राजापुर क्रासिंग पर सर्राफ से हुई लूट का खुलासा

Lakhimpur Updated Wed, 16 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
अंतर्जनपदीय गिरोह के सात बदमाश गिरफ्तार
विज्ञापन

कब्जे से लूटे गए लाखों के जेवर समेत रायफल, पिस्टल बरामद
लूट में प्रयोग की गई जाइलो व बुलेरो भी बरामद
तीन बदमाश फरार, तलाश जारी
बहराइच व श्रावस्ती पुलिस भी पूछताछ को खीरी पहुंची
लखीमपुर खीरी। शहर में राजापुर क्रासिंग के पास 23 अप्रैल की रात सर्राफा व्यवसायी से हुई लूट का पुलिस ने खुलासा किया है। सात बदमाशों को गिरफ्तार किया गया है जिनके कब्जे से लूटी गई चांदी के साथ ही रायफल, पिस्टल व तमंचा बरामद हुए हैं। लूट की वारदात में प्रयोग की गई जाइलो कार व बुलेरो बरामद हुई है।
मोहल्ला सब्जी मंडी निवासी सर्राफा व्यवसायी नीरज रस्तोगी से 23 अप्रैल को लखनऊ से वापस लौटते समय राजापुर क्रासिंग पर ओवरटेक कर जाइलो सवार बदमाशों ने छह किलो चांदी लूट ली थी। खुलासे में जुटी पुलिस ने सर्विलांस की मदद से लखनऊ से कई सुराग हासिल किए, जिसके बाद साक्ष्य जुटाए गए। एसपी राजेंद्र सिंह ने बताया कि मंगलवार को बहराइच रोड पर रमही पुल के पास घेराबंदी कर जाइलो व बुलेरो गाडियों को रोकने का प्रयास किया, उसमें सवार बदमाश निकलकर भागने लगे। पुलिस ने सात बदमाशों को दबोच लिया गया। इनके पास से लूटी गई चांदी व असलहे बरामद हुए। पकड़े गए बदमाशों से बहराइच व श्रावस्ती पुलिस टीम पूछताछ करने पुलिस लाइन पहुंची। एसओजी व पुलिस की संयुक्त टीम को मिली इस कामयाबी पर एसपी राजेंद्र सिंह ने पांच हजार रुपये नगद पुरस्कार देने की घोषणा की है।
0000
मास्टर माइंड आजीवन कारावास का सजायाफ्ता
मास्टर माइंड अजय उर्फ दद्दू तिवारी शिकारी चौरा थाना मलहीपुर जिला श्रावस्ती का रहने वाला है। उसके पास से एक पिस्टल 9एमएम, कारतूस व चांदी बरामद हुई है। पुलिस के मुताबिक अजय वर्ष 1995 में जिला बहराइच में हुए दोहरे हत्याकांड का सजायाफ्ता मुजरिम है। वर्ष 2010 में पेशी के दौरान पुलिस अभिरक्षा से फरार हो गया था। उस पर पांच हजार रुपये का इनाम भी घोषित था। इसका पिता मुनेजर तिवारी अभी भी हत्या के मामले में जेल में है। पुलिस अभिरक्षा से फरार होने के मामले में दो पुलिसकर्मी बर्खास्त हो गए थे, जिसमें एक की सदमे से मौत हो चुकी है। अजय इस समय लखीमपुर में शरण लिए था।
दूसरा बदमाश संतोष अवस्थी ग्राम उमरिया थाना कोतवाली सदर का है। उसके कब्जे से एक पिस्टल 32 बोर व चांदी बरामद हुआ है। बताते हैं कि इसी ने मास्टर माइंड को शरण दे रखी थी। तीसरे बदमाश नफीस जाइलो चालक निवासी बेगम बाग गढ़ी रोड कोतवाली सदर के पास से एक तमंचा व चांदी बरामद हुई है। इसके अलावा बदमाश अतुल अवस्थी निवासी भंसड़िया के कब्जे से रायफल व चांदी, रवि दीक्षित निवासी महेवागंज के पास से एयर पिस्टल व चांदी, राजेंद्र निवासी बाबूराम सर्राफ नगर के कब्जे से तमंचा व चांदी और राजेंद्र उर्फ गुड्डन राजपूत निवासी भंसड़िया के पास से तमंचा व चांदी बरामद हुआ है। बताते हैं कि गुड्डन राजपूत सर्राफ नीरज रस्तोगी का नौकर था, जिसकी सूचना पर बदमाशों ने उसे शिकार बनाया था।
0000
कई वारदातों को अंजाम दिया गिरोह
इस गिरोह ने पीलीभीत व पूरनपुर में ट्रेन में कई वारदातों को अंजाम दिया है। इसके अलावा बहराइच में हुई 34 लाख की लूट में शामिल होने की संभावनाएं जताई जा रहीं है, जिसके खुलासे के लिए पूछताछ की जा रही है।
0000
अहम क्लू मिलने से हुई खुलासा हुआ आसान
एसपी राजेंद्र सिंह ने बताया कि पकड़ा गया गैंग कई जिलों में सक्रिय था। यह लोग किराए की गाड़ियों से वारदातों को अंजाम देते थे। घटना वाले दिन भी बुलेरो से पीछा किया जा रहा था। दूसरा क्लू उसकी मुखबिरी का था, जिससे बदमाशों तक पहुंचने में कामयाबी मिली।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us