मैनेंजाइटिस से बालक की मौत

Lakhimpur Updated Wed, 29 Aug 2012 12:00 PM IST
सात अन्य भर्ती, डायरिया की चपेट में भी दो बच्चे आए
लखीमपुर खीरी। जिले में फैले मैनेंजाइटिस की चपेट में आकर मंगलवार को यहां जिला अस्पताल में एक बच्चे की मौत हो गई। इसके अलावा संभावित मैनेंजाइटिस के सात और डायरिया के दो अन्य रोगियों को भी जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
जिले में फैले मैनेंजाइटिस का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। सोमवार को दोपहर इस रोग की चपेट में आए निघासन निवासी जगन्नाथ के पांच वर्षीय पुत्र रोहित उर्फ मोहित को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। मंगलवार की सुबह उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई।
इसके अलावा कोतवाली सदर क्षेत्र के ग्राम सलेमपुर कोन निवासी संतराम के पुत्र गोलू (11), धौरहरा कोतवाली क्षेत्र के ग्राम कलुआपुर निवासी राजेंद्र की पुत्री ममता (8), कोतवाली सदर क्षेत्र के मोहल्ला कृष्णानगर निवासी प्रकाश की आठ वर्षीय पुत्री आयुषी, पलिया थाना क्षेत्र के ग्राम ढुसरा निवासी कैलाश की पुत्री अर्चना (3), मैलानी निवासी दीपू का पुत्र विशाल (10), कोतवाली सदर क्षेत्र के मोहल्ला बरखेरवा निवासी कौशल मिस्त्री की पुत्री शिवानी (10 दिन), मितौली थाना क्षेत्र के ग्राम सुतेहरा निवासी भगौती प्रसाद की पुत्री सावित्री (6) को तेज बुखार के साथ झटके आने और अचैतन्य हो जाने के कारण परिवार वालों ने यहां जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। चिकित्सालय प्रशासन ने इन सभी को मैनेंजाइटिस के लिए आरक्षित किए गए वार्ड में भर्ती कराया गया है। इनमे से अधिकतर बच्चों की हालत गंभीर बनी हुई है।
0000
डायरिया के दो नए रोगी भर्ती
जिले में डायरिया का प्रकोप भी थमने का नाम नहीं ले रहा है। मैलानी थाना क्षेत्र के ग्राम विशनपुर निवासी सुरेश के चार वर्षीय पुत्र सोमा तथा खीरी थाना क्षेत्र के ग्राम लघुचा निवासी विजय कुमार के दो वर्षीय पुत्र करुण को उल्टी-दस्त से पीड़ित होने के कारण परिवार वालों ने यहां जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उनका उपचार जारी है। चिकित्सकों ने सभी की हालत खतरे से बाहर बताई है।
00000
सदा खान की हालत में सुधार
संभावित इंसेफ्लाटिस की पहली मरीज के रूप में यहां जिला अस्पताल में भर्ती पसगवां थाना क्षेत्र के ग्राम महमदपुर ताजपुर निवासी फरमूद खां की पुत्री सदा खान (10) की दशा में तेजी से सुधार हो रहा है। तीन दिन पहले गंभीर दशा में जिला अस्पताल में भर्ती बालिका की हालत इतनी अधिक गंभीर थी कि शुरू में अस्पताल प्रशासन को उसमें सुधार की बहुत कम उम्मीद थी, लेकिन सीएमएस डॉ. एनके शर्मा की देखरेख में बालिका का इलाज कर रहे फिजीशियन डॉ. बद्रीश और बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. आरके वर्मा ने किया। बालिका सोमवार को ही होश में आ गई थी। मंगलवार को बालिका ने बोलना, हंसना भी शुरू कर दिया। करीब आठ दिन बाद इस बालिका ने आज जूस भी पिया और थोड़ा खाना भी खाया।
00000
पीलिया ने भी पसारे पांव, दो भर्ती
जिले में मैनेंजाइटिस और डायरिया का प्रकोप अभी थम भी नहीं सका था कि पीलिया ने भी अपने पांव पसारने शुरू कर दिए हैं। मंगलवार को खीरी थाना क्षेत्र के गनेशपुर निवासी अमरनाथ के चार वर्षीय पुत्र विकास और इसी गांव के निवासी पप्पू (20 दिन) को परिवार वाले आज काफी कमजोरी की हालत में जिला अस्पताल लेकर आए। जहां डॉक्टरों ने दोनों में पीलिया के लक्षण बताते हुए उन्हें भर्ती कर लिया।
00000
निघासन में भी छह लोग भर्ती
निघासन। बाढ़ प्रभावित इस तहसील में अब विभिन्न प्रकार के संक्रामक रोगों ने पांव पसारने शुरू कर दिए हैं। जिसके चलते स्थानीय सीएचसी में मरीजों की संख्या में बीते दो दिनों में काफी इजाफा हुआ है।
बाढ़ की विभीषिका झेल रहे तराई के लोगों की मुसीबत लगातार बढ़ती जा रही है। बाढ़ का प्रकोप अभी कम भी नहीं हो सका है कि क्षेत्र में संक्रामक रोगों ने लोगों को गिरफ्त में लेना शुरू कर दिया है। संक्रामक रोग की चपेट में आए क्षेत्र के उमरा निवासी जगतारा देवी, कस्बे की सुफियाना, सुमन, राधेश्याम, विनोद, दीपा, बीनू आदि को यहां सीएचसी में भर्ती कराया गया। मरीजों की बढ़ी संख्या के कारण जनरल वार्ड भर गया है। रानी निवासी रकेहटी का फर्श पर लिटाकर सीएचसी स्टाफ ने इलाज किया। डॉक्टरों की संख्या कम होने से अस्पताल में पर्चा बनवाने वाले मरीजों की लंबी लाइन लग रही है। सीएचसी प्रभारी डॉ. आरबी वर्मा से संपर्क करने पर पता चला कि वह गांवों में हो रहे टीकाकरण अभियान में जुटे हैं। उन्होंने अस्पताल पहुंचकर व्यवस्था ठीक किए जाने की बात कही।
00000
उल्टी-दस्त से तीन की मौत, कई बीमार
धौरहरा/ईसानगर। धौरहरा क्षेत्र में उल्टी और दस्त से एक वृद्ध और दो बच्चों की मौत हो गई।
ईसानगर क्षेत्र के गांव शंकरपुर का मजरा चमारन पुरवा निवासी 60 वर्षीय भगवानी तथा यहीं के नन्हू का 8 वर्षीय पुत्र अशोक मंगलवार को उल्टी-दस्त से पीड़ित थे। घर के लोग इन्हें प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ईसानगर लेकर आए। यहां से दवा लेकर गए दोनों की घर जाकर मौत हो गई। खमरिया क्षेत्र के गांव मटरिया निवासी राजकुमार क ा 6 वर्षीय पुत्र कुंदन भी मंगलवार को उल्टी-दस्त से पीड़ित था, उसकी भी मौत हो गई। इसके अलावा गांव चमारन पुरवा के राम मनोहर की 40 वर्षीय पत्नी रामयंती तथा उनका दो वर्ष का पुत्र रवि और इसी गांव के नन्हू का 10 वर्षीय पुत्र श्रीकृष्ण, 8 वर्षीय पुत्र लाला, 6 वर्षीय पुत्री गुलशन और 4 वर्षीय लक्ष्मी डायरिया से पीड़ित हैं। गांव चमारन पुरवा के ही रामलखन का 10 वर्षीय पुत्र कृष्णा और यहीं केअशरफ का 10 वर्षीय पुत्र सुलेमान भी डायरिया की चपेट में हैं।

Spotlight

Most Read

Dehradun

आरटीओ में गोलमाल, जांच शुरू

आरटीओ में गोलमाल, जांच शुरू

21 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में ‘एनकाउंटर अभियान’ के तहत एक लाख का इनामी ढेर

यूपी एसटीएफ ने एक कार्रवाई के तहत इनामी बदमाश बग्गा सिंह को ढेर किया। जानकारी के मुताबिक एसटीएफ ने कार्रवाई लखीमपुर-खीरी के पास नेपाल बॉर्डर पर की है। बात दें कि बग्गा सिंह कई मामलों में वांछित था और इसके सिर पर एक लाख रुपये का इनाम था।

18 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper