सीबीएसई के नतीजों में लड़कियों ने फिर बाजी मारी

Lakhimpur Updated Fri, 25 May 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
डान बास्को की शुभांगी, रितिका व राधिका अव्वल
लखीमपुर खीरी। सीबीएसई बोर्ड के हाईस्कूल के नतीजे गुरुवार देरशाम घोषित होते ही छात्र-छात्राओं के लिए इंटरनेट सर्वर परेशानी का सबब जरूर बना, लेकिन रिजल्ट देखने के साथ ही खुशी की लहर दौड़ गई। आशा के अनुरूप इस वर्ष भी रिजल्ट अच्छा रहा है, लेकिन छात्रों के मुकाबले छात्राओं ने एक बार फिर बेहतर प्रदर्शन कर कामयाबी का परचम लहराया है। डान बास्को कालेज की छात्रा शुभांगी सिंह, रितिका गुप्ता व राधिका मेहरोत्रा ने ए1 ग्रेड हासिल करने के साथ ही 10 प्वाइंट हासिल कर कामयाबी का पहला पड़ाव पार किया है। तो अजमानी इंटरनेशनल की छात्रा पवनदीप कौर, प्रज्ञा पांडे ने ए1 ग्रेड हासिल करने के साथ ही 9.8 प्वाइंट हासिल किए हैं। पाल इंटरनेशनल स्कूल की छात्रा सिमरनकौर ने ग्रेड ए1 के साथ 9.8 प्वाइंट प्राप्त कर कालेज का मान बढ़ाया है।
नतीजे आने में देरी होने के साथ ही छात्र-छात्राओं में एकबारगी मायूसी दिखने लगी थी, क्योंकि चार बजे के बजाय करीब सात बजे रिजल्ट आया। ग्रेड व प्वाइंट के सहारे छात्राओं ने एक बार फिर अपने बुलंद हौसलों का एहसास कराते हुए छात्रों को काफी पीछे छोड़ दिया है। नतीजन 10 प्वाइंट तक पहुंचने वालों की सूची में एक भी लड़के का नाम नहीं है। बल्कि लड़कियों के कई नाम गिनाए जा सकते हैं। डान बास्को कालेज की छात्रा शुभांगी सिंह के पिता डाकघर कर्मी हैं और वह डाक्टर बनकर देशसेवा करना चाहती है। तो व्यापारी राजेंद्र कुमार गुप्ता की बेटी रितिका भी डाक्टर बनेगी। देरशाम तक लोग इंटरनेट पर रिजल्ट जानने को उत्सुक थे। राहुल मेहरोत्रा की बेटी राधिका मेहरोत्रा इंजीनियर बनना चाहती है।
0000
राधिका बनेगी इंजीनियर
मोहल्ला हर्षी बंगला निवासी पतंजलि योगपीठ में काम करने वाले राहुल मेहरोत्रा की मेधावी बेटी राधिका डान बास्को कालेज की छात्रा है। न्यू साइंस स्टडी प्वाइंट की मदद से राधिका ने हाईस्कूल के नतीजे में ए1 ग्रेड हासिल करने के साथ 10 प्वाइंट हासिल किए हैं। राधिका ने खुशी जताते हुए बताया कि उसकी तमन्ना इंजीनियर बनकर देशसेवा करने की है। इसके लिए वह कड़ी मेहनत करेगी।
0000
आईपीएस बनकर देशसेवा करेगी पवनदीप
मोहल्ला नई बस्ती निवासी बिजनेसमैन बलवेंदर सिंह नीटू की पुत्री पवनदीप कौर ने ए1 ग्रेड व 9.8 प्वाइंट हासिल किए हैं। अजमानी इंटरनेशल स्कूल की छात्रा पवनदीप कौर देश सेवा का जज्बा रखती हैं। इसे पूरा करने के लिए वह आईपीएस बनना चाहती है। उसकी इस कामयाबी से परिवार में खुशी का माहौल है। तो स्कूल प्रबंधन भी काफी खुश है।
0000
आईपीएस बनना पहली पसंद
अजमानी इंटरनेशल स्कूल की छात्रा प्रज्ञा पांडे ने ए1 ग्रेेड हासिल करने के साथ ही 9.8 प्वाइंट हासिल किए हैं। अधिवक्ता आेंकार पांडे की बेटी प्रज्ञा आईपीएस बनना चाहती है। सफलता का श्रेय अपने गुरुजनों व माता पिता को देती हैं।
00000
केमिकल इंजीनियर बनेगी सिमरन
पाल इंटरनेशल स्कूल की छात्रा सिमरन कौर ने ए1 ग्रेड के साथ 10 प्वाइंट हासिल कर कामयाबी की नई इबारत लिखी है। मोहल्ला पंजाबी कॉलोनी निवासी खाद व्यवसाई गुरदेव सिंह की पुत्री सिमरन कौर खेलों में बैडमिंटन को पसंद करती हैं, लेकिन वह केमिकल इंजीनियर बनकर अपने माता-पिता के सपने को पूरा करना चाहती हैं।
00000
मोहल्ला मेन रोड निवासी व्यापारी महेश अग्रवाल के पुत्र शिवम अग्रवाल ने ए1 ग्रेड के साथ 9.4 प्वाइंट हासिल किए हैं, लेकिन संतुष्ट नहीं हैं। बीटेक की तैयारी कर एयरोनाटिकल फील्ड में कॅरियर बनाने की चाहत रखने वाले शिवम का बड़ा भाई अभय बंगलूरू में एमबीए कर रहा है, तो बहन शिवानी भी सीए कर रही है। माता-पिता को आदर्श मानने के साथ ही परिवार को प्रेरणा श्रोत मानते हैं।
00000
मोहल्ला बरखेरवा निवासी बिजनेसमैन राजीव चक्रवर्ती के बेटे सौरभ परीक्षा परिणामों को उम्मीद से थोड़ा कम आंक रहे हैं। पाल इंटरनेशल स्कूल के छात्र सौरभ ने ए2 ग्रेड के साथ 8.8 प्वाइंट हासिल किए हैं। पेट्रेलियम इंजीनियर बनने की चाहत रखने वाले सौरभ क्रिकेट के बेहद शौकीन हैं। मैथ व हिंदी में कमजोर प्रदर्शन ने उनके अंकों का खेल बिगाड़ दिया।
00000
मोहल्ला ईदगाह निवासी रामगोपाल गुप्ता के पुत्र शशांक गुप्ता ने ए2 ग्रेड के साथ 8.6 प्वाइंट हासिल किए हैं। अच्छा ग्रेड पाने से चूके शशांक मानते हैं कि अंग्रेजी व हिंदी में थोड़ा पीछे रह गए। जबकि गणित व विज्ञान में प्रदर्शन अच्छा रहा है। आईआईटी की तैयारी की सोच रहे शशांक के प्रेरणा स्रोत उनके माता-पिता हैं। सफलता में पाल इंटरनेशल स्कूल को भी धन्यवाद देते हैं।
00000
मोहल्ला काशीनगर निवासी बिजनेसमैन मुकेश महावर की पुत्री शुभी महावर ने ए2 ग्रेेड हासिल करने के साथ ही 8.6 प्वाइंट हासिल किए हैं। हालांकि कहीं न कहीं ग्रेड से नाखुश शुभी कहती हैं कि अंग्रेजी व सामाजिक विज्ञान ने खेल बिगाड़ दिया, वरना ग्रेेड और बेहतर होता। माता-पिता को आदर्श मानने वाली शुभी डाक्टर बनकर लोगों की सेवा करना चाहती है। प्रतिदिन छह घंटे की मेहनत को सफलता का मूल मंत्र मानती हैं।
00000
मोहल्ला मिश्राना निवासी अधिवक्ता अनिल अवस्थी के पुत्र अभिषेक अवस्थी साफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं। अभिषेक ए2 ग्रेड के साथ 8.4 प्वाइंट हासिल करने से काफी खुश नहीं दिखे, लेकिन आगे और मेहनत से पढ़ाई कर कमी को पूरा करने का भरोसा जताया है। सामाजिक विज्ञान में उम्मीद से काफी कम नंबर रहने से वह अच्छी पोजीशन पाने से चूक गए, ऐसा वह मानते हैं।
00000
इंजीनियर बनना चाहती सृष्टि
लखीमपुर शहर के मुहल्ला संतोष नगर कालोनी निवासी व्यापारी संजय गोयल की पुत्री सृष्टि गोयल इंजीनियर बनना चाहती है। शहर के अजमानी इंटर नेशनल की इस छात्रा ने ए-1 ग्रेड के साथ 9.2 प्वाइंट हासिल किए हैं। वह इसका श्रेय अपने अध्यापक सौरभ को देती है।
00000
कुशल चिकित्सक बनना चाहती शुभांगी
शहर के मोहल्ला मिश्रापुरम निवासी धर्मेंद्र सिंह की पुत्री शुभांगी सिंह कुशल चिकित्सक बनकर देश की सेवा करना चाहती हैं। शहर के डान बास्को कॉलेज की इस छात्रा ने ए-1 ग्रेड हासिल करने के साथ 10 प्वाइंट हासिल किए हैं। शुभांगी की मां सीमा सिंह बेसिक शिक्षा विभाग में अध्यापिका हैं। बेटी की इस सफलता पर माता-पिता बेहद खुश नजर आए।
00000
इंजीनियर बनना चाहते हैं शिवांशु
शहर के मोहल्ला काशीनगर निवासी इलाहाबाद यूपी ग्रामीण बैंक शाखा में प्रबंधक बद्रीशरण त्रिवेदी के पुत्र शिवांशु त्रिवेदी इंजीनियर बनकर देश के विकास को नई ऊंचाइयां देना चाहते हैं। शहर के डान बास्को कालेज के इस छात्र ने ए-1ग्रेड के साथ 9.8 प्वाइंट प्राप्त किया है। मां रंजना त्रिवेदी ग्रहणी हैं। वह अपनी सफलता का श्रेय बड़ी बहन दीपशिखा को देते हैं।
00000
डॉक्टर बनना चाहते क्षितिज
शहर के मोहल्ला राजगढ़ निवासी हाईकोर्ट अधिवक्ता दिनेश कुमार शुक्ला के पुत्र क्षितिज शुक्ला डाक्टर बनकर पीड़ित लोगों की सेवा करना चाहते हैं। डान बास्को स्कूल के इस छात्र को ए-1 ग्रेड के साथ 9.2 प्वाइंट मिले हैं। मां नीलम त्रिवेदी शहर के वाईडी कालेज में प्रोफेसर हैं। क्षितिज अपनी सफलता का श्रेय अपने माता पिता को देते हैं।
00000
शत प्रतिशत रहा दून व गोल्डन फ्लावर का परीक्षाफल
पीयूष रहा दून स्कूल का सर्वोत्तम छात्र
पलियाकलां। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की दसवीं कक्षा का परिणाम गुरुवार शाम घोषित कर दिया गया। इस बोर्ड से मान्यता प्राप्त नगर के दोनों विद्यालयों का परीक्षाफल शत प्रतिशत बताया गया। दून इंटर नेशनल स्कूल के एमडी जगत चौधरी ने बताया कि छात्र पीयूष ने 88 प्रतिशत अंक प्राप्त कर विद्यालय में सर्वोत्तम छात्र का दर्जा प्राप्त किया है।
उधर, गोल्डन फ्लावर स्कूल के चेयरमैन जसमेल सिंह मांगट ने बताया कि उनके विद्यालय के 98 छात्रों ने दसवीं की परीक्षा दी थी। जिसमें सभी छात्र उत्तीर्ण हो गए हैं। समाचार भेजे जाने तक यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि किस छात्र ने सबसे अधिक अंक अर्जित किए हैं।
000000
नित्या, तान्या ने बढ़ाया बांकेगंज का मान
बांकेगंज। सीबीएसई बोर्ड की 10वीं कक्षा के घोषित नतीजों में बांकेगंज निवासी और गोला के सेंट जांस स्कूल की छात्राएं नित्या व तान्या ने ग्रेड ए-वन और ए-टू लाकर स्कूल के साथ ही कस्बे का नाम रोशन किया है।
नित्या एवं तान्या शुरू से ही गोला स्थित सेंट जान्स स्कूल की मेधावी छात्रा रहीं हैं। इंटरनेट पर रिजल्ट आते ही दोनों खुशी से झूम उठीं। नित्या के पिता बजरंग अग्रवाल, मां प्रीती, चाचा गोविंद अग्रवाल एवं चाची अंजू ने बिटिया के ग्रेड वन मिलने का सारा श्रेय उसकी मेहनत को दिया है। नित्या आईएएस बनकर ईमानदारी से देश की सेवा करना चाहती है।
तान्या मिश्रा के पिता अरुण व मां क्षमा मिश्रा अपनी बिटिया की पढ़ाई में उसकी लगन और निष्ठा को उसकी सफलता का श्रेय देते हैं। तान्या की तमन्ना है कि वह आईएएस बनकर कस्बा ही नहीं, जिले का नाम रोशन करे। तान्या के ताऊ अनिल मिश्र एवं ताई अंजू मिश्रा उसकी सफलता से गदगद हैं। मिठाई बांटकर खुशी का इजहार किया।
00000
डॉक्टर बनकर देश सेवा करेगी अंशिका
गोला गोकर्णनाथ। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की हाईस्कूल परीक्षा में सेंट जॉन्स की छात्रा अंशिका सक्सेना ने शत प्रतिशत अंक प्राप्त कर जिले और कालेज में टॉप किया है वह डॉक्टर बनकर देश सेवा करना चाहती है।
बजाज चीनी मिल डिस्टलरी में सीनियर मैनेजर के पद पर कार्यरत आलोक सक्सेना की पुत्री प्रारंभिक कक्षाओं से ही मेधावी रही है। उसका कहना है कि पूरी लगन और मेहनत से पढ़ाई की जाए तो कोई मुश्किल नहीं है कि शत प्रतिशत अंक आसानी से आ सकते हैं। कालेज में पढ़ाई के बाद घर पर रोज चार घंटे पढ़ने वाली अंशिका का मानना है कि पढ़ाई भले ही कम की जाए किंतु मन और लगन से करने पर मन चाही सफलता जरूर मिलती है। अपनी उपलब्धि का श्रेय मम्मी ममता सक्सेना, भाई अगम सक्सेना और केमिस्ट्री लेक्चरर डीएम सर को देती है। अंशिका को दूसरों की सेवा करना बहुत पसंद है।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Chandigarh

अपने ही दो भाइयों, दो बहनों समेत 7 लोगों को मारने वाली पर नहीं कर सकते रहम: हाईकोर्ट

अपने ही दो भाइयों, दो बहनों और दादी समेत सात लोगों की हत्या करने वाली पर रहम नहीं किया जा सकता। उसकी और उसके प्रेमी की मौत की सजा बरकरार रहेगी।

18 जुलाई 2018

Related Videos

VIDEO: जब किसानों के लिए मंडी पहुंची गुलाब देवी, दिए ये आदेश

लखीमपुर खीरी के दौरे पर आईं राज्य मंत्री गुलाब देवी ने मंडी समिति और जिला अस्पताल का निरीक्षण किया। मंडी समिति के निरीक्षण के दौरान उन्हें क्रय केन्द्र पर गेहूं खरीद बंद मिली, किसान भी नजर नहीं आए।

17 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen