धौैरहरा, निघासन, पलिया के दर्जनों गांवों में बाढ़ का कहर

Lakhimpur Updated Sat, 25 Aug 2012 12:00 PM IST
पलिया में शारदा खतरे के निशान से 15 सेमी ऊपर
धौरहरा के मोटेबाबा गांव में पांच घर घाघरा ने लीले
100 एकड़ से अधिक जमीन भी लील गई शारदा-घाघरा
लखीमपुर खीरी। जिले की धौरहरा, निघासन व पलिया तहसील के तमाम गांव शुक्रवार को भी बाढ़ के पानी से घिरे रहे। शारदा का जलस्तर जरूर कुछ कम हुआ है, लेकिन पलिया में वह खतरे के निशान से अभी भी 15 सेमी ऊपर बह रही है। वहीं सुहेली के उफान पर होने से दुधवा मार्ग को भी कटान का खतरा पैदा हो गया है। निघासन के तमाम गांव व संपर्क मार्गों पर बाढ़ का पानी भरा होने से लोगों को भोजन बनाने, सोने के साथ आवागमन संबंधी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। धौरहरा में घाघरा के कटान के चलते बीते 24 घंटे में मोटेबाबा गांव के पांच लोगों के घर जहां नदी में समा गए, वहीं चहमलपुर में करीब 80 लोगों की 70 एकड़ कृषि भूमि भी नदी निगल गई।
पलियाकलां। शुक्रवार को बनबसा से तीन बजे करीब 65811 क्यूसेक पानी रिलीज किया गया। इससे नदी का जलस्तर खिसक कर यहां 153.770 रह गया जो खतरे निशान 153.620 से अब भी 15 सेंटीमीटर ऊपर है। खालेपुरवा में बीते 24 घंटे में हुए कटान के चलते बाबूराम, चेतराम, रामऔतार की करीब दो एकड़ से अधिक धान की फसल, अंग्रेज सिंह की पांच एकड़ गन्ने की फसल नदी में समा गई। लगदाहन गांव के खेतीहर इलाके में भी करीब दस बीघा जमीन नदी में समा चुकी है।
निघासन। क्षेत्र के ग्राम बैलहा, ठाकुरपुरवा के करीब दो दर्जन से अधिक गांवों में बाढ़ का पानी अब भी भरा हुआ है। ठाकुरपुरवा गांव के रामचंदर, लेखराम, बीरबल, राममूर्ती आदि ने बताया कि लेखपाल के अलावा कोई भी अधिकारी ने गांव की तरफ मुड़कर नहीं देखा है। घरों में पानी भरने से सबसे बड़ी समस्या खाना बनाने और रात में सोने की है। हालांकि जानवरों को ऊंचे स्थान पर भेज दिया गया है। गांवों में अब तक डॉक्टरों की कोई भी टीम नहीं पहुंची है। जिससे गांव में बीमारी फैलने का डर बना हुआ है। अब तक जीतपुरवा, बैलहा, ठाकुरपुरवा आदि गांवों को जाने के लिए नाव का सहारा लेना पड़ रहा है। गौढ़ीपुरवा, चंदनपुरवा के पास सड़क पर अभी बाढ़ का पानी चल रहा है। बैलहा गांव के लोग अपना सामान व बच्चों को निकालकर सुरक्षित स्थान पर पहुंच रहे हैं। कटान थमने का नाम नहीं ले रहा है। नदी बैलहा गांव से मात्र चार सौ मीटर दूर रह गई है। दो दिनाें में नदी ने किसान नेता नरेंद्र सिंह भदौरिया की चार एकड़ गन्ने की फसल को अपने आगोश में ले लिया है।
00000
चहमलपुर में 70 एकड़ कृषि भूमि निगल गई शारदा
धौरहरा। पिछले साल कटान की भेंट चढ़ चुके ग्राम चहमलपुर के ग्रामीणों की कृषि भूमि का भी शारदा ने एकाएक कटान शुरू कर दिया है। ग्राम निवासी जयपाल, बृजकिशोर, लल्ला, मुन्ना, अकबाल, रामऔतार, मोहनलाल, श्रीकृष्ण, चंद्रिका, हरीराम, सतीश, पुरुषोत्तम, ओमप्रकाश, झब्बूलाल, रामसहाय, संदीप, श्याम किशोर, राम प्रकाश, महबूब सहित करीब 80 लोगों की करीब 70 एकड़ कृषि भूमि बीते 24 घंटे के भीतर शारदा की भेंट चढ़ चुकी है। बताते चलें कि पिछले साल कटान के चलते इस गांव के लोग आबादी के नदी में समा जाने के कारण पहले ही आवासहीन हो चुके थे अब कृषि भूमि के नदी में समा जाने से उनके समक्ष रोजी-रोटी का संकट भी पैदा हो गया है।
00000
मोटेबाबा के पांच और घर घाघरा ने लीले
मोटेबाबा में घाघरा के कटान का कहर जारी है। बीते 24 घंटे के भीतर यहां ग्राम निवासी विद्या सागर, इतवारी लाल, राधेश्याम, लालजी गुप्ता तथा कढिलेराम के आवास भी आज नदी में समा गए। इसी के साथ मकान कटने वालों की संख्या बढ़ कर 80 हो गई है।
00000
पूर्व सपा विधायक डॉ. आरए उस्मानी ने ग्राम मोटेबाबा पहुंच वहां घाघरा द्वारा किए जा रहे कटान का जायजा लिया। उन्होंने पीड़ितों के बीच से ही एसडीएम धौरहरा से वार्ता की तथा उनसे कटान पीड़ितों को शीघ्र अति शीघ्र बसाने की बात कही। पूर्व विधायक ने पीड़ितों को शासन-प्रशासन से मिलने वाली हर संभव सहायता भी उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

दिल्ली-एनसीआर में दोपहर में हुआ अंधेरा, हल्की बार‌िश से गिरा पारा

पहले धुंध, उसके बाद उमस भरे मौसम और फिर हुई हल्की बारिश ने दिल्ली में हो रहे गणतंत्र दिवस के फुल ड्रेस रिहर्सल में विलेन की भूमिका निभाई।

23 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में ‘एनकाउंटर अभियान’ के तहत एक लाख का इनामी ढेर

यूपी एसटीएफ ने एक कार्रवाई के तहत इनामी बदमाश बग्गा सिंह को ढेर किया। जानकारी के मुताबिक एसटीएफ ने कार्रवाई लखीमपुर-खीरी के पास नेपाल बॉर्डर पर की है। बात दें कि बग्गा सिंह कई मामलों में वांछित था और इसके सिर पर एक लाख रुपये का इनाम था।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper