डिग्री कॉलेजों में प्रवेश के लिए होगी मारामारी

Lakhimpur Updated Tue, 12 Jun 2012 12:00 PM IST
इंटर में जितने पास हुए उसकी आधी सीटें भी नहीं डिग्री कॉलेजों में
लखीमपुर खीरी। इंटरमीडिएट परीक्षा में पास हुए विद्यार्थियों को इस बार दाखिले के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। इस साल इंटरमीडिएट बोर्ड परीक्षा में 25 हजार से अधिक परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं, जबकि स्नातक कक्षाओं में प्रवेश के लिए डिग्री कॉलेजों में इससे आधी सीटें भी नहीं हैं। ऐसे में प्रवेश के लिए मारामारी होगी। तमाम अच्छा प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थी भी प्रवेश पाने से वंचित रह जाएंगे।
इस बार हाईस्कूल और इंटरमीडिएट में हजारों की संख्या में परीक्षार्थी सम्मान सहित और प्रथम श्रेणी से अधिक अंकों से उत्तीर्ण हुए। जिले के लगभग दो दर्जन ऐसे विद्यालय हैं जहां का परीक्षा परिणाम शतप्रतिशत रहा। विद्यार्थियों को बोर्ड परीक्षा में इस तरह की सफलता पहली बार मिली। इस बार इंटरमीडिएट परीक्षा में 27,415 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए थे। इसमें 93.92 प्रतिशत विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए यह संख्या लगभग 25,748 है। जिले में राजकीय और वित्तपोषित चार विद्यालय हैं। इन विद्यालयों में नए सत्र के लिए लगभग 4023 सीटें हैं। इनके अलावा 14 प्राइवेट क्षेत्र के विद्यालय हैं। इनमें भी लगभग 6500 सीटें हैं। इस तरह से 10,523 छात्रों का प्रवेश ही हो पाएगा। यदि सीटें बढ़ाने के लिए प्रयास हुए तो हो सकता है यह संख्या लगभग 12,000 तक पहुंच जाए, लेकिन फिर भी यह आंकड़ा आधे तक नहीं पहुंच पाएगा। इसके अलावा सीबीएसई और आईसीएसई परीक्षा पास करने वाले विद्यार्थी भी प्रवेश लेने वालों में शामिल होंगे।
0000
वित्तपोषित विद्यालय सीटों की संख्या
वाईडी डिग्री कॉलेज 1739
लखीमपुर
भगवान दीन आर्य कन्या 480
डिग्री कॉलेज, लखीमपुर
केनग्रोवर्स डिग्री कॉलेज 904
गोला गोकर्णनाथ
राजकीय डिग्री कॉलेज 900
पलिया कलां
कुल सीटें 4023
0000
बालिकाओं को होगी ज्यादा परेशानी
जिले में कन्याओं के लिए केवल भगवान दीन आर्यकन्या इंटर कॉलेज और गोला गोकर्णनाथ में गुरुनानक कन्या महाविद्यालय है। इसमें भगवानदीन आर्यकन्या इंटर कॉलेज में 480 और गुरुनानक महाविद्यालय गोला गोकर्णनाथ में केवल 260 सीटें हैं। इन दोनों विद्यालयों में 740 बालिकाओं के ही प्रवेश हो पाएंगे। इसलिए बालिकाओं को प्रवेश के लिए ज्यादा ही दिक्कत होगी।
00000
कहां जाएंगे विज्ञान वर्ग के छात्र
विज्ञान वर्ग के छात्रों को प्रवेश की सबसे ज्यादा दिक्कत होगी। इसकी मेरिट भी बहुत अधिक होगी। जिले में विज्ञान विषय के लिए सिर्फ तीन कॉलेज हैं इसमें शहर के वाईडी डिग्री कॉलेज में विज्ञान वर्ग की 300 सौ सीटें हैं। इसके अलावा गुरुनानक महाविद्यालय, गुरु हरिकिशन डिग्री कॉलेज गोलागोकर्णनाथ और बाबू रामेश्वर दयाल महाविद्यालय सरैंया हैं। इन विद्यालयाें में विज्ञान की लगभग 450 सीटें हैं। इस तरह विज्ञान वर्ग की सीटें भी लगभग 750 तक हैं, और विज्ञान वर्ग में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों की संख्या हजारों में हैं। ऐसे में विज्ञान वर्ग के हजारों विद्यार्थी प्रवेश पाने से वंचित रह जाएंगे।

Spotlight

Most Read

Dehradun

देहरादून: 24 जनवरी को कक्षा 1 से 12 तक बंद रहेंगे सभी स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्र

मौसम विभाग की ओर से प्रदेश में बारिश की चेतावनी के चलते डीएम ने स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्र बंद करने के निर्देश जारी किए हैं।

23 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में ‘एनकाउंटर अभियान’ के तहत एक लाख का इनामी ढेर

यूपी एसटीएफ ने एक कार्रवाई के तहत इनामी बदमाश बग्गा सिंह को ढेर किया। जानकारी के मुताबिक एसटीएफ ने कार्रवाई लखीमपुर-खीरी के पास नेपाल बॉर्डर पर की है। बात दें कि बग्गा सिंह कई मामलों में वांछित था और इसके सिर पर एक लाख रुपये का इनाम था।

18 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper