नहर का पानी रोका, सैकड़ों खेत सूखे

Lakhimpur Updated Sun, 13 May 2012 12:00 PM IST
गन्ना, मैंथा के अलावा सब्जियां हो रहीं प्रभावित, सिंचाई विभाग के अफसरों की भी नहीं मान रहे पानी रोकने वाले
अब रोस्टर के अनुसार पानी आएगा, तबतक किसानों की फसलें हो जाएंगी तबाह
लखीमपुर खीरी। शारदा की खीरी ब्रांच नहर में पानी न होने से हजारों किसानों के खेत सूख गए हैं। आरोप है कि नहर के पानी को शुरू के गांव के ही कुछ लोग पानी कम होने के कारण बांध बनाकर रोक लेते हैं। इस बार भी उन्होंने ऐसा ही किया है। केवल ‘अपने-अपने’ की सोच रखने वालों के कारण हजारों किसान अपने खून-पसीने की कमाई को नष्ट होते देख रहे हैं।
अब नहर में पानी छोड़ने का टर्न बदला है। इस वजह से किसानों को एक पखवाड़ा पानी नहीं मिलेगा। इससे साफ हो गया है कि छाउछ से आगे की ओर के सैकड़ों गांवों के हजारों किसानों की फसल का भविष्य अच्छा नहीं है। सबसे अहम बात तो यह है कि यह नहर श्रीनगर और लखीमपुर खीरी विधानसभा क्षेत्र में बहती है। दोनों विधानसभाओं में सत्ता पक्ष समाजवादी पार्टी के क्रमश: रामसरन और उत्कर्ष वर्मा विधायक हैं। इसके बावजूद समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है। लगता है कि किसानों को अपनी फसल की बर्बादी अपने आंखों के सामने देखनी पड़ेगी। उनकी समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है।
खीरी ब्रांच के लिए सिंचाई विभाग ने 10 मई को पानी बंद कर दिया है। अब इस ब्रांच को पानी टर्न के हिसाब से 24 मई को मिल सकेगा।
00000
विभागीय अधिकारियों का दावा
विभागीय अधिकारियों की माने तो एक-एक पखवाड़े के टर्न के हिसाब से हरदोई और खीरी ब्रांच की इन नहरों को पानी मिलता है। खीरी ब्रांच की नहर में उनके अनुसार 26 अप्रैल से 10 मई तक पानी चला है। हालांकि किसानों का कहना है कि टर्न पर भी उन्हें पानी नहीं मिला। उनका आरोप है कि पीछे के गांवों में बांध लगाकर लोगों ने पानी रोक लिया। दो दिन पहले थोड़ा पानी आया था लेकिन सूखी नहर ने सोख लिया। विभागीय अधिकारी किसानों की कोई बात मानने को तैयार नहीं हैं। इससे साफ है कि इस इलाके के किसानों की फसलें सूखकर बेकार हो जाएंगी।
0000
यह है खीरी ब्रांच की नहर की सच्चाई
खीरी ब्रांच की नहर की सच्चाई यह है कि यहां कुछ गांव वाले अपने-अपने क्षेत्र में नहर के पानी को कच्चे बांध बनाकर रोक लेते हैं। 22 किमी लंबी इस नहर में इससे आगे पानी नहीं जाता। खीरी ब्रांच की इस नहर में छाउछ से आगे पानी नहीं जाने से हजारों किसान अपनी फसलों की सूखने की चिंता के साथ खुद भी सूखते जा रहे हैं। क्षेत्र के किसानों का कहना है कि नहर के जल-प्रवाह रोकने वालों को क्षेत्र के जनप्रतिधियों का संरक्षण होता है। यही वजह है सिंचाई विभाग के अधिकारी भी विवश नजर आते हैं।
00000
क्या कहते हैं किसान
छाउछ के किसानों पर नहर सूखने का सबसे अधिक असर पड़ा है। किसान बजरंग गौड़ का कहना है कि एक पखवाड़े से वह परेशान हैं। नहर में पानी नहीं है। सिंचाई के अभाव में उनकी गन्ने की फसल सूख रही है। अगर पानी नहीं मिला तो एक सप्ताह में तो उनकी फसल पूरी तरह चौपट हो जाएगी। मेहनत और लागत सब बेकार चली जाएगी।
यहीं जाकिरा अपने खेत को तो कभी नहर को निहारती मिलीं। उनकी मैंथा की फसल नष्ट होने के कगार पर है। जाकिरा का कहना है कि उन्होंने वोट देकर सरकार बनवा दी लेकिन उनको सुविधा नहीं मिल रही। सिंचाई विभाग के अधिकारी और नेता उनकी दशा नहीं देख रहे हैं। इस क्षेत्र के किसान बर्बाद हो रहे हैं।
किसान संत कुमार ने बताया कि उनकी सब्जियों की फसलें सूख रही हैं। इन दिनों में सिंचाई की बहुत जरूरत थी तो उन्हें पानी नहीं मिला। फसल बचाने को सब जगह फरियाद की। उनकी कहीं किसी ने नहीं सुनी।
क्षेत्र के किसान जालंधर ने गन्ना बो रखा है। पौधे अभी छोटे हैं। खेत की ओर इशारा करते हुए बोले खेतों का हाल खुद दी देख लीजिए। अगर, एक पखवाड़े के बाद पानी मिलेगा तो उनका तो सब कुछ नष्ट हो जाएगा।
0000000000
वर्जन----
रोस्टर के हिसाब से ही खीरी और हरदोई ब्रांच की नहरों को पानी मिलेगा। इसकी जानकारी किसानों को भी है। खीरी नहर को रोस्टर के हिसाब से अब 24 मई को पानी मिलेगा। अभी बंद है और प्रवाह हरदोई ब्रांच की नहर में चल रहा है। 10 मई तक इस ब्रांच को पानी मिलता रहा है।
-श्याम सुंदर शर्मा, सहायक अभियंता, सिंचाई विभाग

Spotlight

Most Read

Jammu

पाकिस्तान ने बॉर्डर से सटी सारी चौकियों को बनाया निशाना, 2 नागरिकों की मौत

बॉर्डर पर पाकिस्तान ने एक बार फिर से नापाक हरकत की है। जम्मू-कश्मीर में आरएस पुरा सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से सीजफायर का उल्लंघन किया है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में ‘एनकाउंटर अभियान’ के तहत एक लाख का इनामी ढेर

यूपी एसटीएफ ने एक कार्रवाई के तहत इनामी बदमाश बग्गा सिंह को ढेर किया। जानकारी के मुताबिक एसटीएफ ने कार्रवाई लखीमपुर-खीरी के पास नेपाल बॉर्डर पर की है। बात दें कि बग्गा सिंह कई मामलों में वांछित था और इसके सिर पर एक लाख रुपये का इनाम था।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper