धीमे उतार से थम गई गेहूं खरीद की रफ्तार

Lakhimpur Updated Sun, 27 May 2012 12:00 PM IST
लक्ष्य के सापेक्ष हुई 50 फीसदी गेहूं खरीद
गोदाम के बाहर लगी करीब 600 वाहनों की कतार
आदेश के बावजूद मंडी में नहीं शुरू हुआ उतार
प्रतिदिन 20 से 25 गाड़ियों का ही हो रहा उतार
लखीमपुर खीरी। गेहूं भंडारण में अव्यवस्थाएं हावी हैं, जिससे वाहनों से गेहूं का उतार नहीं हो पा रहा है। गोदाम फुल होने के बाद मैदान पर बल्ली-तिरपाल के सहारे स्टोरेज करने के प्लान पर अभी तक खास अमल नहीं हो सका है। 50 हजार बल्लियों की डिमांड के मुकाबले अभी तक 7280 बल्लियां उपलब्ध कराई गई हैं। जबकि मंडी परिषद ने अब तक एक भी तिरपाल की व्यवस्था नहीं की है, जबकि 700 तिरपालों की आवश्यकता है। इतना ही नहीं राजापुर मंडी में उतार कराने के आदेश दिए जा चुके हैं, लेकिन इस पर भी अमल नहीं किया जा रहा है।
भंडारण की समस्या का अंदाजा पहले से ही अधिकारियों को हो गया था, क्योंकि लक्ष्य 220423 एमटी के मुकाबले भंडारण क्षमता काफी कम थी। करीब 15 दिनों की गेहूं खरीद से ही गोदाम फुल हो गए थे। इससे निजात पाने के लिए सीतापुर जिले के मिश्रिख स्थित एसडब्ल्यूसी के गोदाम में गेहूं भेजा गया तो मैगलगंल, गोला, पलिया मंडी में वैकल्पिक व्यवस्था की गई। करीब 1740 एमटी गेहूं रेलवे के रैक प्वाइंट बिसवां से गेहूं सहारनपुर भेजा गया है। इसके बावजूद उतार व्यवस्था में सुधार नहीं आया है। हालात यह हैं कि धीमे उतार के चलते क्रय केंद्रों पर खरीद ठप सी हो गई है। वजह एक ही बताई जा रही है कि धीमे उतार के चलते ट्रकों को खाली होने में 20 से 25 दिन का समय लग जाता है। इसके चलते ट्रकों की लंबी-लंबी कतारें गोदाम के अंदर से लेकर रोड किनारे लगी है। इंडस्ट्रियल एरिया छाउछ में ट्रकों के उतार में धांधली की बात सामने आई है। ट्रांसपोर्टर राहुल मिश्रा, नईम खां, मुकेश शुक्ला आदि ने डीएम को पत्र देकर उतार में अनियमितता का आरोप लगाया है।
00000
किसानों का 2697 लाख बकाया
लक्ष्य 220423 एमटी के मुकाबले एजेंसियों ने अब तक 14931 किसानों से 110619 एमटी गेहूं खरीद कर ली है। अब तक 11517.38 लाख रुपये का भुगतान किसानों को किया गया है, जबकि 2697.16 लाख रुपये बकाया है।
0000
वर्जन.............
भंडारण के लिए जगह नहीं बची है। बल्लियों पर उतार कराया जा रहा है, पूरे जिले का लोड इंडस्ट्रियल एरिया में ही है। प्रतिदिन 20 से 25 गाड़ियों का उतार हो पाता है, क्योंकि गोदाम और बल्लियों पर भंडारण करने में काफी फर्क है। उतार बढ़ाने के प्रयासों के लिए रेलवे रैक से गेहूं को बाहर भेजने पर विचार चल रहा है।
-धनजंय सिंह, प्रबंधक, एसडब्ल्यूसी
0000
राजापुर मंडी में उतार शुरू होना है, लेकिन बल्लियों की आमद धीमी गति से हो रही है। गुड़मंडी से लेकर चौड़ी रोड पर बल्लियां बिछाकर भंडारण शीघ्र ही शुरू कराया जाएगा। उतार धीमा होने की वजह से कुछ क्रय केंद्रों पर अव्यवस्थाएं उत्पन्न हुई हैं, लेकिन जल्द ही सुधार कर लिया जाएगा।
-आलोक रंजन, एसएमआई

Spotlight

Most Read

Jharkhand

गरीबी की वजह से इस शख्स ने शुरू किया था मिट्टी खाना, अब लग गई लत

गरीबी की वजह से झारखंड के कारु पासवान ने मिट्टी खानी शुरू की थी।

19 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में ‘एनकाउंटर अभियान’ के तहत एक लाख का इनामी ढेर

यूपी एसटीएफ ने एक कार्रवाई के तहत इनामी बदमाश बग्गा सिंह को ढेर किया। जानकारी के मुताबिक एसटीएफ ने कार्रवाई लखीमपुर-खीरी के पास नेपाल बॉर्डर पर की है। बात दें कि बग्गा सिंह कई मामलों में वांछित था और इसके सिर पर एक लाख रुपये का इनाम था।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper