जिले में वायरल और डायरिया ने पांव पसारे

Lakhimpur Updated Sat, 18 Aug 2012 12:00 PM IST
उमस भरी गर्मी ने बढ़ाई बीमारों की तादाद, अस्पताल में बढ़ी मरीजों की संख्या, डॉक्टरों का टोटा
लखीमपुर खीरी। मौसम के उतार-चढ़ाव और उमस भरी गर्मी के चलते इन दिनों पूरा जिला वायरल और डायरिया की चपेट में है। अस्पतालों में पिछले 10 दिनों में मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। बीमारों की संख्या बढ़ने से अस्पताल में वार्ड फुल हो गए हैं। मरीजोें को फर्श पर लिटाकर उनका इलाज करना पड़ रहा है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी जिले में वायरल, डायरिया फैलने से इनकार कर रहे हैं।
पिछले कई दिनों से बारिश न होने से गांवों और शहरों में भरा पानी सड़ने लगा है। इससे मच्छरों का प्रकोप बढ़ रहा है। उधर भीषण उमस भरी गर्मी से वायरल, डायरिया ने पैर पसारने शुरू कर दिए हैं। लोग बुखार, पेटदर्द और डायरिया जैसी बीमारियों के शिकार हो रहे है। अस्पतालों में मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही हैै।
0000
रोगियों में इजाफा और डॉक्टरों का टोटा
जिला अस्पताल में डॉक्टरों का टोटा और मरीजों की बढ़ती तादाद ने स्वास्थ्य विभाग के सामने मुसीबत खड़ी कर दी है। अधिकतर डॉक्टरों का तबादला हो गया है। उनकी जगह अभी नए डॉक्टर नहीं आए हैं। जिला अस्पताल में गिने-चुने डॉक्टर ही बचे हैं। मरीजों की बढ़ती संख्या के चलते डॉक्टरों की कमी से मरीजों को काफी दिक्कत उठानी पड़ रही है।
0000000000
वार्ड फुल, फर्श पर लिटाकर हो रहा इलाज
अस्पताल में दूसरी बड़ी बीमारियों से पीड़ितों के अलावा डायरिया, वायरल फीवर और पेटदर्द से पीड़ित लोगों को अस्पताल में भर्ती करने के लिए जगह कम पड़ने लगी है। हालात यह हैं कि अस्पताल के सारे बार्ड फुल हो गए है। बेड के अभाव में मरीजों का फर्श पर इलाज किया जा रहा है।
00000
गांवों में झोलाछाप डॉक्टर काट रहे चांदी
शहर के जिला अस्पताल और जिले के अन्य क्षेत्रों में स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में डॉक्टरों की कमी होने से शहर के मरीजों को प्राइवेट डॉक्टरों के महंगे इलाज का सहारा लेना पड़ रहा है। जबकि गांवों में मरीजों के इलाज के नाम पर झोलाछाप डॉक्टर चांदी काट रहे हैं।
0000
मुर्गहा गांव में डेढ़ सौ लोग तेज बुखार से पीड़ित
निघासन। क्षेत्र के मुर्गहा गांव में तेज बुखार के चलते डेढ़ सौ से अधिक लोग बीमार है। करीब 12 से अधिक लोगों का पूरा परिवार वायरल के चपेट में है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने अभी तक गांव की ओर रुख नहीं किया है। लोग अपना इलाज झोलाछाप डॉक्टरों से करवा रहे हैं। यहां एक सप्ताह से वायरल का प्रकोप है। इस गांव के रमेश का पूरा परिवार वायरल से पीड़ित है। रमेश की पत्नी मुन्नी देवी, उनके पुत्र धीरज (8), सौरभ (7) ,राधा देवी (5) आदि बीमार है। इसी गांव के लालता के पुत्र रोशन लाल(10), दीपक, बसंती(6), अनिल का पुत्र ध्रुव (11), रेखा रानी (9), गोकुल प्रसाद (30), छोटी (26), सुरेश कुमार राम स्वरूप, एसबी कुमार प्रियंका, विनोद का पुत्र नितेश (8), कुमार छोटू आदि बीमार हैं। इसमें छह माह के बच्चे छोटू की हालत गंभीर बतायी जाती है। बेंचे लाल का पुत्र सुन्दर (10), तारा कुमार का पुत्र विक्रम (9) आदि बीमार हैं। इसके अलावा भीमसेन, नेकीराम का पूरा परिवार वायरल की चपेट में है।
00000
डायरिया का प्रकोप, एक की मौत
मोहम्मदी। क्षेत्र के गांव रायपुर में उल्टी-दस्त से कई लोग बीमार हैं जबकि 12 अगस्त को उल्टी-दस्त का शिकार अधेड़ जगन्नाथ की मृत्यु हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग वहां प्रतिदिन डॉक्टरों की टीम भेज रहा है। शुक्रवार को स्वयं सीएचसी प्रभारी एसआर वर्मा ने मरीजों को दवा वितरित की।
पिपरिया धनी संवाददाता के अनुसार गांव में ताराचंद्र (55)़, रतीराम (25), उसकी पत्नी (23), मनीराम (25), सूरजपाल की नातिन नीति (08), हेमसिंह की पत्नी (65), ब्रजराज की पुत्री एकता (08) तथा टीकाराम और उसकी पत्नी उल्टी-दस्त से पीड़ित हैं। यहां बता दें कि 12 अगस्त को उल्टी-दस्त से पीड़ित जगन्नाथ (55) ने दम तोड़ दिया था। इससे गांव वालों में डर पैदा हो गया है कि कहीं डायरिया कहीं बड़ा रूप न लेले।
सीएचसी प्रभारी डॉ. एसआर वर्मा ने बताया कि स्थिति पर नजर रखी जा रही है। प्रतिदिन डॉ. सुशील कुमार व डॉ. अश्वनी कुमार गांव में मौजूद रहते हैं। उन्होंने कहा कि शुक्रवार को वह स्वयं एम्बुलेंस लेकर यहां आए और मरीजों को दवा वितरित की।
000000
मौसम के उतार-चढ़ाव से बीमारों की संख्या बढ़ी
मौसम के उतार-चढ़ाव के कारण इन दिनों लोग पेट दर्द, डायरिया, और वायरल की चपेट में हैं। इन्हीं के मरीज अधिक संख्या में अस्पताल में आ रहे हैं। डॉक्टरों की कमी के बावजूद अस्पताल में इलाज की पूरी सुविधा देने की कोशिश की जा रही है।
-डॉ. एनके शर्मा,
चिकित्सा अधीक्षक जिला अस्पताल, लखीमपुर खीरी।
00000
अभी संक्रामक रोग फैलने की सूचना नहीं
अब तक कहीं से भी संक्रामक रोगों के फैलने की सूचना नहीं मिली है। अमीरनगर में दिमागी बुखार की सूचना मिली थी, वहां टीम भेजी गई है लेकिन दिमागी बुखार की पुष्टि नहीं हुई है। इन दिनों डायरिया और वायरल से अधिक लोग पीड़ित है। ऐसे समय में लोगों को बासी खाना, कटे रखे फल, बाजार का जूस आदि पीने से बचना चाहिए। साफ पानी का इस्तेमाल करें। वायरल होने की दशा में माथे पर ठंडे पानी की पट्टी रखें और पैरासेटामाल का प्रयोग करें।
-डॉ. हर्ष शर्मा
संक्रामक रोग प्रभारी, लखीमपुर खीरी

Spotlight

Most Read

Kotdwar

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की टीम ने डाला कण्वाश्रम में डेरा

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की टीम ने डाला कण्वाश्रम में डेरा

19 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में ‘एनकाउंटर अभियान’ के तहत एक लाख का इनामी ढेर

यूपी एसटीएफ ने एक कार्रवाई के तहत इनामी बदमाश बग्गा सिंह को ढेर किया। जानकारी के मुताबिक एसटीएफ ने कार्रवाई लखीमपुर-खीरी के पास नेपाल बॉर्डर पर की है। बात दें कि बग्गा सिंह कई मामलों में वांछित था और इसके सिर पर एक लाख रुपये का इनाम था।

18 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper