार-पांच साल में ही यह नदी भारतीय क्षेत्र में कई जगह आधा किमी भीतर आ चुकी है।
जिले के थारू जनजाति वाले इस इलाके में मोहाना के कटान और जलभराव से खेतीबाड़ी नष्ट हो चुकी है। दुधवा वन क्षेत्र की जमीन को भी भारी क्षति हुई है। निघासन तहसील में पिछले वर्ष चार गांवों नई बस्ती, बंदरैया, कश्यपनगर और अनूप नगर का वजूद खत्म कर चुकी यह नदी इस साल भी 80 हेक्टयर से अधिक भूमि निगल चुकी है। मोहाना के प्रवाह को उस पार छोड़े गए फाट में ले जाने के लिए थारू जनजाति के लोगों ने पिछले साल बिना किसी सरकारी सहायता के करीब 300 मीटर नाला खोदा था। उस समय धारा मुड़ गई लेकिन बाद में सिल्ट जमा होने के कारण नाला फिर पट गया।
इस सबके बावजूद सरकारी रिकार्ड सही तस्वीर पेश नहीं कर रहे हैं। पलिया में केवल बंदरबरारी क्षेत्र में 0.809 हेक्टेयर जमीन कटने का रिकार्ड है। हकीकत में इससे कई गुना अधिक खेतीहर जमीन नदी में समा चुकी है। निघासन क्षेत्र में गांव सूरतनगर के प्रधान रामकरन, जसनगर के प्रधान कामता और पलिया ब्लाक के पूर्व प्रमुख प्रदीप मेमरो का कहना है कि सरकारी रिकार्ड में जितनी जमीन नदी से कटी दिखाई जा रही है, उससे कहीं अधिक कटान हो रहा है। मोहाना का भारतीय भूमि पर आक्रमण जारी है।

वर्जन---
‘मोहना का रुख बदलता रहता है। यह कभी नेपाल की सीमा में पहुंच जाती है तो कभी भारत की सीमा में आ जाती है।क्षेत्र के राजस्व कर्मियों से कटान का आकलन कराकर हर वर्ष रिपोर्ट शासन को भेजी जाती है।’ -सुरेंद्र विक्रम सिंह, प्रभारी जिलाधिकारी, लखीमपुर खीरी।

अभी फाइलाें में हैं पांच कार्य योजनाएं
बाढ़ खंड के एक्सईएन एमओ सिद्दीकी का कहना है कि करीब 55 किमी भारतीय सीमा से लगी मोहना नदी के रुख बदलने से नुकसान हो रहा है। भू-कटाव रोकने के लिए उन्होंने निघासन तहसील के तिकुनिया, सूरतनगर और इंद्रनगर तथा पलिया के तेनहा, बंदरभरारी में सुरक्षा उपायों की पांच कार्ययोजनाएं तैयार की हैं।

Spotlight

Most Read

Dehradun

देहरादून: 24 जनवरी को कक्षा 1 से 12 तक बंद रहेंगे सभी स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्र

मौसम विभाग की ओर से प्रदेश में बारिश की चेतावनी के चलते डीएम ने स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्र बंद करने के निर्देश जारी किए हैं।

23 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में ‘एनकाउंटर अभियान’ के तहत एक लाख का इनामी ढेर

यूपी एसटीएफ ने एक कार्रवाई के तहत इनामी बदमाश बग्गा सिंह को ढेर किया। जानकारी के मुताबिक एसटीएफ ने कार्रवाई लखीमपुर-खीरी के पास नेपाल बॉर्डर पर की है। बात दें कि बग्गा सिंह कई मामलों में वांछित था और इसके सिर पर एक लाख रुपये का इनाम था।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper