कई ग्रामों में भरा पानी

Lakhimpur Updated Wed, 29 Aug 2012 12:00 PM IST
हजारों हेक्टेयर फसलें जलमग्न
पलियाकलां। क्षेत्र के करीब डेढ़ दर्जन ग्रामों में तबाही मचा रही सुहेली नदी पर बने सुहेली बैराज के सभी फाटक पूरे खुले न होने से जहां दुधवा नेशनल पार्क के एक बड़े भाग में पानी भर गया है, वहीं हजारों किसानों की कड़ी मेहनत से तैयार फसलें जलमग्न होकर नष्ट हो रहीं हैं।
दुधवा नेशनल पार्क की लाइफ लाइन कही जाने वाली, नेपाल से बहकर आई सुहेली नदी ने इस समय क्षेत्र के ग्राम बेला, तिलोकपुर, कोठिया, गुलरा, भगवंत नगर, बंसतापुरकलां, बुद्धापुरवा, फरसहिया, मकनपुर, बंशीनगर, चंबरबोझ, बेलहइया, देवीपुर, घोला, गजरौरा, फुलवरिया आदि ग्रामों की हजारों हेक्टेयर फसलें जलमग्न कर दी हैं।
क्षेत्र के ग्राम तिलोकपुर के प्रमुख कृषक डॉ. बेनी सिंह, बंशीनगर के ज्ञानी हरदीप सिंह, बेला के रामचंद्र, मझगईं के रमाशंकर पांडेय, बसंतापुर कलां के मैकूलाल, मकनपुर की सविता तिवारी, देवीपुर के हरविंदर सिंह सहित अनेक किसानों के कहने पर जब सुहेली बैराज को जाकर देखा तो उसके सभी ग्यारह गेट मात्र आंशिक रूप से खुले थे और नदी का बड़ी मात्रा में पानी दुधवा पार्क में घुस रहा था।
000000
पूर्व विधायक ने व्यक्त की नाराजगी
पूर्व विधायक निरवेंद्र कुमार मुन्ना एवं पूर्व जिला पंचायत सदस्य लीला देवी, सामाजिक कार्यकर्ता सविता तिवारी, प्रमुख कृषक डॉ. बेनी सिंह ने इस संदर्भ में कहा कि यदि प्रशासन और सिंचाई विभाग के अधिकारी क्षेत्र के किसानाें की इस ज्वलंत समस्या पर ध्यान नहीं देते हैं तो वे आंदोलन करने को मजबूर होंगे।
000000
शारदा सहायक सिंचाई परियोजना उप्र के चीफ इंजीनियर एचके शर्मा ने फोन पर बताया कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है। यदि ऐसा है तो वे अधिशासी अभियंता से पूछेंगे। उधर, अधिशासी अभियंता शारदा नगर, अर्जुन यादव से फोन पर जानकारी चाही गई तो बात न हो सकी।
0000
घटने लगा शारदा का जलस्तर
पलियाकलां। शारदा नदी का बढ़ रहा जलस्तर घटने लगा है। मंगलवार को नदी खतरे के निशान से महज सात सेंटीमीटर ऊपर रह गई थी। मंगलवार को नदी का जलस्तर 153.690 मापा गया। सोमवार को नदी खतरे के निशान से करीब 17 सेंटीमीटर ऊपर बह रही थी। अब जलस्तर घटने से नदी केे समीपवर्ती गांवों के लोगों ने राहत महसूस की है लेकिन जलस्तर की गिरावट के साथ कटान शुरू हो गया है। दौलतापुर हाल्ट, कटैला बाबा देवस्थान और जंगल नंबर सात में कटान हो रहा हैै। हालांकि उसकी गति धीमी है और कटान शुरू होने से लोगों में थोड़ा डर बैठ गया है। कटान की गति तेज हुई तो क्षेत्र के लिए यह खतरनाक साबित हो सकता है। इधर, खेतों में भरा बाढ़ का पानी काफी कम हो गया है।
00000
एक दिन में 10 बीघा जमीन लील रही है नदी
लगदाहन में भी कटान जारी है और नदी एक दिन में यहां करीब दस बीघा जमीन निगल चुकी है। लगदाहन में कटान को रोकने के लिए प्रशासन अभी कोई कदम नहीं उठा पाया है। तमाम ग्रामीण भूमिहीन हो चुके हैं और तमाम कगार पर हैं।
0000
मोटेबाबा गांव के पांच और घर घाघरा में समाए
धौरहरा। तहसील क्षेत्र के ग्राम मोटेबाबा में घाघरा का कटान जारी है। यहां कटान के चलते ग्राम निवासी राजेंद्र, शत्रोहन, रामनिवास, अवधेश, अवधराम के घर भी घाघरा में समा गए। कटान रोकने को यहां प्रशासन ने अब तक कोई इंतजाम नहीं किए हैं।

Spotlight

Most Read

National

इलाहाबाद HC का निर्देश- CBI जांच में सहयोग करे लोक सेवा आयोग

कोर्ट ने लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष को जवाब दाखिल करने के लिए छह फरवरी तक की मोहलत दी है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में ‘एनकाउंटर अभियान’ के तहत एक लाख का इनामी ढेर

यूपी एसटीएफ ने एक कार्रवाई के तहत इनामी बदमाश बग्गा सिंह को ढेर किया। जानकारी के मुताबिक एसटीएफ ने कार्रवाई लखीमपुर-खीरी के पास नेपाल बॉर्डर पर की है। बात दें कि बग्गा सिंह कई मामलों में वांछित था और इसके सिर पर एक लाख रुपये का इनाम था।

18 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper