भूकंप के झटकों से सहमे लोग

Lakhimpur Updated Sat, 25 Aug 2012 12:00 PM IST
पलिया क्षेत्र में गुरुवार को घरों से निकल आए लोग, फोन से एक-दूसरे को किया अलर्ट
लखीमपुर खीरी। शहर में गुरुवार रात को भूकंप के झटकों से लोग सहम गए। हालांकि यहां इतना कम असर था कि कु छ लोगों कोे तो अहसास भी नहीं हो सका। पलिया तहसील क्षेत्र में नेपाल से लगे बार्डर पर इसके झटके अधिक लोगों ने महसूस किए। जिन लोगों ने इन झटकों को महसूस किया, कु छ देर के लिए सहम गए।
यहां शहर में संकटा देवी मंदिर के समीप, प्रकाश होटल के समीप भी लोगों ने भूकंप के झटके महसूस किए। संकटा देवी मंदिर के समीप रामजी और चेतना को उस समय झटके महसूस हुए जब वे लोग टीवी देख रहे थे और बच्चे पढ़ाई कर रहे थे। मंदिर के पुजारी कन्हैया लाल को भी भूकंप के हल्के झटके महसूस हुए। प्रकाश होटल के रूम नंबर 202 में रुके दिल्ली निवासी ब्रज कुमार ने बताया कि पास में रखा गिलास हिलने लगा तो उनमें दहशत पैदा हो गई। भूकंप की आशंका के बारे में उन्होंने और लोगों को भी बताया।
पलियाकलां। बृहस्पतिवार की रात करीब 10 बजे के आसपास शहर और आसपास के इलाके में भूकंप के झटके महसूस किए गए। भूकंप की तीव्रता का आंकलन नहीं पता चल सका है। गुरुवार रात में ही झटके महसूस करने वाले तमाम लोग घरों से भी बाहर आ गए। पूरी रात लोग सहमे रहे और सतर्क भी रहे। उन्हें डर था कि फिर से भूकंप तेज गति के साथ न आ जाए। लोगों ने रात में एक दूसरे को फोन कर भूकंप के बारे में आगाह भी किया और उन्हें सतर्क किया। पलिया में रिटायर शिक्षक नरेश चंद्र अवस्थी को उस समय झटकों का अहसास हुआ जब वह लघुशंका को उठे थे। रंगरेजान मोहल्ले की इंदिरा को भी झटके लगे। तिकुनिया में इलेट्रिक आइटम विक्रेता कमल जैन ने बताया कि भूकंप का हल्का आभास उन्होंने भी किया।
नगर के मोहल्ला माहीगीरान निवासी शिक्षक नफीस अहमद ने बताया कि उन्हें करीब दस बजे हल्के झटके महसूस हुए। पहले तो उन्होंने ध्यान नहीं दिया लेकिन बाद में कई झटके लगने पर वे समझ गए कि भूकंप आया है। इसी प्रकार मोहल्ला किसान निवासी रामबाबू वर्मा, उमाशंकर जायसवाल, राजेश कुमार, रजनी मेहरोत्रा और मोहल्ला काकूपुरियान निवासी नरेश चंद्र अवस्थी, मोहल्ला रंगरेजान द्वितीय के सभासद सीताराम राठौर, किशन नाग ने भी भूकंप के झटके आने की पुष्टि की। नेपाल सीमा के करीबी थारू ग्राम बंदरभरारी निवासी रामचंद्र राना एवं सुमेरनगर निवासी सुरेंद्र गुप्ता ने भी भूकंप आने की पुष्टि की है।
00000
भूकंप के झटकों का प्रशासन को एहसास नहीं
लखीमपुर खीरी। जिले के कई स्थानों पर भले ही गुरुवार की रात भूकंप के झटके लोगों ने महसूस किए लेकिन प्रशासन को इस झटके का तनिक भी अहसास नहीं है। वजह भूकंप के झटकों की कोई रिपोर्टिंग का न होना है।
जिले के कई स्थानों पर गुरुवार रात भूकंप के झटके लोगों ने महसूस किए। कुछ स्थानों पर लोग भय के कारण घर से बाहर मैदान तक में आ गए, लेकिन जिला प्रशासन इससे शुक्रवार दूसरे दिन भी बेखबर रहा। न तो संबंधित इलाकों के जिम्मेदार अधिकारियों ने जिला प्रशासन को इसकी कोई रिपोर्टिंग की और न ही जिला प्रशासन ने शासन को। प्रभारी जिलाधिकारी सुरेंद्र विक्रम सिंह ने बताया कि जिला स्तर पर भूकंप आंकने का कोई यंत्र नहीं है। इसके लिए लखनऊ में यंत्र लगे हैं।
बताते चलें कि यहां यह हाल तब है जब यह जिला नेपाल सीमा से सटा हुआ है तथा भूकंप संभावित क्षेत्रों में इसकी गिनती होती है। यही वजह है कि यहां सभी सरकारी भवन भूकंपरोधी बनाए जाते हैं तथा नये भवनों को भी भूकंपरोधी बनाने के निर्देश हैं।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

फुल ड्रेस रिहर्सल आज, यातायात में होगी दिक्कत, कई जगह मिल सकता है जाम

सुबह 10:30 से दोपहर 12 बजे तक ट्रेनों का संचालन नहीं किया जाएगा। कई ट्रेनें मार्ग में रोककर चलाई जाएंगी तो कई आंशिक रूप से निरस्त रहेंगी।

23 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में ‘एनकाउंटर अभियान’ के तहत एक लाख का इनामी ढेर

यूपी एसटीएफ ने एक कार्रवाई के तहत इनामी बदमाश बग्गा सिंह को ढेर किया। जानकारी के मुताबिक एसटीएफ ने कार्रवाई लखीमपुर-खीरी के पास नेपाल बॉर्डर पर की है। बात दें कि बग्गा सिंह कई मामलों में वांछित था और इसके सिर पर एक लाख रुपये का इनाम था।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper