बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

अधिसूचना जारी होते ही बढ़ी राजनीतिक गतिविधियां

Lakhimpur Updated Sat, 26 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
इस बार महिला उम्मीदवारों की संख्या ज्यादा रहने की उम्मीद
विज्ञापन

पार्टी टिकट के लिए जोड़तोड़ में जुटे उम्मीदवार
लखीमपुर खीरी। स्थानीय निकाय चुनाव के लिए अधिसूचना जारी होने के साथ ही चुनावी सरगर्मियां एकाएक तेज हो गई हैं। जिले में नगर निकाय चुनाव तीसरे चरण में एक जुलाई को होंगे। लखीमपुर नगर पालिका अध्यक्ष पद के लिए जो उम्मीदवार पहले से चुनाव प्रचार और जनसंपर्क में जुटे थे, उन्होंने अपना चुनावी अभियान और तेज कर दिया है। जबकि कुछ उम्मीदवार अधिसूचना जारी होने का इंतजार कर रहे थे, अब एकाएक सक्रिय हो उठे हैं।
अभी तक जो चुनावी तस्वीर उभर कर सामने आई है उसके मुताबिक लखीमपुर नगर पालिका अध्यक्ष पद के लिए महिला उम्मीदवारों की संख्या ज्यादा होने की उम्मीद है। मालूम हो कि पहले यह सीट महिला के लिए आरक्षित हुई थी। इसके चलते कई महिला उम्मीदवार चुनाव की तैयारियों में जुट गईं। इनमें प्रमुख रूप से डॉ. इरा श्रीवास्तव, डॉ. उमा कटियार, नीरू पुरी, तृप्ति अवस्थी, कायनात, आशा रस्तोगी, इंद्रावती, जैबुनिशां, कुसुम बरनवाल, सदरुनिशा, सुमन सोनी, खातून बेगम, सविता कश्यप आदि शामिल हैं।

सपा की सरकार आने पर फिर आरक्षण बदला और लखीमपुर नगर पालिका अध्यक्ष की सीट अनारक्षित कर दी गई। इसके बावजूद भारतीय जनता पार्टी की पूर्व जिलाध्यक्ष डॉ. इरा श्रीवास्तव, सौजन्या की अध्यक्ष डॉ. उमा कटियार, इंद्रावती, सविता कश्यप आदि महिलाएं अभी तक चुनाव मैदान में डटी नजर आ रहीं। हालांकि नीरू पुरी, आशा रस्तोगी, और तृप्ति अवस्थी अभी तक पार्टी टिकट की आश में चुनाव प्रचार में लगी हुई हैं। इनमें डॉ. इरा श्रीवास्तव और डॉ. उमा कटियार का चुनाव लड़ना पूरी तरह तय माना जा रहा है।
सीट अनारक्षित होने पर तमाम पुरुषों ने चुनाव मैदान में ताल ठोक दी है। इनमें पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष ज्ञान प्रकाश वाजपेयी के अलावा, उमाशंकर मिश्र, रमेश अग्रवाल, रवींद्र पाल सिंह, अजय गुप्ता, अनूप शुक्ला, डॉ. डीएन वर्मा, पन्ना लाल, देवांशु पांडे और पूर्व सभासद शुएब अहमद के नाम शामिल हैं। इसके बावजूद अभी तक महिला उम्म्ीदवारों की संख्या ही ज्यादा दिखाई पड़ रही है।
0000
पार्टी टिकट के लिए जोड़-तोड़ शुरू
निकाय चुनाव की अधिसूचना जारी होने के बाद पार्टी टिकट के लिए दावेदारों की जोड़-तोड़ तेज हो गई है। टिकट के दावेदारों ने जिले के संगठन से लेकर लखनऊ और दिल्ली तक की दौड़ शुरू कर दी है। इनमें से कुछ को तो पक्का आश्वासन मिला तो कुछ को उम्मीद बंधाकर टरका दिया गया है। टिकट के सभी दावेदार अपने दावे को सबसे ज्यादा मजबूत मान रहे हैं।
0000
सबसे ज्यादा उत्साहित है भाजपा
नगर पालिका चुनाव को लेकर भाजपा में खासा उत्साह नजर आ रहा है। भारतीय जनता पार्टी शहर में अपने जनाधार को सबसे मजबूत मानती है। इसीलिए भाजपा में टिकट के दावेदारों की संख्या भी सबसे ज्यादा है। हालांकि अभी तक पार्टी ने नगर पालिका अध्यक्ष पद के लिए कोई उम्मीदवार तय नहीं किया है। भाजपा इस चुनाव के लिए सबसे मजबूत उम्मीदवार की तलाश में है।
0000
कांग्रेस और पीस पार्टी ने भी कमर कसी
कांग्रेस भी नगर निकाय चुनाव में विधानसभा चुनाव की हार के कलंक को धोने के लिए कमर कस रही है, लेकिन अभी तक तृप्ति अवस्थी, डीएन वर्मा और कुसुम बरनवाल के अलावा कोई उम्मीदवार सामने नहीं आया है। पीस पार्टी से रमेश अग्रवाल ने कई सप्ताह पहले ही अपना चुनाव प्रचार शुरू कर दिया है।
0000
बसपा और सपा रहेगी चुनाव से बाहर
बसपा पहले ही स्थानीय निकाय चुनाव से अलग रहने की घोषणा कर चुकी है। सपा ने भी नगर निकाय चुनाव में किसी भी उम्मीदवार को अपना चुनाव चिह्न न देने का फैसला कि या है। इस तरह स्थानीय निकाय चुनाव में इस बार न हाथी दिखाई पडे़गा और न ही साइकिल दौड़ती दिखाई देगी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X