जलस्तर घटा पर कम नहीं हुईं दिक्कतें

Lakhimpur Updated Sun, 26 Aug 2012 12:00 PM IST
पलिया में शारदा अभी भी खतरा निशान से आठ सेमी ऊपर
लखीमपुर खीरी। पिछले कई दिनों से उफनाई चल रही शारदा व घाघरा के जलस्तर में गिरावट के बाद बाढ़ से घिरे गांवों में बाढ़ का प्रकोप हालांकि धीरे-धीरे कम हो रहा है, लेकिन पीड़ितों की दिक्कतें अब भी कम होने का नाम नहीं ले रहीं हैं। पलिया में शारदा शनिवार को भी खतरे के निशान से आठ सेमी ऊपर रही। निघासन, धौरहरा व पलिया के दर्जनों गांवों में शनिवार को भी बाढ़ का पानी भरा रहा। खेतों में पानी भरा होने से पशुओं के चारे का संकट भी बना है। प्रशासन के बचाव व राहत कार्य शुरू न किए जाने से पीड़ितों में रोष है।
पलियाकलां। यहां सुहेली का जलस्तर स्थिर हो गया है। इसके चलते खेतों में भरे बाढ़ के पानी की स्थिति भी जस की तस है। अतरनगर घोला मार्ग की पुलिया, बिलहिया चंबरबोझ मार्ग समेत फुलवरिया जाने वाले रास्तों पर भी बाढ़ के पानी की स्थिति जस की तस बनी हुई है। शनिवार को बनबसा बैराज से शारदा में अतिरिक्त पानी की रिलीजिंग करीब 61678 क्यूसेक थी। जलस्तर में गिरावट के बाद भी शारदा यहां खतरे के निशान से करीब आठ सेंटीमीटर ऊपर बह रही है। शनिवार को शारदा का जलस्तर 153.700 मापा गया। जलस्तर कम होने से बाढ़ के पानी से घिरे गांवों के लोगों ने राहत महसूस की है लेकिन खेतों में पानी भरे होने से उन्हें अभी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। मवेशियों के चारे की भयानक किल्लत है। साथ ही बाढ़ से घिरे होने के कारण गांवों में संक्रामक रोगों के फैलने का खतरा भी बढ़ रहा है। इसके बावजूद गांवों में चिकित्सकीय सेवाएं मुहैया नहीं कराई जा रहीं हैं।
धौरहरा। घाघरा-शारदा का कहर जारी है। क्षेत्र के ग्राम बेलागढ़ी, परसा डेली और रामलोक गांवों में 70 प्रतिशत तक पानी भरा हुआ है। वहीं नउआपुर, रेहड़िया, लुधौनी, पट्टी गांव भी बाढ़ के पानी से घिरे हुए हैं। ग्रामीण बच्चों व मवेशियों की सुरक्षा को लेकर चिंतित दिखाई दे रहे हैं।
निघासन। शारदा के जलस्तर में यहां भी कुछ गिरावट जरूर आई है, लेकिन लोगों की दिक्कतें कम होने का नाम नहीं ले रहीं हैं। गांव बैलहा, ठाकुर पुरवा, जीतपुरवा, खमरिया, मिठुई, गृंट नंबर बारह में बाढ़ का पानी कम पड़ गया है। दुर्गंध व सडांध से बाढ़ पीड़ित काफी परेशान हैं। उधर झौवापुरवा, बैलहा के पास कटान जारी है।
00000
मोटेबाबा गांव के 10 और घर घाघरा में समाए
धौरहरा। मोटेबाबा गांव में शनिवार को घाघरा की तेज धार में 10 और घर बह गए। इसमें कटान की वजह से नदी में बहने वाले घरों की संख्य बढ़कर 89 हो गई है। इससे रामू, बलराम, भगौती, रामनिवास, मेवालाल, श्रवण कुमार, रामासरे, नंदकिशोर, कनौजीलाल और संतराम के परिवार बेघर हो गए हैं। दूसरे ग्रामीणों के घरों के भी नदी में समाने का खतरा मंडरा रहा है। इसके अलावा करीब 10 हेक्टेयर गन्ना और धान की फसल भी नदी में डूब गई है।
00000
मोहना का भी कटान जारी
चंदनचौकी। आदिवासी थारू जनजाति क्षेत्र के बंदरभरारी आदि गांवों के करीब से गुजरी मोहना नदी का भी कटान जारी है।
वेग मंद हुआ, मगर कटान जारी
मंहगापुर। शारदा नदी का जलस्तर घटने लगा है, मगर लगदाहन क्षेत्र में कटान नहीं थमा है। शारदा नदी के कटान की वजह से अब तक जंगल की करीब सौ एकड़ जमीन नदी में समा चुकी है।
मझगईं। खालेपुरवा और नयापुरवा गांवों में रास्तों से पानी घट रहा है, लेकिन नयापुरवा में कटान में कमी नहीं आई है। पिछले 24 घंटों में करीब दस बीघा से ज्यादा जमीन शारदा में समा चुकी है।
तिकुनियां। कटान की वजह से मैलानी-गोंडा रेलवे प्रखंड की रेल लाइन पर भी खतरा मंडराने लगा है। खैरेटिया में स्थित करीब सात किमी रेल लाइन और बांध के बीच दो सौ मीटर का ही फासला रह गया है। मोहाना नदी से बांध के कटान को देखते हुए रेलवे प्रशासन ने बांधरोड पर कुछ दूर तक बोल्डर (पत्थर) डालकर रोड और रेल लाइन को बचाने की कोशिश शुरू कर दी है। कटान करती मोहाना यहां ग्राम पंचायत सूरतनगर की ओर भी बढ़ रही है।
00000000
एडीएम ने देखा मोटेबाबा में कटान
लखीमपुर खीरी। अपर जिलाधिकारी वियोधन ने आज कटान प्रभावित गांव मोटेबाबा पहुंच हालात का जायजा लिया तथा दौरा कर वहां कटान पीड़ितों से मुलाकात की। उन्होंने कटान पीड़ितों में राहत व बचाव कार्य तेज करने के निर्देश एसडीएम को दिए। इस मौके पर एसडीएम विनोद गुप्ता सहित तहसील प्रशासन के सभी अधिकारी मौजूद रहे।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

RLA चंडीगढ़ में फिर गलने लगी दलालों की दाल, ऐसे फांस रहे शिकार

रजिस्टरिंग एंड लाइसेंसिंग अथॉरिटी (आरएलए) सेक्टर-17 में एक बार फिर दलाल सक्रिय हो गए हैं, जो तरह-तरह के तरीकों से शिकार को फांस रहे हैं।

21 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में ‘एनकाउंटर अभियान’ के तहत एक लाख का इनामी ढेर

यूपी एसटीएफ ने एक कार्रवाई के तहत इनामी बदमाश बग्गा सिंह को ढेर किया। जानकारी के मुताबिक एसटीएफ ने कार्रवाई लखीमपुर-खीरी के पास नेपाल बॉर्डर पर की है। बात दें कि बग्गा सिंह कई मामलों में वांछित था और इसके सिर पर एक लाख रुपये का इनाम था।

18 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper